Saturday, February 23, 2019
Home > Slider > जूदेव समर्थकों के निशाने पर सांसद साय…! लोकसभा भी साबित होगा फ्लॉप शो…?

जूदेव समर्थकों के निशाने पर सांसद साय…! लोकसभा भी साबित होगा फ्लॉप शो…?

जशपुर मुनादी ।।

विधानसभा चुनाव में मिली शर्मनाक हार के बाद भी छग भाजपा के अंदर का घमासान नही थम रहा है ।एक दूसरे का टांग खींचकर सत्ता की कुर्सी और पार्टी में ऊंचे पद पर बने रहने की हैंठगिरी और ऐंठन अबतक कम नही हुआ है । लड़ाई के मैदान में बुरी तरह मुँह की खाने के पीछे के कारणों को फिर से दोहराए जाने की कहानी फिर से शुरू हो गयी है ।जिसका पहला एपिसोड रायगढ़ के कोडा तराई में पीएम मोदी के विशाल जनसभा में देखने को मिल गया जब छग में भाजपा को सरकार दिलाने वाले स्व दिलीप सिंह जूदेव के बेटे भाजयुमो के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रबल प्रताप जूदेव को मोदी के मंच पर पार्टी के नेताओं ने बैठने तक की जगह नही दी गयी और जूदेव समर्थकों ने फिर से पार्टी के नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया ।

Listen beautiful voice

जूदेव समर्थक मानते हैं कि पार्टी के लोग जूदेव परिवार को किनारे करने में लगे हैं और 8 तारीख की घटना इसी साजिश का हिस्सा है।इससे पहले भी कई बार इस परिवार की उपेक्षा सोशल मीडिया और मीडिया में उजागर हो चुकी है ।विधानसभा चुनाव की घोषणा से पूर्व हुए कई पार्टी कार्यक्रमो में स्व दिलीप सिंह जूदेव की तस्वीर नही लगाए जाने को लेकर भी विवाद हो चुके हैं ।अभी कुछ ही दिन पहले लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर पार्टी की बुलाई गई मेगा बैठक में जूदेव परिवार की बड़ी बहू प्रियम्वदा जूदेव ने नाराजगी जताते हुए बयान दिया था कि बैठक की उन्हें सूचना तक नही दी गयी ।इसी परिवार के सबसे दमदार चेहरा माने जाने वाले चन्द्रपुर के पूर्व विधायक युद्धवीर कई बार खुलकर अपनी नाराजगी जता चुके हैं । माना जा रहा है कि जूदेव परिवार की उपेक्षा के चलते जशपुर जिले में भाजपा विधानसभा चुनाव से पहले ही दो खेमे में बंट चुका है और जशपुर जिले में भाजपा को विधानसभा चुनाव में मिली हार इसी विभाजन की परिणीति है। बताया जाता है कि जूदेव समर्थक खेमे की नाराजगी जशपुर जिले में भाजपा के सूपड़ा साफ होने का सबसे बड़ा कारण है और लोकसभा चुनाव में भी यहां उसी नाराजगी की पुनरावृत्ति होने वाली है। 8 फरवरी को पीएम मोदी की सभा मंच पर प्रबल की उपेक्षा के बाद पहले से ही नाराज चल रहे जूदेव समर्थकों के लिए इस घटना ने आग में घी का काम कर दिया है। जूदेव समर्थक 8 फरवरी के वाकये के लिए केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय को मान रहे हैं ।इनका कहना है कि प्रबल की उपेक्षा के जिम्मेदार सांसद हैं इसलिए सोशल मीडिया में यह लिखा भी जा रहा है कि विधानसभा की तरह लोकसभा में भी भाजपा हारेगी ।
यह भी बताते चलें कि कुछ दिन पहले ही छग जनता पार्टी जूदेव के नाम से स्व दिलीप सिंह जूदेव के दत्तक पुत्र प्रदीप नारायण दीवान ने एक नई पार्टी का गठन भी कर दिया है जिसका नेतृत्व युद्धवीर को सौंपने की तैयारी भी चल रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *