Thursday, June 27, 2019
Home > Top News > जब इस शिक्षक ढाई अक्षर प्रेम के … समझने किया भूल .. और फिर लगा ली फांसी फिर खत्म हुआ ….

जब इस शिक्षक ढाई अक्षर प्रेम के … समझने किया भूल .. और फिर लगा ली फांसी फिर खत्म हुआ ….

एकलव्य विद्यालय के शिक्षक ने लगाई फांसी, मामला प्रेमप्रसंग से जुड़ा

कोरिया से अनूप बड़ेरिया की मुनादी

कोरिया जिले के खडग़वां थानांतर्गत पोड़ीडीह के एकलव्य आवासीय विद्यालय के स्टाफ क्वार्टर में शिक्षक की फांसी पर लटकती लाश मंगलवार की दोपहर मिली। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच की तो कमरे से सुसाइड नोट भी मिला। मामला प्रेम-प्रसंग से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है।

पुलिस ने इसकी सूचना भिलाई निवासी शिक्षक के परिजनों को दी। वे बुधवार की सुबह घटनास्थल पहुंचे। करीब 18 घंटे बाद शिक्षक का शव फांसी के फंदे से उतारा गया। पुलिस ने शव पीएम पश्चात शव उसके परिजन को सौंप दिया है।

फांसी पर लटका शिक्षक

भिलाई के सेक्टर नंबर-२ के क्वार्टर नंबर 28 बी सड़क नंबर 4 निवासी इंद्रजीत गिरी प्राइवेट कोचिंग इंस्टीट्यूट में गणित विषय के विशेषज्ञ के रूप में कार्यरत था। कोरिया जिला प्रशासन की उत्कर्ष योजना की समर क्लासेस में वह अध्यापन कार्य कर रहा था। फिलहाल उसे हायर सेकण्डरी स्कूल उधनापुर में पढ़ाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

फिलहाल वह एकलव्य आवासीय विद्यालय पोड़ीडीह के स्टाफ क्वार्टर में रह रहा था। शिक्षक के परिजन ने मंगलवार को उसके मोबाइल पर कॉल किया लेकिन संपर्क नहीं हो पा रहा था। इससे चिंतित परिजन ने साथी शिक्षक के मोबाइल में कॉल कर बात कराने कहा।

दोपहर करीब 2 बजे जब साथी शिक्षकों ने कमरे का दरवाजा खटखटाया तो भीतर से कोई आवाज नहीं आई। जब शिक्षकों ने खिड़की से झांका तो इंद्रजीत की लाश फांसी पर लटकी मिली। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई लेकिन परिवार के आने के बाद शव उतारने की बात कही गई। इसके बाद बुधवार की सुबह करीब ८ बजे शव को उतारा गया।

पुलिस को सुसाइड नोट मिला, प्रथम दृष्टया प्रेम-प्रसंग का मामला
खडग़वां पुलिस के अनुसार घटना स्थल पर एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें प्रथम दृष्टया प्रेम-प्रसंग का मामला सामने आ रहा है। मामले की जांच की जा रही है।

Munaadi Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *