Thursday, October 1, 2020
Home > Top News > कट्टप्पा बने शिक्षाकर्मी नेता संजय शर्मा, सोशल मीडिया पर पूछे जा रहे हैं सवाल

कट्टप्पा बने शिक्षाकर्मी नेता संजय शर्मा, सोशल मीडिया पर पूछे जा रहे हैं सवाल

Munaadi News

 

रायपुर मुनादी ।।

एक सवाल जो लोगों को 2 साल तक परेशान करता रहा वह था बाहुबली को कट्टप्पा ने क्यों मारा ? अब ऐसे ही सवाल शिक्षाकर्मी एक दूसरे से पूछ रहे हैं कि शिक्षाकर्मियों ने आंदोलन बिना मांगें स्वीकार हुए क्यों वापस लिया? कई शिक्षाकर्मी इसके लिए सनद के नेता संजय शर्मा को दोषी ठहरा रहे हैं। वे पूछ रहे हैं कि जब शून्य पर ही वापस आना था और छात्रहित की इतनी ही चिंता थी तो 16 दिन बच्चों क्यूँ बर्बाद किया।

यह सवाल सोशल मीडिया में लगातार उठाये जा रहे हैं । लोगों खासकर शिक्षाकर्मियों के निशाने पर उनके नेता संजय शर्मा हैं।कई लोग उनके ऊपर सवाल उठा रहे हैं। लोग तो इन्हें सरकार का एजेंट तक बता रहे हैं। उनका कहना है कि जब संघ के ज्यादातर नेता  गिरफ्तार हो गए तब सिर्फ यही क्यों बचे रह गए और लादेन की तरह वीडियो जारी कर रहे थे। उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि जब शिक्षाकर्मी लड़ने को तैयार हैं तब आप अकेले ऐसा निर्णय कैसे ले सकते हैं।  हालांकि शर्मा समर्थकों का मानना है कि यह रणनीतिक फैसला है। इससे सरकार के विरोध में भुनाया जाएगा, लेकिन जो सवाल उनपर उठाये जा रहे हैं उसका जवाब उनके पास से फिलहाल नहीं मिल रहा है।

16 दिन से यही तो कह रही थी सरकार

जहां तक छात्र हित का सवाल है तो सरकार शुरू से ही यह कहती  आ रही थी कि वे संविलियन के लिए कमिटी का गठन करने जा रहै हैं, इसके बाद इसपर विचार किया जयेगा लेकिन उस समय इन्होंने नहीं माना अब अचानक छात्र हित का ख्याल कैसे आ गया।

विपक्षी दलों आया भरोसा भी गया

जो विपक्ष हर मुद्दे पर अलग थलग था वह इस मुद्दे पर एकजुट होता दिखा। सभी दलों ने दिलखोलकर इस आंदोलन का समर्थन किया, लेकिन संघ के बिनाशर्त हड़ताल वापस करने से उनका भरोसा भी टूटा है। लोग यह चर्चा कर रहे हैं कि क्या संजय शर्मा सत्ता के इशारे पर काम कर रहे थे?

Munaadi Ad

One thought on “कट्टप्पा बने शिक्षाकर्मी नेता संजय शर्मा, सोशल मीडिया पर पूछे जा रहे हैं सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3585386