Saturday, September 21, 2019
Home > Raigarh > परीक्षा में पास होने की फीस मात्र 85 हजार, एसईसीएल द्वारा हो रही गैस टेस्टिंग परीक्षा, करोड़ो के लेन देन कि आशंका

परीक्षा में पास होने की फीस मात्र 85 हजार, एसईसीएल द्वारा हो रही गैस टेस्टिंग परीक्षा, करोड़ो के लेन देन कि आशंका

कोरिया से अनूप बड़ेरिया की मुनादी

कोरिया जिला मुख्यालय के चरचा कालरी में चल रहे एसईसीएल की गैस टेस्टिंग परीक्षा में परीक्षार्थियों को पास करने के एवज में मंगलवार को प्रति छात्र 85 हजार रुपए लेने की जानकारी मिल रही है। बताया जाता कि धनबाद से आए हुए एग्जामिनर लोगों ने पहले प्रति परीक्षार्थी डेढ़ लाख रुपए का सौदा किया था सौदा नहीं पटने पर एग्जामिनर कथित रूप से 85 हजार रुपए में मान गए। जो परीक्षार्थी पैसे दे रहे हैं उन्हें ही पास होने गारंटी दी जा रही है।
दरअसल डिप्लोमाधारी परीक्षार्थियों माइनिंग सरदार बनने के लिए गैस टेस्टिंग का प्रमाण पत्र जरूरी होता है इसके लिए एसईसीएल द्वारा चरचा कालरी में बीटीसी हो परीक्षा का सेंटर बनाया गया है जहां पर धनबाद से आए एग्जामिनर द्वारा स्थानी दलालों से मिलकर इस बड़े भ्रष्टाचार को अंजाम दिया जा रहा है। कुल मिलाकर 500 लोगों को इस परीक्षा में उत्तीर्ण किया जाना है। कुछ लोगों ने इसकी जानकारी एसईसीएल के उच्च अधिकारियों को विधि लेकिन किसी ने भी इस संबंध में संज्ञान नही लिया।

munaadi ad munaadi ad

2 thoughts on “परीक्षा में पास होने की फीस मात्र 85 हजार, एसईसीएल द्वारा हो रही गैस टेस्टिंग परीक्षा, करोड़ो के लेन देन कि आशंका

  1. This is totally fake news…the exam conducted by dgms is totally fair and transparent..pls Dont spread such fake news

  2. आरोप बिल्कुल असत्य नहीं है, गैस टेस्टिंग एग्जाम में, चली आरही धं।दली दिन मां दिन बढ़ते जा रही है। Dgms के पदाधिकारियों ने इस टेस्ट सर्टिफिकेट के बहाने करोड़ रुपये कमा रहे हैं। रेगुलेशन 21 /2017 के तहत जिनके पास गैस टेस्टिंग सर्टिफिकेट नहीं होगा, उन्हें रेस्त्तिक्टेड कटागोरी के तहत उभरमेन की सर्टिफिकेट दिया जाएगा। आरटीओ संस्था जैसा DGMS संस्था में भी दुर्नीति वंद होने का नाम नहीं ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *