Press "Enter" to skip to content

कोरोना का टीका शुरू होने से पहले ही भड़क गए स्वास्थ मंत्री के करीबी नेता, अस्पताल में ही लगे चिल्लाने, वीडियो हुआ वायरल तो सामने आए नेता जी, कहा-इसलिए किया हंगामा, बीएमओ ने कहा…ये केवल ..देखिये वायरल वीडियो, पढ़िए पूरी खबर

जशपुर मुनादी।। कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण के शुभारंभ के मौके पर जिले के पत्थलगांव सामदायिक अस्पताल में जमकर हंगामा हुआ। हंगामे का कारण ये था कि अस्पताल के डॉक्टरों ने इस मौके पर कांग्रेस के नेता और स्वायस्थ मंत्री टी एस सिंहदेव के काफी करीबी कहे जाने वाले पवन अग्रवाल को बुलाया ही नहीं था। बाकि लगभग सभी नेता और जनप्रतिनिधि पहुंच गए थे। यही बात पवन अग्रवाल को नागवार गुजरा और उन्होंने टीकारण शुरू होने से पहले ही अस्पताल में हंगामा खड़ा कर दिया।

पवन अग्रवाल ने मुनादी. कॉम को बताया कि कोरोना वैक्सीन वैन आने से लेकर टीकाकरण के शुभारंभ जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम में आने के लिए उन्हें न्योता देना तो दूर डॉक्टरों ने सूचना देना तक मुनासिब नहीं समझा। जनप्रतिनिधियों को दरकिनार करने के पीछे अस्पताल के अधिकारियों की क्या मंशा थी वो तो अस्पताल के लोग ही जानेंगे या अधिकारी जानेंगे। लेकिन ऐसे कृत्य से जनप्रतिनिधियों का अपमान होता है और अपमान बर्दाश्त कोई नहीं कर सकता। उन्होंने यह भी कहा है कि इस घटना को दूसरे तरीके से परोसा जा रहा है।

इधर इस मामले में जब पत्थलगांव के बीएमओ जेम्स मिंज से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि शुक्रवार को वैक्सीन का वैन आया था तब उसके स्वागत के लिए एसडीएम मुख्य रूप से उपस्थित थे। बाकी किसी को आने के लिए कहा या बोला नहीं गया था जिन जिन को सूचना मिली वो आते गए थे। टीकाकरण शुभारंभ कार्यक्रम में भी किसी को आमंत्रित नहीं किया गया था। किसी एक व्यक्ति को सभी तक जानकारी पहुंचाने की जिमेदारी दी गयी थी। हो सकता है उसने जानकारी नहीं दी हो। उन्होंने कहा कि विवाद का कारण मिसअंडरस्टैंडिंग है और कुछ नहीं।

आपको बता दें कि पवन अग्रवाल जिला काँग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष होने के साथ साथ शासन द्वारा चयनित माध्यमिक शिक्षा मंडल के सदस्य भी हैं। बहरहाल अस्पताल में हंगामे का कारण जो भी हो लेकिन इस घटना से स्थानीय पत्रकार भी नाराज हैं।पत्रकारो का आरोप है कि पवन अग्रवाल द्वारा हंगामा किये जाने के दौरान जब पत्रकार अपने मोबाइल से वीडियो बना रहे थे तब पवन अग्रवाल के डॉक्टर पुत्र ने पत्रकारों से मोबाईल छीन लिए और वीडियो को डिलीट कर दिया।

Munaadi Ad Munaadi Ad Munaadi Chhattisgarh Govt Ad

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *