Friday, July 19, 2019
Home > Raigarh > और जब कलेजे के टुकड़े को बचाने आग में कूद पड़ी माँ ………. हुवा यूं कि ..और बिना परवाह के की गोद मे भी है….

और जब कलेजे के टुकड़े को बचाने आग में कूद पड़ी माँ ………. हुवा यूं कि ..और बिना परवाह के की गोद मे भी है….

Munaadi News

बच्चों को बचाने माँ कूदी आग में

धरमजयगढ़ मुनादी। असलम खान

आज करीब सुबह 8 बजे धरमजयगढ़ थाना अंतर्गत ग्राम आमपाली निवासी हिरन बाई और उसके तीन वर्षीय बालक अर्जुन घर में थे ,तभी खलिहान में रखे पैरावट के पास अर्जुन माचिस तिल्ली लेकर खेल रहा था उसी दरमियान पैरावट में आग लग गई.जैसे ही इस बात की जानकारी माँ हिरन बाई को हुई ,माँ की ममता जाग उठी बदहवाश होकर अपने कलेजे के टुकड़े दुधमुही बच्ची को गोद में लेकर बालक अर्जुन को बचाने आग में दौड़ पड़ी.

इसमें माँ ने अपनी जान की परवाह किए बिना बालक को आग से बचा तो लिया ,लेकिन इस जद्दोजहद में वो ख़ुद भी झुलस गई और दुधमुही बच्ची भी आग की लपट में आ गई ,जैसे ही गाँव वालों को घटना की जानकारी हुई तत्काल 112 को फोन करके अस्पताल लाया गया. फिलहाल 112 के सहयोग से घायलों का उपचार अस्पताल में जारी है.डॉक्टरों की माने तो 50 प्रतिशत जल चुकी हिरन बाई को बेहतर उपचार हेतु जिला चिकित्सालय रेफर करने फैसला लिया गया. उल्लेखनीय है की 112 एमर्जेन्सी क्षेत्र के लोगों के लिए वरदान साबित हो रही है.वहीँ सूचना मिलते ही मामले की संवेदनशीलता को भांपते हुए ,

धरमजयगढ़ एसडीओपो अर्जुन कुर्रे सिविल अस्पताल पहूँच दुधमुही बच्ची और 3 वर्षीय बालक के लिए डॉक्टर से सलाह लेकर दूध और फल के लिए आर्थिक सहयोग किया.पुलिस अधिकारी के इस मानवीय पहल के लिए लोगों ने साधुवाद दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *