Press "Enter" to skip to content

“मेरे पिता घुट-घुटकर मरने को मजबूर हैं, please कोई मदद कर दो”, महिला ने लगाई गुहार…आप भी बन सकते हैं मददगार

डेस्क मुनादी ।। तमिलनाडु की एक महिला ने सोशल मीडिया के जरिए मदद की गुहार लगायी है। जिसका audio महिला ने शेयर किया है। जिसमें वह खुद को असहाय बता रही हैं।

महिला के मुताबिक उसका नाम शेडन स्मिथ है। उनके पिता नाईजेल स्मिथ को कैंसर की समस्या थी। ऐसे में उन्हें बेंगलुरु के एक अस्पताल में कैंसर विभाग में भर्ती कराया गया। जांच के बाद डॉक्टरों ने मरीज को बायोप्सी कराने की सलाह दी।

बायोप्सी से पहले मरीज का corona टेस्ट भी किया गया, जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ऐसे में डॉक्टरों ने वापसी करने से मना कर दिया और उन्हें घर भेज दिया। घर पहुंचने के बाद जब मरीज ने दोबारा अपना रैपिड टेस्ट किया तो उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई ऐसे में फिर बार अस्पताल पहुंचे और सारी बात डॉक्टरों को बताई। लेकिन डॉक्टरों ने rt-pcr कराने की सलाह दी।

इसके बाद एक हफ्ते में जब रिपोर्ट आई तो महिला के पिता की रिपोर्ट फिर पॉजिटिव आई। डॉक्टरों ने मरीज को घर में रहकर ही इलाज करवाने को कहा। ऐसे में नाईजेल एक कमरे में रहकर अपनी बीमारी से जूझते रहे, लेकिन करीब कुछ दिनों बाद उनकी तबीयत काफी ज्यादा बिगड़ गई। उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगी और उनका ऑक्सीजन लेवल एकदम डाउन हो गया।

ऐसे में उन्हें अस्पताल वालों की जरूरत पड़ी और उनको गंभीर हालत में अस्पताल लेकर जाया गया। लेकिन अस्पताल वालों ने उन पर ध्यान नहीं दिया। नाईजेल एक बंद कमरे में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है। ना ही उन्हें दवाई दी जा रही है।

महिला का कहना है कि उनके पिता ना ठीक से खा पा रहे हैं और ना सो पा रहे हैं और यहां तक कि उन्होंने पानी तक नहीं पिया है। इसमें भी उन्हें काफी तकलीफ हो रही है। वे घुट घुट कर मरने को विवश हैं। महिला के मुताबिक वे तमिलनाडु में रहती हैं और उनके पिता बेंगलुरु में है। इस वजह से उनकी मदद नहीं कर पा रही हैं।

महिला ने ऑडियो के जरिए अपने पिता की मदद को लोगों से गुहार लगाई है। उनका कहना है कि एकदम असहाय महसूस कर रहे हैं कोई उनके पापा को बचा ले तो उसकी बड़ी मेहरबानी होगी।

Munaadi Ad Munaadi Ad Munaadi Chhattisgarh Govt Ad

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *