Thursday, October 1, 2020
Home > Top News > साहब अंतिम धाम का अब तो कर दो उद्धार, कमीशन के खेल में सिमट कर रह गया कहाँ और क्यों जानने के लिए पढ़ें

साहब अंतिम धाम का अब तो कर दो उद्धार, कमीशन के खेल में सिमट कर रह गया कहाँ और क्यों जानने के लिए पढ़ें

Munaadi News
  • सारंगढ़ मुनादी ।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

*सारंगढ़ के मुक्ति धाम में अव्यवस्थाओं का अम्बार*

मुक्ति धाम का देखरेख का नगर पालिका को नहीं है ध्यान, सिर्फ कमीशन के खेल पर ही सिमट गई नगर पालिका सारंगढ़

*समाज सेवियों ने भी नहीं किया कोई पहल, महज फ़ोटो सेसन तक ही सिमित,

जनप्रतिनिधि होने के नाते अपना कर्तव्य भी याद नहीं, जनता से किये वादा पूरा करने में नहीं दिलचस्पी

नगर पालिका सारंगढ़ क्षेत्र अंतर्गत स्थानीय मुक्तिधाम कई वर्षों से अव्यवस्थाओं का दंश झेल रहा है यहाँ ना तो पीने का पानी का कोई व्यवस्था है ना शव को जलाने के लिए कोई सुविधा है मुक्ति धाम में आने वाले लोग तो इसे खंडहर समझते है क्यों की अन्य शहरो के मुक्ति धाम की तुलना करने पर सारंगढ़ के मुक्ति धाम में किसी भी प्रकार की मुलभुत सुविधा नहीं है मनो यहाँ का मुक्ति धाम किसी के द्वारा दान में दे दिया गया है इसका देखरेख करने वाला कोई नहीं है इस मुक्ति धाम की स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है यहाँ आने वाले लोगो को पिने का पानी तो दूर धर्म कर्म के लिए भी पानी की व्यवस्था नहीं है।
यहाँ किसी भी प्रकार की सुविधा नगर पालिका के द्वारा नहीं किया गया है अव्यवस्थाओं का दंश झेल रहा है सारंगढ़ का मुक्ति धाम नगर पालिका के द्वारा 10 वर्षो में एक भी सुविधा प्रदान नहीं कराया गया है नगर पालिका के द्वारा किसी भी मद से सौंदर्रीकरण का कार्य कराया जा सकता था परन्तु यहाँ के जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी सब कमीशन के खेल में लगे है जनता के विश्वास के साथ खेल रहे है सारंगढ़ क्षेत्र में कही पर भी डेढ़ साल में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है ना कही विकास कार्य हुए है सिर्फ सी.सी रोड या नाली निर्माण जैसे कमीशन के खेल में यहाँ के जनप्रतिनिधि मस्त है जितना पैसा ये लोग चुनाव में खर्च किये है उससे 10 गुना वसूलने में लगे है इन्हें नगर विकास से कोई मतलब नहीं है। कुछ लोगो का कहना है की किसी बड़े या रसूख़दार परिवार के यहाँ अगर कोई मर जाता है तो नगर पालिका द्वारा हर तरह के सुविधा मुक्तिधाम में उपलब्ध करा दिया जाता है और किसी गरीब घर से कोई अगर मर जाये तो उनका कोई नहीं होता सुविधा देने वाला।
नगर में कई समाज सेवा करने वाले समाज सेवी संस्था है परन्तु उनके द्वारा भी आज तक मुक्ति धाम में किसी भी प्रकार की कोई सुविधा ना मुक्ति धाम के विकास के लिए कोई पहल किया गया जिससे सारंगढ़ की जनता भी समाज सेवियों को सिर्फ नाम के समाज सेवक और फ़ोटो तथा बड़े-बड़े बैनर तक ही सिमित रहते है ऐसा मानते है। खैर देखते है उक्त मुक्ति धाम की सुध लेने के लिए कौन पहले प्रयास करता है पालिका प्रशासन या समाज सेवक यह देखने वाला बात है

Munaadi Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3585386