Press "Enter" to skip to content

एक विवाह ऐसा भी! युवक ने किन्नर के साथ लिए सात फेरे, पढ़िए बेइंतहा प्यार की अनोखी दास्तां…

डेस्क मुनादी || वैलेंटाइन वीक पर हमने कई खबरें देखी और सुनी। जहां कुछ आशिक प्यार में जान लेते नजर आए, तो वहीं कुछ सड़कों पर अपनी खुद की जान देते हुए नजर आए। लेकिन प्यार के असली मायने तो इन दो जोड़ों ने आज दुनिया को सिखाया है। राम नगरी आयोध्या के रहने वाले एक युवक ने किन्नर से शादी की है।

युवक ने प्रेम की ऐसी मिसाल पेश की है जो आज पूरे देश के लिए सबक बन गई है। जो सिर्फ धर्म जाति के पेचों में ही उलझे हुए हैं। दूसरी तरफ युवक ने ना दूसरे धर्म ना जाति बल्कि एक दूसरे जेंडर से ही ब्याह रचाया है।

मिलिए शिवकुमार और अंजलि से…

दरअसल, अयोध्या के नंदीग्राम में स्थित एक मंदिर में शिवकुमार नाम के युवक ने किन्नर अंजलि सिंह से अग्नि को साक्षी मानकर सात फेरे लिए हैं। बकायदा वैदिक मंत्रोचार के बीच दोनों के विवाह की रस्में निभाई गयीं।

इस शादी समारोह में दुल्हन बनी किन्नर अंजलि सिंह की बड़ी बहन और बहनोई ने अभिभावक की भूमिका निभाई। वहीं गांव के कई लोगों ने नव युगल को मांगलिक जीवन की शुभकामनाएं भी दीं। आपको बता दें कि शादी करने वाले पति-पत्नी प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं।

मंदिर में की दोनों ने शादी

अयोध्या नगर से सटे ग्रामीण क्षेत्र नंदीग्राम भरतकुंड में अंजलि सिंह का दामन थामने वाले प्रतापगढ़ के गहरौली मजरे शुकुलपुर के रहने वाले शिव कुमार वर्मा ने दूल्हा बनकर अग्नि को साक्षी मानकर वैदिक मंत्रोचार के बीच अंजली सिंह के साथ सात फेरे पूरे किये। मंदिर के पुजारी हनुमान दास की देखरेख में पंडित अरुण तिवारी ने शादी की रस्में पूरी करायी।

शिवकुमार के मुताबिक डेढ़ सालों से अंजलि के साथ उनका प्रेम प्रसंग चल रहा था। उन्होंने ये पाया कि अब बिना अंजलि के वो जी नहीं सकते, इसलिए उन्होंने अंजलि के साथ शादी कर ली है। शिव कुमार ने कहा कि मुझे भरोसा है कि हम दोनों एक अच्छी जिंदगी जी सकते हैं। भविष्य में किसी बेसहारा बच्चे को गोद लेकर हम अपने परिवार को बढ़ा लेंगे। मैं इस शादी से बेहद खुश हूं।

Munaadi Ad Munaadi Ad Munaadi Chhattisgarh Govt Ad

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *