Press "Enter" to skip to content

मजदूर की बीवी ने खिलाया कमल! बिना ‘नोट’ के ही जनता ने दिया ‘वोट’, जानिए झोपड़ी से विधायक की कुर्सी तक का सफ़र

डेस्क मुनादी || भारत के 4 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के विधानसभा चुनावों के नतीजे अब हम सबके सामने हैं। इन नतीजों में कांग्रेस का सूपड़ा पूरी तरह से साफ है। जबकि बंगाल में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस असम में भाजपा पुदुचेरी में राजग और केरल में सत्ताधारी एलटीएफ ने एक बार फिर वापसी की है।

केवल तमिलनाडु में ही सत्ता परिवर्तन हुआ है। यहां पर स्टर्लिंग की नेतृत्व में अन्नाद्रमुक को हटाकर द्रमुक सत्ता में आई है। सबसे ज्यादा बंगाल के चुनावों पर पूरे देश की निगाहें थे। जहां तृणमूल ने सत्ता में वापसी कर ली, लेकिन ममता दीदी अपनी सीट नहीं बचा पाए। यह काफी चर्चा का विषय रहा। लेकिन इन सबसे ऊपर एक शख्स और भी चर्चा में रही है, वह है चंदना बावरी। जानिए कौन है चंदना…

सालटोरा से भाजपा ने दी टिकट

दरअसल, पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा जिले की सालटोरा विधानसभा सीट काफी सुर्खियों में रही थी। इस सीट पर पहले चरण में मतदान हुआ था। सालटोरा निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा ने चंदना बाउरी को उम्मीदवार बनाया, जो एक दैनिक मजदूरी करने वाले शख्स की पत्नी हैं। चंदना बाउरी के नाम का उल्लेख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बांकुड़ा जिले हुई अपनी चुनावी रैली के दौरान किया था।

चंदना बाउरी एक गरीब मजदूर की पत्नी हैं, जिनकी उम्र भर की जमा पूंजी सिर्फ 31 हजार 985 रुपये हैं। चंदना बाउरी आज भी झोपड़ी में रहती हैं। संपत्ति के रूप में उनके पास 3 बकरियां और 3 गाय भी हैं। वो अनुसूचित जाति से संबंध रखती हैं।

अचनाक घोषित हुआ नाम

भाजपा की तरफ से टिकट मिलने पर चंदना ने कहा था कि उम्मीदवारों के नाम की घोषणा से पहले मुझे नहीं पता था कि मुझे विधानसभा चुनावों में मुझे एक उम्मीदवार के रूप में चुना जाएगा। उन्होंने कहा था कि कई लोगों ने मुझे नामांकन के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए प्रोत्साहित किया, लेकिन मुझे नहीं लगा कि मैं यह उपलब्धि हासिल कर पाऊंगी।

मतदान के दिन चंदना खुद भी वोट डालने पहुंचीं थी। इसके बाद बीजेपी ने ट्वीट किया था कि ‘सालटोरा से बीजेपी उम्मीदवार चंदना बाउरी ने बूथ पर जाकर वोट डाला। अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का प्रयोग करें। मतदान आपका अधिकार है, अपने परिवार के साथ जाएं और वोट करें।’

टीएमसी के धुरंधर को दी मात

चंदना बाउरी ने सालतोरा सीट पर टीएमसी के संतोष कुमार मोंडल को मात दे दी है। उन्हें यहां हुए चुनावी मुकाबले में वोटर्स ने 91 हजार 648 वोट दिए, जबकि टीएमसी प्रत्याशी को 87 हजार 503 वोट मिले। इस तरह चंदना ने 4145 वोटों से संतोष कुमार मोंडल को नजदीकी मुकाबले में मात दे दी।

बता दें कि पश्चिम बंगाल चुनाव के पहले चरण में 30 सीटों पर चुनाव हुए थे। इसमें पुरुलिया, झाड़ग्राम जिलों की 30 विधानसभा सीटों के अलावा बांकुड़ा, पूरबा मेदिनीपुर, और पश्चिमी मेदिनीपुर क्षेत्र की भी कई सीटों पर चुनाव हुए थे। पहले चरण के मतदान में 21 महिलाओं सहित 191 उम्मीदवारों के चुनावी भाग्य का फैसला हुआ।

Munaadi Ad Munaadi Ad Munaadi Chhattisgarh Govt Ad

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *