Thursday, October 1, 2020
Home > छत्तीसगढ़ > मंतूराम पवार का बड़ा खुलासा- अन्तःगढ़ में नाम वापस लेने के लिए 6 प्रत्याशियों को दिया गया था 1-1 करोड़ का प्रलोभन,रमन सिंह, जोगी, मूणत और अमन सिंह के खिलाफ थाने में रिपोर्ट

मंतूराम पवार का बड़ा खुलासा- अन्तःगढ़ में नाम वापस लेने के लिए 6 प्रत्याशियों को दिया गया था 1-1 करोड़ का प्रलोभन,रमन सिंह, जोगी, मूणत और अमन सिंह के खिलाफ थाने में रिपोर्ट

मंतूराम का बड़ा खुलासा- अन्तःगढ़ में नाम वापस लेने के लिए 6 प्रत्याशियों को दिया गया था 1-1 करोड़ का प्रलोभन,रमन सिंह, जोगी, मूणत और अमन सिंह के खिलाफ थाने में रिपोर्ट

रायपुर: छत्तीसगढ़ का बहुचर्चित अंतागढ़ टेप कांड में मंतूराम पवार ने आज बड़ा खुलासा करते हुए आरोप लगाया कि अंतागढ़ चुनाव से नाम वापिस लेने के लिए मुझे एनकाउंटर की धमकी दी गई।

कहा गया कि तुम कभी भी दुर्घटना के शिकार हो जाओगे। मंतूराम ने कहा कि मेरा परिवार गांव में रहता है। लिहाजा, भयवश मैं अपना नामंकन वापिस ले लिया था।

मंतूराम अपने साथ उन छह प्रत्याशियों को लेकर रायपुर प्रेस क्लब पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि धमकी में नाम वापिस लेने वाला सिर्फ मैं ही नहीं था,

और भी छह लोगों ने रमन सरकार के दबाव में नामंकन वापिस लिया था। नाम वापिस लिए प्रत्याशियों में उन्होंने देवनाथ, भीम सिंह उसेंडी, भोजराज नाग, महादेव उसेंडी, समंदर नेताम और चुरेद्र कुमार का नाम बताया..

मंतूराम ने आरोप लगाया कि अंतागढ़ कांड में रमन सिंह के साथ अजीत जोगी और अमित जोगी का हाथ था। दोनों ने मिलकर षडयंत्र रचा। अजीत जोगी के चलते ही बीजेपी तीन बार सरकार बनाने में कामयाब हो गई।

मंतूराम ने रमन सिंह पर आरोप लगाया कि उन्हें टिकिट देने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन, उन्होंने न विधानसभा का टिकिट मिला और न लोकसभा का। मुझे रमन सिंह ने बुरी तरह ठग लिया।

मंतूराम ने कहा कि मुझे अंतागढ़ कांड में मोहरा बनाया गया। बीजेपी ने मेरा अपमान किया। पहले पैसों का लालच दिया गया। बाद में जान से मारने की धमकी दी जाने लगी।

मंतूराम ने कहा कि मैं आज भी दबाव में हूं। अजीत जोगी और रमन सिंह ने मुझे इस कांड में फंसा दिया।

आज मंतूराम के साथ उपस्थित हुए इन 6 प्रत्याशियों में भीम सिंह उसेंडी, महादेव मंडावी, शंकरलाल नेताम, देवनाथ, भोजराज नाग, वीरेंद्र नेताम थे। मंतूराम ने कहा कि इन सभी का न्यायालय में 164 का कथन हो चुका है।

कल धमतरी में इन्होंने रमन सिंह, अमन सिंह, ओपी गुप्ता के नाम से एफआईआर करवाया गया है। मंतूराम ने कहा कि इन सभी को 1-1 करोड़ देने की बात कही गई थी पर किसी को 50 हजार से अधिक नहीं मिला है।

मंतूराम ने कहा कि रमन सिंह ने मेरे साथ, आदिवासियों के साथ घोखा किया है। इसलिए दंतेवाड़ा की जनता से अपील करता हूं कि वह बीजेपी को परास्त करें।

Munaadi Ad
Devendra Singh
Cluster Editor Surguja Region

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3585386