Saturday, September 21, 2019
Home > Raigarh > कुख्यात भगोड़ा खनिज माफिया को पुलिस ने आखिर धर दबोचा ….ओडिशा में छुप कर रह रहा था …

कुख्यात भगोड़ा खनिज माफिया को पुलिस ने आखिर धर दबोचा ….ओडिशा में छुप कर रह रहा था …

रायगढ़ मुनादी।


कुख्यात खनिज माफिया आखिरकार पुलिस के शिकंजे में चढ़ ही गया के शिकंजे में चढ़ ही गया। पुलिस ने आज ट्रेनी आईएएस अफसर मयंक चतुर्वेदी पर जानलेवा हमला करने के बाद से फरार चल रहा था। जिसे आज उड़ीसा से गिरफ्तार कर लिया गया है।


कुख्यात खनिज माफिया अमृत पटेल द्वारा टीमरलगा क्षेत्र में शाश्कीय भूमि पर अवैध तरीके से कब्जा कर नदी नाला पर कब्जा कर न सिर्फ अवैध खनन कर न सिर्फ पर्यावरण को नुकसान पहुंचाया वही शासन को करोड़ो रूपये की क्षति पहुंचाई है। अमृत पटेल पर पहले भी खनन मामले में कई गम्भीर आरोप लग चुके हैं।

पुलिस डायरी से विस्तार ….

                   

सारंगढ़ क्षेत्र में अवैध खनन पर कार्यवाही करने गये सहायक कलेक्ट़र श्री मयंक चतुर्वेदी व उनके टीम पर जानलेवा हमला करने वाले आरोपी अमृत पटेल को उसके साथी के साथ पुलिस अधीक्षक रायगढ़ द्वारा गठित की गई टीम द्वारा आज दिनांक 16.05.19 को रेंगालपाली ओडिसा बार्डर से गिरफ्तार किये है ।

विदित है कि आरोपी के विरूद्ध सहायक कलेक्टर श्री चतुर्वेदी पर जानलेवा हमला करने सहित अन्य कई मामले थाना सारंगढ़ में पूर्व से पंजीबद्ध है । जिनमें – वर्ष 2002 में 179/02 धारा 147,148,149 ता.हि., 182/02 धारा 509,294 ता.हि. वर्ष 2013 में 42/13 धारा 186,188 ता.हि. वर्ष 2014 में 159/14 धारा 294,506, 323,341, 427 ता.हि. वर्ष 2018 में 477/18 धारा 379 ता.हि. 4(21) खनिज अधिनियम के मामले में आरोपी को पूर्व में गिरफ्तार कर प्रकरण का चालान माननीय न्यायालय प्रस्तुत किया जा चुका है। ये तथा माननीय न्यायालय में विचाराधीन है ।

इस वर्ष 2019 आरोपी के विरुद्ध दिनांक 11-12.04.19 के दरमियानी रात सहायक कलेक्टर व उनकी टीम पर हमला करने के मामले में 195/19 धारा 186,332,353,307, 294,506,34 ता.हि. विद्युत चोरी का अपराध 198/19 धारा 135 विद्युत अधिनियत तथा अवैध विस्फोटक पदार्थ उपयोग करने के संबंध में 206/19 धारा 5 विस्फोटक अधिनियम के तहत कार्यवाही किया गया है, जिसमें आरोपी की गिरफ्तारी की जानी थी ।

   

दिनांक 12.04.2019 की घटना के बाद से घटना का मुख्य आरोपी अमृत पटेल व उसका साथी फरार थे, जिसकी पतासाजी/गिरफ्तारी कराने में पुलिस को सहयोग देने वाले के लिए पुलिस अधीक्षक रायगढ़ द्वारा 5000 रूपये का ईनाम उद्घोषणा जारी किया गया साथ ही आरोपियों की पतासाजी/गिरफ्तारी व अपराध के सतत पर्यवेक्षण अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक वर्मा के मार्गदर्शन में पुलिस अनुविभागीय अधिकारी सारंगढ़ श्री जितेन्द्र खुंटे के नेतृत्व में दो निरीक्षक सहित 08 सदस्यीय पुलिस टीम का गठन किया गया ।

आरोपी के फरार होने के बाद से पुलिस की टीम प्राप्त सूचना पर जिले में तथा ओडिसा के भुवनेश्वर , पुरी महाराष्ट्र के मुंबई सहित कई स्थानों में दबिश दी थी किन्तु आरोपी को पुलिस की पतासाजी की भनक लगते ही अपना लोकेशन बदल देता था जिससे पुलिस टीम को सफलता हासिल करने में समय लगा । अप.क्र. 195/19 धारा 186, 332, 353,307, 294, 506, 34 IPC की विवेचना दरम्यान धारा 341 IPC एवं अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 की धारा 3(1)(X) जोड़ी जाकर विवेचना की जा रही थी कि पुनः पुलिस को आरोपी के ओडिसा भुवनेश्वर में छिपकर रहने की सूचना मिली, जिस पर पुलिस की अलग-अलग 04 टीमों ने भुवनेश्वर के कई स्थानों में दबिश दिया और आरोपी का पीछा करते हुए रेंगालपाली ओडिसा बार्डर के पास आज दिनांक को दोपहर में आरोपी अमृत पटेल और उसके साथी कन्हैया पटेल को पुलिस टीम ने धर दबोचा । आरोपी (1) अमृत पटेल पिता सीताराम पटेल उम्र 42 वर्ष निवासी गजानंदपुरम कोतरारोड़ रायगढ़ (2) कन्हैया पटेल पिता रघुवर पटेल उम्र 28 वर्ष निवासी टिमरलगा थाना सारंगढ़ अब पुलिस गिरफ्त में है , जिसे शीघ्र न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा जावेगा ।

    
munaadi ad munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *