Press "Enter" to skip to content

निवासी था ग्राम पंचायत का नगर पंचायत में मिल गया प्रधानमंत्री आवास, राजनीति हो गई शुरू, अधिकारियों के मिलीभगत का आरोप, एसडीएम को ज्ञापन भी

रंजीत सोनी की मुनादी।।

राजपुर-नगरपंचायत में ग्रामपंचायत के हितग्राही का प्रधानमंत्री आवास बनने के बाद भाजपा यूवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष सुनील गुप्ता ने राजपुर एसडीएम के समझ ज्ञापन सौंप कर जांच कराने की अपील की है और इस मामले में अधिकारी -कर्मचारियों के मिलीभगत का आरोप लगाया है।

राजपुर नगर पंचायत कार्यालय जो लगातार अपने कारनामों से सुर्खियों में बनी रहती है, एक बार फिर से राजपुर नगर पंचायत में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए जा रहे आवास में गड़बड़ी का मामला सामने आया है, हम आपको बता दें कि नगर पंचायत में बनाए जा रहे हैं प्रधानमंत्री आवास उन्हीं हितग्राहियों का पास होता है जो नगर पंचायत के मुलनिवासी हो व जिनके नाम से नगर पंचायत में भूमि हो और नगरपंचायत के किसी भी वार्ड के मतदाता सूची में नाम सामिल हो ऐसे ही व्यक्ति पात्र की सूची में आते हैं।

पूरा मामला राजपुर नगर पंचायत के वार्ड क्र.10 का है जहां वीरेंद्र रवि आत्मज शिवरतन रवि निवासी ग्राम पंचायत नवकी के नाम से प्रधानमंत्री आवास बनाने का अनुमति नगरपंचायत अधिकारीयों के द्वारा करा दि गई है और अभी तक दो किश्तों का भुगतना भी कर दिया गया है,यहां सवाल यह उठता है कि ग्रामपंचायत में रहने वाले व्यक्ति का आवास नगरपंचायत में बनाने की अनुमति कैसे दे दी गई है, ईसमें फाईल सत्यापन कर्ता और स्थल जांच कर्ता दोनो ने ही आवेदन को कैसे पास कर दिये,कार्यालय नगरपंचायत राजपुर का हाल ईतना बुरा हो चुका है कि यहां के छोटे से छोटे कर्मचारी भी अपने आप को सीएमओ से कम नही समझता,ईससे साफ पता चलता है कि कार्यालय में पदस्थ सीएमओ की पकड़ अपने अधिकारीयों पर नही है जिससे ऐसी समस्याएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।ईससे पहले भी नगरपंचायत का एक छोटे क्रमचारि के ऊपर आवास में भुगतान के लिए ब्लू प्रिंट के नाम पर हितग्राहियों से 5-5 हजार रुपये लेने का मामला उजागर हुआ था जिसमें भी अभी तक कोई कार्यवाही देखने को नही मिली है।

राजपुर नगर पंचायत के अधिकारी और कर्मचारी महज अपने स्वार्थ सिद्धि के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना में लगातार सिलसिलेवार गड़बड़ियां करते आ रहे हैं जिसकी शिकायत जनप्रतिनिधियों के द्वारा समय-समय पर उच्च अधिकारीयों के समक्ष ज्ञापन देकर अवगत कराया जाता रहा है लेकिन शिकायत की संज्ञान अधिकारीयों के द्वारा अमल में नही लेने से ऐसे कर्मचारियों के हौसले बुलन्द हो चुके हैं आये दिन ऐसी समस्यायें सामने आ रही हैं।

Munaadi Ad Munaadi Ad Munaadi Chhattisgarh Govt Ad

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *