Sunday, January 26, 2020
Home > Top News > जब विधायक पीटे गये , आईपीएस ने सुसाइड किया, तब कहां थे कौशिक — कांग्रेस, …. भूपेश सरकार की कथनी करनी पर भ्रम फैलाना है इनकी फितरत ….इन्होंने कहा पढें पूरी खबर

जब विधायक पीटे गये , आईपीएस ने सुसाइड किया, तब कहां थे कौशिक — कांग्रेस, …. भूपेश सरकार की कथनी करनी पर भ्रम फैलाना है इनकी फितरत ….इन्होंने कहा पढें पूरी खबर

Munaadi News


*रायगढ़ मुुनादी*

बीजेपी नेता व विधानसभा नेता विपक्ष धरमलाल कौशिक के द्वारा मीडिया के जरिये प्रदेश सरकार पर आरोप मढ़े जाने के प्रत्युत्तर मे कांग्रेस ने बीजेपी के डेढ़ दशक का अराजक शासनकाल याद करने की नसीहत दी है।वरिष्ठ कांग्रेस प्रवक्ता हरेराम तिवारी ने भाजपा सरकार मे घटित बडे मामलों मे बीजेपी नेताओं की चुप्पी पर सवाल खड़े करते हुये उन्हे अपना गिरेबाँ  झांकने को कहा है। धरमलाल कौशिक के बयान के विरोध मे कांग्रेस प्रवक्ता हरेराम तिवारी ने जवाबी हमला बोलते हुये कहा कि भूपेश सरकार मे गुंडाराज कायम होने का आरोप लगाने वाले धरमलाल पहले इस बात का जवाब दे दें कि उनकी सरकार मे महासमुंद विधायक को सड़क पर पुलिस पीटती रही और एक निर्वाचित जनप्रतिनिधि की शिकायत तक दर्ज नहीं  होने दी गई। एक आईपीएस और एक डीएसपी ने परिवार समेत खुद को शूट कर लिया,सीएम हाउस के सामने बेरोजगारों ने खुद को आग लगा ली ,और तो और हजारों की संख्या मे बीजेपी राज मे महिलायें और बच्चियां गायब हो गईं,तब कौशिक और उनकी सरकारी पुलिस किसके नियंत्रण और दबाव मे थी। तिवारी ने कहा कि झीरम कांड जिसमे प्रदेश के शीर्ष नेता शहीद हो गये ,उनकी सुरक्षा मे चूक किस सरकार के माथे का अमिट दाग बनकर रह गई है। कांग्रेस प्रवक्ता हरेराम तिवारी ने कहा कि महिला सुरक्षा की बात करने वाले बीजेपी नेता उस वक्त क्यों चुप रहे जब महिला पुलिस अधिकारी ने सीनियर और एक महिला ने राज्य के मंत्री के विरुद्ध यातना की शिकायत दर्ज कराने के लिए सिर पटक लिया लेकिन भगवा ब्रिगेड की तिमारदार पुलिस ने कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं दिखाई। तिवारी ने कहा कि झलियामारी  कांड पर बीजेपी के नेताओं का क्या रुख था, यह बताने की आवश्यकता नहीं  है। कांग्रेस प्रवक्ता हरेराम तिवारी ने धरमलाल कौशिक पर निशाना साधते हुये कहा कि किसानों की हिमायत करने पंहुचे बीजेपी नेता ये क्यों नहीं  बताते कि उनके 15 साल के शासनकाल मे किसान आत्महत्या के मामलों मे प्रदेश भर मे छत्तीसगढ़ टॉप 5 मे क्यों रहा।किन कारणों से किसान अपनी ऊपज मवेशियों और सड़क पर फेंकने को मजबूर हुये।घोषणा के बावजूद तीन साल तक किसानों को बोनस राशि क्यों नहीं दी गई ? हरेराम तिवारी ने कहा कि गौशालाओं मे बिन चारा पानी गौहत्या के जिम्मेदार और गरीबों के चावल मे घोटाला करने वाली सरकार के नेता अब बेशरमी से जनता के हमदर्द बनने की अदाकारी दिखा रहे हैं। निर्दोष ग्रामीणों और हजारों जवानों की नक्सल हिंसा मे मौत पर सियासी रोटी सेंकने वाले प्रदेश को शांति का टापू बता रहे। तिवारी ने कहा कि नगरीय निकाय से लेकर पंचायत और विधानसभा तथा लोकसभा तक बीजेपी शासन काल मे केवल आर्थिक और सामाजिक भ्रष्टाचार हीहुये हैं। आज एक किसान मुख्यमंत्री जब ढाई करोड़ छत्तीसगढियों के लिए जमीन से जुड़ी कारगर योजनाओं पर काम कर रहा है तो जनता की नजर से उतरे विकल्पहीन विपक्षी नेता अपने दौर की बेहतरी का राग अलाप रहे हैं किंतु जनता ने 15  साल बीजेपी को परखा है और उसके बाद 2018 मे सोच समझ कर भाजपा को खारिज किया है। अब चाहे धरमलाल कौशिक चिल्ल -पों  करें या डॉ.रमन सिंह या फिर उनके अफसरछाप नेता , जनता को कांग्रेस के वादे पर यकीन है और इस वादे को निभाने की क्षमता सरकार मे है , इसलिए प्रदेश की आम जनता का समर्थन बीजेपी को दशकों तक हासिल होने वाला नहीं  है। कांग्रेस प्रवक्ता हरेराम तिवारी ने कहा कि हमारी सरकार पहले ही बगैर श्रेणी देखे सभी को पीडीएस राशन देने के फैसले पर अमल कर रही है और इसी तरह धान भी वादे के मुताबिक घोषित दर पर ही खरीदेगी।इसका लाभ भगवाधारी किसान भी समान रुप से ले सकेंगें ।

Munaadi AdMunaadi Ad
munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]