Saturday, December 7, 2019
Home > Jashpur > इस तरह से मनाया गया जशपुर में ख्रिस्त राजा का पर्व,देखिये वीडियो ,जानिए इस परम्परा से जुड़ी कहानियां, पढ़िये पूरी खबर….

इस तरह से मनाया गया जशपुर में ख्रिस्त राजा का पर्व,देखिये वीडियो ,जानिए इस परम्परा से जुड़ी कहानियां, पढ़िये पूरी खबर….

ख्रीस्त राजा पर्व जशपुर जिले के समस्त चर्चों में धूमधाम से मनाया गया।

सम्पूर्ण विश्व के साथ जशपुर धर्मप्रान्त में ख्रीस्त राजा का त्योहार मनाया गया।

विश्वव्यापी कलीसिया के साथ स्थानीय जशपुर कैथोलिक धर्मप्रांत के समस्त पल्लियों में ख्रीस्त राजा का त्यौहार बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस पावन अवसर पर सभी पल्लियों में कैथोलिक ईसाई समुदाय द्वारा जुलूस पद यात्रा निकालकर येसु ख्रीस्त को राजा के रूप में सामूहिक रूप से राजकीय सम्मान दिया, पवित्र साक्रामेंट की आराधना की गई तथा पवित्र मिस्सा बलिदान संपन्न कराया गया। इसे अर्थपूर्ण बनाने के लिए बाईबल से झांकियां, नृत्य की प्रस्तुति, धार्मिक गीतों का गायन एवं नारा लगाया गया।

जशपुर कैथोलिक धर्मप्रांत के मुख्यालय रोजरी की महारानी महागिरजा के अलावा सभी डीनरीयों गिनाबहार, घोलेंगे, सराईटोली, घाघरा, दुलदुला, मुसगुटरी, पत्थलगांव एवं तमामुण्डा के अंतर्गत आने वाले पल्लियों में इस पर्व को धूमधाम से मनाया।

कुनकुरी में जुलूस पदयात्रा महागिरजा प्रांगण से प्रारम्भ होकर डॉन बॉस्को मुख्यालय, संत अन्ना प्रोविंशलेट, होली क्रॉस हॉस्पिटल मार्ग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग से होते हुए लोयोला स्कूल प्रांगण में समाप्त हुआ जहां बिशप एम्मानुएल केरकेट्टा की अगुवाई में संपूर्ण धर्म विधि संपन्न की गई। बिशप ने प्रवचन में कहा ईश्वर का राज्य धार्मिकता का राज्य है उस राज्य को जीवित येसु शासन करता है।उसके राज्य का अंत कभी नहीं होगा। वह प्रेम, दया, सत्य, न्याय और शांति से शासन करता। धार्मिकता की निरन्तर खोज करते रहें। येसु राजा की दिखाये मार्ग पर निरंतर चलते रहें।

पवित्र साक्रामेंट का वाहक व सहअनुष्ठाता विकर जेनरल फादर सिकंदर किस्पोट्टा थे जिनका सहयोग फादर तेलेस्फोर लकड़ा ने दिया। धार्मिक गीतों का संचालन लोयोला छात्रावास विद्यार्थियों ने किया। श्री जोसेफ तिग्गा एवं श्री अनिल फ्रांसिस ने संयुक्त रूप से कार्यक्रम का संचालन किया। पल्ली कैथोलिक सभा अध्यक्ष श्री लेयोस खेस ने आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संयोजन पल्ली पुरोहित फादर तरसिसीयुस केरकेट्टा, सहायक पल्ली पुरोहित फादर उदय राज टोप्पो एवं पल्ली पूजन समिति ने किया।

इसी तरह फरसाकानी पल्ली में शोभायात्रा पल्ली प्रांगण से पहला खूंटीटोली तक निकाली गयी जहाँ फादर मरियानुस केरकेट्टा येसु समाज की अगुवाई तथा फादर प्रदीप एक्का एवं फादर इग्नास तिग्गा के सहयोग से मिस्सा सम्पन्न हुआ। खारीबहार पल्ली में जुलूस पारिस से राजकीय राजमार्ग होते हुए कड़गाडिप्पा गांव तक चला जहाँ यह कार्यक्रम मिस्सा पूजा के साथ अंत हुआ।

लुड़ेग पल्ली में धार्मिक विधान का अनुष्ठाता फादर मुक्ति खलखो ने किया। जुलूस पद यात्रा पल्ली प्रांगण से बिरीमड़ेगा तक चला जहाँ पवित्र साक्रमेन्ट की आराधना की गई तथा पवित्र यूखरिस्त संपन्न कराये गये। फादर स्माइल टोप्पो ने प्रवचन में कहा येसु ख्रीस्त दुनियाई राजा नहीं वरन आध्यात्मिक राजा हैं। वे दिलों के राजा हैं। स्वर्ग एवं संपूर्ण ब्रह्मांड का स्वमित्व उनका है। उनका आधिपत्य अनादि एवं अनंत है। उनका शासन प्रेम, सेवा एवं सत्य से संचालित होता है। धार्मिक गीतों का संचालन श्री उदय प्रताप तिग्गा की अगुवाई में पुष्पा प्राथमिक स्कूल, जवाहर मिडिल एवं जवाहर हाई स्कूल एवं पल्ली युवा ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम का संचालन जोवाकिम लकड़ा ने किया। पल्ली पुरोहित फादर विनोद कुजूर ने आभार प्रकट किया।

बासेन पल्ली में भी ख्रीस्त राजा पर्व को उमंग एवं प्रसन्नता पूर्वक मनाया गया। जहाँ येसु ख्रीस्त राजा के नाम से गगनचुंबी नारे लगाये गए। इन्ही ख्रीस्त राजा की जय जय के नारों से कार्क्रम समाप्त किया गया।

येसु ख्रीस्त राजा का पर्व मनाने की परंपरा

येसु के इस संसार में आने के पहले से ही उन्हें नबी, पुरोहित एवं राजा के रूप में प्रस्तुत किया गया है जिन्हें नबियों ने इंगित किया एवं जिनका उल्लेख पवित्र ग्रंथ बाईबल में निहीत है। लेकिन वर्तमान में इसे मनाने की घोषणा संतपिता पीयूष ग्यारहवें ने अधिकारिक 1925 में किया।
इस त्योहार को पूजन पद्धति के सामान्य काल के चौतीसवाँ व अंतिम रविवार को मनाया जाता है।
इसके बाद वाले सप्ताह से क्रिसमस का आगमन सप्ताह प्रारम्भ होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]