Thursday, April 2, 2020
Home > Top News > विकास यात्रा पर खर्च जनता के धन का खुला दुरूपयोग, इस पर रोक लगाने की मांग करते हुए किसने किया विकास यात्रा की आलोचना

विकास यात्रा पर खर्च जनता के धन का खुला दुरूपयोग, इस पर रोक लगाने की मांग करते हुए किसने किया विकास यात्रा की आलोचना

Munaadi News

रायगढ़ मुनादी ।

मुख्य मंत्री का यह विकास यात्रा जनता के धन का सीधा दुरपयोग है राजकोष का धन जनता का धन है इसके इस तरह के खुले दुरपयोग की आलोचना की जाती है। इस पर कड़ाई से रोक लगना चाहिए। विकास यात्रा निकाल कर विकास दिखाने की जरुरत नहीं है विकास यदि किया है तो विकास दिखेगा इसे इस तरह से दिखाने का कोई मतलब नहीं है। यदि इस तरह से जनता के धन यानि राजकोष का इस तरह से दुरुयोग कर विकास दिखाने की जरुरत पड़ रही है विकास दिखाया नहीं जाता दीखता है।  ये बाते जिला बचाओ संघर्ष मोर्चा की बैठक में कही गई। विकास यात्रा में इस तरह से धन की बर्बादी की कड़ी आलोचना किया गया।

जिला बचाओ संघर्ष मोर्चा रायगढ़ की आवश्यक बैठक वरिष्ठ साथी के आर यादव की अध्यक्षता में संपन्न हुई।जिसमें राज्य की समाजिक आर्थिक एवं राजनैतिक परिस्थितियों पर गहन विचार विमर्श किया गया।

२३ से अधिक जनसंगठनो के साझा मंच जिला बचाओ संघर्ष मोर्चा रायगढ़ ने मुख्यमंत्री  डा• रमन सिंह सरकार के विकास यात्रा को बड़ी गंभीरता से लेते हुए  उसकी कड़ी आलोचना की है और कहा कि यह जनता के धन की खुली लूट और दुरुपयोगहै।मोर्चा का स्पष्ट मानना है कि  सरकार ने जो कुछ भी विकास किया है वह जनता को स्वयं दिखाई देगा , उसे वह स्वयं महसूस करेगी ।उसको दिखाने या बताने की जरूरत नहीं है। अगर सरकार को विकास बतलाना पड़ रहा है इसका मतलब है कि सरकारी कागज़ों में विकास कुछ और है और जनता के पास हकीकत में कुछ और है।जो भारी भ्रष्टाचार का संकेत देता है।

मोर्चा ने इसे  रेखांकित करते हुए बड़ी गंभीरता से लिया और कहा कि राजकोष किसी मुख्यमंत्री या पार्टी का धन नहीं है यह जनता का धन है इसकेलूट और दुरुपयोगकी इजाज़त नहीं दी जा सकती। इस पर कड़ाई से रोक लगाई जानी चाहिए।जन संगठनों ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि महज़ चुनावी लाभ के लिए  विकास यात्रा और मुफ़्त में मोबाइल फोन बाटने से छत्तीसगढ़ की जनता का विकास नहीं शासकीय धन से मोबाइल कंपनियों का विकास होगा ।जनता और अधिक कमजोर होगी । जनता यह जानना  चाह रही है कि मोबाइल जरूरी है या जीवन बचाने के लिए शासकीय चिकित्सालयों में डेंगू जांच की मशीन जरूरी है।शासकीय स्कूलों और चिकित्सालयों के  संसाधनों को समृद्ध करने उनके स्तर  सुविधा को सुधारने की जरूरत है।प्रदूषण से मुक्ति,जलस्रोतों को बचाने की जरूरत है।किसानों के लिये सिंचाई संसाधनों की आवश्यकता है।

मोर्चा की यह स्पष्ट राय है कि मुफ्त में बांटने के बजाय जनता के क्रय शक्ति को बढ़ाने की ठोस योजना बनाई जानी चाहिए रोजगार के अवसर प्रदान किए जाने चाहिए और जनता को आर्थिक रूप से इतना समृद्ध किया जाना चाहिए कि वे स्वयं चीजों को खरीदने की झमता रखें।

बैठक में महानदी विवाद  पर भी विचार विमर्श किया गया।महानदी बचाओ जीविका बचाओ अभियान समिति ने इसे  दोनो सरकारों द्वारा जनताके मूल मुद्दे को छोड़कर ओछी राजनीति करना बताया है। ओड़िशा के जनसंगठनो का एक प्रतिनिधि मंडल  २७ मई रविवार को रायगढ़ छत्तीसगढ़ आ रहा है जो महानदी के सीमावर्ती क्षेत्रों और कलमा बैराज का अवलोकन कर संध्या ०४ बजे मोर्चा कार्यालय रायगढ़ में जनसंगठनों और पत्रकारों के साथ विचारों को साझा करेंगे और एक सही समझ तैयार कर कार्य नीति तैयार करेंगे।

बैठक में एनटीपीसी लारा की समस्याओं पर भी विचार विमर्श किया गया और निर्णय लिया गया कि सही तथ्यों की जानकारी प्राप्त करने और समस्याओं के सही समाधान के लिए एक उच्चस्तरीय शिष्टमंडल एनटीपीसी प्रबंधन एवं जिला प्रशासन से मिलेगा।

जिला बचाओ संघर्ष मोर्चा के विस्तार के लिए ग्राम पंचायत तथा विकास खंड स्तर पर जागरूक और प्रबुद्ध नागरिकों को लेकर समिति गठित किये जाने का निर्णय लिया गया।

बैठक में मुख्य रूप से  आर यादव, एन आर  प्रधान,आनंद प्रधान,डा•सर्वेश्वर गुप्ता,डा•सुरेश शर्मा,रघुवीर प्रधान,मदन पटेल,लम्बोदर साव,आर के  शर्मा,नीलकंठ साहु,जयप्रकाश अग्रवाल,गणेश मिश्रा ,इंजीनियर एस डी यादव और गणेश कछवाहा ने सक्रिय हिस्सेदारी दर्ज की।

munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]