Monday, April 6, 2020
Home > Raigarh > आदिवासी अंचल के महाविद्यालय में नहीं पर्याप्त सीट ….. इस साल भी परेशान हो रहे छात्र ….जद्दोजहद के बीच शिक्षा पाने मजबूर

आदिवासी अंचल के महाविद्यालय में नहीं पर्याप्त सीट ….. इस साल भी परेशान हो रहे छात्र ….जद्दोजहद के बीच शिक्षा पाने मजबूर

सरकारी महाविद्यालय में पर्याप्त सीटें न होने से भारी परेशान हो रहे स्वाध्यायी छात्र पढें पूरी खबर

धरमजयगढ़ मुनादी असलम खान .

नगर में स्थित एकमात्र शासकीय महाविद्यालय में प्राइवेट परीक्षार्थी के रूप में शामिल होने वाले छात्रों को महाविद्यालय में प्राइवेट के लिए कम सीटें होने के कारण भारी परेशानियों के सामना करना पड़ रहा है , और छात्रों को नगर से 40 किलोमीटर दूर घरघोड़ा , छाल , या पत्थलगांव में प्राइवेट फॉर्म भरना पड़ रहा है , ज्ञात हो कि बीए , बीएससी एवं बीकॉम प्रथम वर्ष के प्राइवेट फॉर्म 15 नवंबर से भरना शुरू हो गए हैं , और कम सीटें होने ,तथा बीए और बीएससी कि सीटें फुल होने के कारण छात्रों को यहाँ वहां भटकना पड़ रहा है , महज दो तीन दिनों में सीटें भर जाने से जहाँ छात्रों को धरमजयगढ़ से 40 किलोमीटर दूर परीक्षा फॉर्म भरने जाने कि मजबूरी है , वहीँ धरमजयगढ़ में शासकीय महाविद्यालय होने के बावजूद भी स्थानीय छात्रों को लाभ नहीं मिल पा रहा है. छात्र बड़ी जद्दोजहद कर शिक्षा पाने को मजबूर हैं।

प्रचार्य महाविद्यालय धरमजयगढ़

इस सम्बन्ध में जब महाविद्यलय के प्राचार्य एस बी लकड़ा से पूछा गया तो उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन को समस्या से अवगत करने तथा जल्द ही सीटें बढ़ने कि उम्मीद जताई , बहरहाल सीटें बढ़ेंगी या नहीं यह तो नहीं पता, लेकिन विगत वर्ष भी सीटों कि संख्या कम होने और इसी तरह कि समस्या उत्पन्न होने कि जानकारी होने के बावजूद सीटें न बढ़ना छात्रों कि परेशानी का सबब बन गया है , महाविद्यालय प्रबंधन को इस समस्या के लिए तत्काल ठोस कदम उठाकर प्राइवेट सीटें बढ़ाने के लिए सक्रियता से काम लेना चाहिए , ताकि छात्रों को परीक्षा फॉर्म के लिए यहाँ वहां न भटकना पड़े !

munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]