Saturday, July 20, 2019
Home > Jashpur > खोदा पहाड़ और चुहिया भी नही निकली,7 साल बाद जब मुख्यमंत्री की घोषणा की सामने आई असलियत तो खिसक गई जमीन..जशपुर के इस…..

खोदा पहाड़ और चुहिया भी नही निकली,7 साल बाद जब मुख्यमंत्री की घोषणा की सामने आई असलियत तो खिसक गई जमीन..जशपुर के इस…..

पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में आमजनों के द्वार पर सरकार की दस्तक देने वाली सबसे लोकप्रिय योजना ग्राम सूराज अभियान की जब पोल खुली तो सभी के सभी हक्के-बक्के रह गए ।ऐसा लगा मानो पैर के नीचे से जमीन खिंसक गयी।
मामला 2012 का है जब प्रदेश के तात्कालिन मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ग्राम सूराज के दौरान जशपुर जिले के जामटोली बस्ती आये थे ।यहाँ उनकी चौपाल लगी थी ।चौपाल के दौरान ग्रामीणों की मांग पर तात्कालिन मुख्यमंत्री ने गंझिया डीह के काजू बाड़ी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की घोषणा की थी लेकिन अबतक यहां किसी अस्पताल की नींव तक नही रखी गयी ।इसके लिए गंझिया डीह सरपंच मुक्तेश्वर साय पैंकरा द्वारा इन 7 वर्षों में जनदर्शन के माध्यम से कई बार जिला प्रशासन को मुख्यमंत्री की घोषणा से अवगत कराया गया लेकिन जिला प्रशासन की ओर से न कोई माकूल जवाब मिला न कोई कार्यवाही हुई।उल्टा यह अफवाह फैला दिया गया कि शासन द्वारा अस्पताल स्वीकृत कर स्थानीय प्रशासन को राशि भी भेज दी गयी लेकिन प्रस्तावित भूमि विवादित होने के कारण निर्माण कार्य मे दिक्कत आ रहीहै इसलिए अस्पताल का निर्माण नही हुआ ।
लेकिन आज जब सरपंच ग्रामीणों के साथ फिर से जनदर्शन में पूर्व मुख्यमंत्री की घोषणा का स्मरण कराने जनदर्शन में गये और अस्पताल का आवेदन देने के बाद जब वस्तुस्थिति से अवगत होने जिला स्वास्थ्य अधिकारी से सम्पर्क किया तो वहां सीएमएचओ का जवाब सुनकर सभी के सभी हक्के बक्के रह गए ।सीएमएचओ ने इन्हें बताया कि अबतक अस्पताल के लिए उनके विभाग ने न तो कोई जानकारी आयी है न ही कोई फंड आया है ।
सरपंच मुक्तेश्वर ने बताया कि अबतक उन्हें और गाँव वालों को यह बताया जाता रहा है कि फंड भी आया है और बहुत जल्द काम भी शुरू होगा लेकिन आज विभाग के मुखिया ने जो सच्चाई बयां कि उस सच्चाई को सुनने के बाद पूरे ग्रामीणों को निराश होना पड़ा है ।उनका कहना है कि यह हमारे साथ छलावा हुआ है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *