Monday, October 14, 2019
Home > Raigarh > खाकी वर्दी से मारपीट मामले में दूसरा पक्ष भी आया सामने, लगाया आरोप कहा उनकी जमीन पर किया जा रहा था ये काम …जो बना विवाद की वजह …

खाकी वर्दी से मारपीट मामले में दूसरा पक्ष भी आया सामने, लगाया आरोप कहा उनकी जमीन पर किया जा रहा था ये काम …जो बना विवाद की वजह …

वनरक्षक के साथ मारपीट,मामले में दूसरे पक्ष ने भी की थाने में रिपोर्ट

धरमजयगढ़ मुनादी। असलम खान

धरमजयगढ़ रेंज अंतर्गत शेरवन जंगल में अतिक्रमण व्यवस्थापन भूमि पर पौध रोपण के दौरान वहाँ  मौजूद वन रक्षक के साथ उसी ग्राम के धनेश्वर यादव और उसके भाई सोनू द्वारा मारपीट किए जाने मामले में, पुलिस ने दोनो आरोपियों के खिलाफ जुर्म पंजीबद्ध कर लिया है एवं फरार आरोपियों की तलाश कर रही है।

अब वहीँ दूसरी ओर इस मामले में परिजन प्रार्थिया मोगरा बाई ने थाने में लिखित शिकायत करते हुए कहा है , की वन विभाग द्वारा जिस जमीन पर पौधरोपण किया जा रहा था जिसको लेकर विवाद छिड़ा वह जमीन विभाग की ओर से उन्हें दिया गया है ,बाकायदा उन्हें वन अधिकार पत्र मिला है, साथ ही वहाँ उनके पूर्वजों का शमशान है, उसी ज़मीन में वनविभाग द्वारा पौध रोपण किया जा रहा था, इसी बात को लेकर सरकारी कर्मचारी और उनके बीच विवाद हो गया। लिखित शिकायत अनुसार वहाँ मौजूद कर्मचारियों द्वारा विवाद की पहल की गई,बाद में विवाद बढ़ने उपरान्त आवेशपूर्ण नौबत आने पर बात मारपीट तक आ गई.
और फिर वन अमला को आते देख डरकर दोनों भाई वहाँ से भग गए.प्रार्थिया द्वारा यह आरोप भी है कि वहाँ मौजूद कर्मचारियों द्वारा घर की महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया गया है, उन्हें डराया धमकाया गया है ,गाँव में दबंगाई की गई है।धरमजयगढ़ डिप्टी रेंजर एस एस डनसेना सहिंत अन्य के खिलाफ छेड़ छाड़ व् गाली गलौच कर जान से मारने जैसे संगीन इलज़ाम लगाए है। बहरहाल मारपीट के इस मामले में दोनों ही पक्ष से थाने में रिपोर्ट दर्ज हुआ है ।

इस बात से जाहिर होता है कि वन विभाग पर किसी भी जमीन पर पौध रोपड़ करने का जो आरोप लगता है इस घटना से पूरा चलचित्र साफ हो गया है। यदि वह महकमा उनकी ज़मीन पर बिना अनुमति लिए व ग्रामीणों को बिना विश्वास में लिए पौध रोपड़ किया जा रहा था तो यह निश्चित रूप से विवाद की जड़ बनता है।

munaadi ad munaadi ad munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *