Thursday, October 1, 2020
Home > Top News > प्रधानमंत्री मोदी से मिलने की नही मिली अनुमति तो नाराज सहायक शिक्षकों ने कर दिया ऐसा एलान——कहा-अब होगी…….

प्रधानमंत्री मोदी से मिलने की नही मिली अनुमति तो नाराज सहायक शिक्षकों ने कर दिया ऐसा एलान——कहा-अब होगी…….

Munaadi News
जशपुर मुनादी।।

प्रधानमंत्री से मिलकर अपनी मांग रखने की आखिरी उम्मीदपर पानी फिरने के बाद वर्ग 3 फेडरेशन ने अब आर और पार की आखिरी लड़ाई का एलान कर दिया है।फेडरेशन का कहना है कि उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर प्रधानमंत्री सेमिलने की अनुमति देने का अनुरोध किया था लेकिन न तो इस अनुरोध को स्वीकार किया गया न ही मुख्यमंत्री ने कोई विचार किया महज झूठा ढांढस बंधाते रहे ।

फेडरेशन द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि

आखिरकार प्रदेश के 1 लाख 9 हजार सहायक शिक्षक LB और पँचायत ने 25 सितम्बर से अपनी चार सूत्रीय मांग को लेकर छग सहायक शिक्षक फेडरेशन के बैनर तले आंदोलन छेड़ ही दिया अब देखना होगा कि राज्य की भाजपा सरकार और मुखिया जिन्होंने छग के शिक्षाकर्मीयो को मध्यप्रदेश से ज्यादा अच्छा संविलियन सौगात देने की बात कहते हुए संविलियन के नाम पर शिक्षाकर्मीयो को जो झुनझुना थमाया है क्या निर्णय लेते है या फिर संविलियन देने के बाद भी अपने बहुमूल्य वोटबैंक शिक्षाकर्मीयो से वंचित रहकर परेशानी नें पड़ते है।
        फेडरेशन के प्रदेश मीडिया प्रभारी और प्रांतीय संयोजक अजय गुप्ता का मानना है कि जब मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा हमे मध्यप्रदेश से बेहतर संविलियन लाभ देने की बात कहा गया था तो क्यो हमें संविलियन के नाम पे मात्र 7 वा वेतनमान का वो भी विसंगति युक्त,बिना क्रमोन्नति के दिया जा रहा है यह तो शासन की सरासर बेईमानी है जिसे छग का सहायक शिक्षक कभी बर्दास्त नही करेगा हम सभी पीडिय वर्ग-3 माननीय मुख्यमंत्री से माँग करते है कि आप हमें मध्यप्रदेश की ही भाँति वेतन विसंगति को दूर करते हुए वेग-3 को समयमान वेतनमान के आधार पर 9300 +4100 ग्रेडपेय दे जो हमारा स्वभाविक अधिकार है  साथ ही पदोन्नति से वंचित साथियो को 10 वर्ष की सेवा अवधि उपरांत क्रमोन्नति/उच्चत्तर वेतनमान का लाभ दे जो संविलियन के नियमानुसार ही है जिसे राज्य शासन अपने नियमिय कर्मचारियों को देता है साथ ही मध्यप्रदेश में 80 हजार शिक्षाकर्मीयो को दिया गया है।
साथ ही सभी शिक्षक पँचायत संवर्गो को बिना समय बन्धन के एक साथ नियुक्तितिथि से संविलियन लाभ दे जो की मध्यप्रदेश में दिया जा रहा है ।
   श्री अजय गुप्ता ने आगे कहा है कि हम शासन से कोई अतिरिक्त लाभ की मांग नही के रहे है हम सब शिक्षक वही मांग रहे है जो शिक्षा विभाग और भारतीय संविधान के अन्तर्गत प्रवधानित है और जो सभी  1 लाख 9 हजार सहायक शिक्षक और अन्य संवर्गो के शिक्षक वर्ग जैसे 1 और 2 का अधिकार है ।
     उन्होंने आगे कहा है कि हमने अपनी माँग को 10 अगस्त फिर 28 अगस्त और 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस बहिष्कार के जरिये तथा 13 सितम्बर को मुख्यंमत्री को उनके निवास में मुलाकात करके अपनी मांग दोहराए जिस पर हमें काफी उम्मीद था  और अभी भी है जिसे जल्द पूरा करने की राह आज सारा शिक्षाकर्मी देख रहे है।
       फेडरेशन के ही प्रांतीय संयोजक शिव सारथी,जाकेश साहू ,मनीष मिश्रा,इदरीश खान,सीडी भट्ट,अश्वनी कुर्रे,बसन्त कौशिक ने फेडरेशन से जुड़े सभी सहायक शिक्षको और खासकर ऐसे साथियो से जो आंदोलन को प्रत्यक्ष,प्रत्यक्ष रूप से सहयोग कर रहे है वे सभी 25 सितम्बर से चालू होने वाले आंदोलन में अनिवार्य रूप से अपनी भागीदारी निभाकर उसे सफल बनाने की अपील किये है।
           प्रांतीय संयोजको ने अपील किया है कि आज का समय हमारी माँग के लिए बिलकुल अनुकूल है अगर हम सभी शिक्षक LB और पँचायत संवर्ग एकजुटता के साथ आंदोलन में भाग लेते है तो शासन हमारी मांग को जरूर पूरा करेगा और इसके लिए आप सभी का रायपुर के धरना स्थल में आकर अपनी संख्या बल का एहसास कराना जरूरी है।
      संयोजको का कहना है कि अभी नही तो  कभी नही अगर आज हम शासन से मांग नही मनवा पाए तो पूरे 5 साल शोषित होते रहेंगे जैसे 2013 से होते आये हैं।

Munaadi Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3585386