Sunday, December 15, 2019
Home > Raigarh > अपने ही नाना की सिर्फ इसलिए कर दिया हत्या …..रंजिश को लेकर इन लोगो को लिया साथ में फिर घटना को इस तरह दिया अंजाम

अपने ही नाना की सिर्फ इसलिए कर दिया हत्या …..रंजिश को लेकर इन लोगो को लिया साथ में फिर घटना को इस तरह दिया अंजाम


कोसीर मुुनादी।

कोसीर थाना अंतर्गत ग्राम उच्चभिट्ठि में सुबह-सुबह ऐसा वाकया सामने आया की पुत्र अपने पिता की अर्जी लेकर गया था सुबह थाना इधर गांव में उसके पिता की हत्या हो गई 60 वर्षीय वृद्ध पुनी राम चंद्रा की भाठाखार खेत में उसके नाती रोहित चन्द्रा ने चार लोगों के साथ मिलकर अपने ही नाना का धक्के मार कर जमीन में गिरा दिया गिरने के बाद गले दबाकर हत्या कर दिए । मृतक पुनी राम चंद्रा के पुत्र हरिशंकर चन्द्रा एवं हरिशंकर की पत्नी पितर बाई चन्द्रा ने अपने बयान में पुलिस को बताया कि 12 नवंबर की दोपहर उलखर निवासी रोहित चन्द्रा ग्राम पहुंचा और गांव की गली में धमकी भरे लहजे से चिल्लाकर बोल रहा था कि मेरे खेत के धान को कौन काटने आएगा मैं देख लूंगा इसी बात को उच्चाभिट्ठी के ग्रामीण देव लाल को जाकर रोहित बोला की तुम पुनी राम और उसके बेटे हरि शंकर को जाकर बोल देना की मेरे खेत में कदम ना रखें नहीं तो ठीक नहीं होगा ।इस बात को देव लाल ने हरिशंकर चन्द्रा को बताया तब इस घटना की जानकारी हरि शंकर ने कोसीर थाने में 12 नवबबर की देर रात 8:00 बजे आसपास पहुंचकर सारी बात बताई तब कोसीर थाना प्रभारी ने सुबह इसका जांच करने की बात कही गई । सुबह हुई तो फसल काटने के लिए रोहित चन्द्रा खेत की ओर गया तब पुनी राम चंद्रा रोहित चन्द्रा दोनों एक ही खेत में पहुंचे दोनों एक दूसरे चोर को काटने के लिए गए हुए थे पुनी राम चंद्रा और उसकी बहू पितर चन्द्रा खेत के धान को कटवाने के लिए ग्रामीणों को ठेके में दिए थे धान काटने वाले पहुंच गए थे पर रोहित चन्द्रा ने मना कर दिया तो ग्रामीण वहीं पर बैठे थे इधर से पुनी राम खेत पहुंच गया उसकी बहू पीछे पीछे जा रही थी उधर रोहित ने अपने ही नाना को धक्के मार कर जमीन पर गिरा दिया और अन्य चार लोगों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी यह सारी घटनाएं उसकी बहू देख रही थी और बचाओ बचाओ कह कर चिल्ला रही थी वहीं घटना की जानकारी देने सुबह से हरिशंकर कोसीर थाना पहुंचा था उधर खेत में उसके पिता की हत्या हो गई इस तरह हरि शंकर की पत्नी पितर चन्द्रा और हरीश शंकर ने पुलिस को अपने आप बीती और बयान दर्ज कराए हैं जिस खेत में यह घटना घटी है उस खेत में पुनी राम पिछले 60 वर्षों से खेती करते आ रहा है। मृतक के पुत्र हरि शंकर ने कहा कि यह जमीन हमारी है पर रोहित हमारा जमीन है कहता है पिछले 3 वर्षों से इस जमीन को लेकर तहसीलदार के पास मामला चल रहा है ।

मृतक की पत्नी और पुत्र

पुनी राम और रोहित में क्या रिश्ता है

पुनी राम चन्द्रा ग्राम उच्चाभिट्ठी गांव का निवासी है इनका एक बड़ा परिवार है उनके दो बेटे हैं हरिशंकर और शिवप्रसाद पुनी राम चंद्रा अपने दोनों बेटों के साथ एक एक महीना रहता है पुनी राम चंद्रा का बड़ा भाई ननकीराम चन्द्रा के पुत्र नहीं है ननकी चन्द्रा की पुत्री फुल बाई का विवाह ग्राम उलखर में हुआ है फूलबाई पुनी राम का भतीजी है और रोहित चन्द्रा फूलबाई का पुत्र है इस तरह पुनी राम चंद्रा रोहित का नाना है ।हरिशंकर की माने तो रोहित चन्द्रा जबरन इस खेत को अब कब्जा करना चाह रहा था और धान की फसल को काटने पहुंचा था ।उनके साथ रोहित रोहित की पत्नी सुवाताल से पहुंचा रोहित का बहनोई उत्तम चन्द्रा और उसकी पत्नी रोहित का पुत्र मिलन चन्द्रा ने मिलकर घटना को अंजाम दिया है मृतक की बहू श्रीमती पितर चन्द्रा ने कहा कि कहा कि घटना को अंजाम देकर रोहित चन्द्रा और उसके साथी वहां से भाग निकले उन्हें गांव के ग्रामीणों ने बजरंगबली मंदिर के पास चारों तरफ से घेर लिया और मौके पर घटना के आरोपियों को कोसीर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया वही कोसीर पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर लाश को पोस्टमार्टम के लिए सारंगढ़ भेज दिया और आरोपियों को गिरफ्त में लेते हुए मामले की जांच में जुट गई । घटना के संदेही रोहित चन्द्रा , उत्तम चन्द्रा ,यशोदा चन्द्रा ,सेवती चन्द्रा को कोसीर पुलिस गिरफ्तार कर पूछ ताछ कर रही है वही मिलन चन्द्रा रोहित का पुत्र मौके से फरार है ।
क्या कहते हैं सारंगढ एस डी ओ पी
ग्राम उच्चभिट्ठी में एक सूचना मिली थी वहां पे लड़ाई झगड़ा हो रहा है । सूचना की तस्दीक करने को लेकर कोसीर पुलिस पहुंची थी । पुनी राम चन्द्रा है जो मृत अवस्था में पड़ा हुआ है पुलिस के दुवारा मर्ग कायम कर पंचनामा तैयार किया गया है पोस्टमार्टम के लिए चिकित्सालय भेजा गया है वहां 04 लोग उपस्थित मिले उनको पुंछ ताछ के लिए कोसीर थाना लाया गया है पूछताछ की जा रही है जो भी तथ्य सामने आयेगी कोसीर पुलिस कार्यवाही करेगी ।

जितेंद्र खूंटे
सारंगढ एस डी ओ पी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]