Saturday, July 20, 2019
Home > Top News > अब झाबू नाला को लेकर ग्रामीण हुए लामबंद ,चक्का जाम और वोट नही देने की दी चेतावनी

अब झाबू नाला को लेकर ग्रामीण हुए लामबंद ,चक्का जाम और वोट नही देने की दी चेतावनी

Munaadi News

लोदाम से ब्रजेश सिंह के साथ सुमीत गुप्ता की मुनादी।।

 

लोदाम क्षेत्र में पानी की समस्या को लेकर अभी से ही हाहाकार की स्थिति है ।लोदाम के पौड़ी स्थित झाबू नाला को लेकर ग्रामीणों ने आंदोलन की चेतावनी दी है साथ ही ग्रामीणों मंगलवार को कलेक्टर जनदर्शन में भी कलेक्टर से अपनी पीड़ा बताकर पानी की समस्या दूर करने की गुहार लगाई ।दो दिन पहले रतिया झाबू नाला को लेकर ग्रामीणों की एक बैठक हुई ।बैठक में बताया गया है कि 2011 से अब तक ग्रामीणों के द्वारा झाबू नाला के लिए न जाने कितने बार आवेदन निवेदन किया लेकिन अब तक उनकी कोई सुनवाई नही हुई नतीजतन ग्रामीणों की समस्या 6 सालों से यथावत है ।

 

लोदाम के सुमीत गुप्ता द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक  ग्रामीणों ने कई बार कलेक्टर  से लेकर मंत्रियो  को भी इस समस्या से अवगत कराया की रतिया की झाबु  नाला डेम  2011 से बाढ़ के कारन बह गया और आस पास  के कई गावो से आना जाना और जनसंपर्क टूट गया है आपको बता दे की यहां के आस पास के जितने भी गांव है वह पहाड़ी छेत्र और नक्सल प्रभावित है झारखण्ड के सिमावर्ती  इस छेत्र में आज तक कोई भी अधिकारी नहीं आते ।और तो यह पहाड़ी छेत्र होने के कारन पीने का पानी भी यहां के लोगो को नहीं मिल पा रहा है। झाबू.डेम से ग्रामीणों की खेती होती थी जो अब नहीं हो रही है खेती नहीं होने के कारन यहां के किसान कर्ज़ में आ गए हैं ।यहां के ग्रामीणों का कहना  है अगर डेम निर्माण कार्य शुरू नहीं किया तो अब सड़क पर प्रदर्शन करने के अलावे को चारा नही है। आक्रोशित  ग्रामीणों ने चक्का जाम करने की धमकी देते हुए कहा की अगर हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो आने वाली चुनाव  में वोट  भी नहीं डालेंगे .यह डेम दो बार टूट चुकी  है बार बार बस मिटटी  ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *