Friday, June 5, 2020
Home > Surajpur News > Munaadi Breaking:- जिले में फिर बच्चों को मिलेगा 45 दिन का सूखा राशन, मंत्री जिला प्रतिनिधि ने कहा, गड़बड़ी की शिकायत पर होगी कड़ी कार्रवाई

Munaadi Breaking:- जिले में फिर बच्चों को मिलेगा 45 दिन का सूखा राशन, मंत्री जिला प्रतिनिधि ने कहा, गड़बड़ी की शिकायत पर होगी कड़ी कार्रवाई

सूरजपुर मुनादी ब्यूरो।।

Munaadi Ad

कोरोना संक्रमण काल में स्कूल के बच्चों को अब मई माह व 15 जून तक डेढ़ माह का ग्रीष्मकालीन मध्यान्ह भोजन, सूखे राशन के तौर पर दिए जाने के आदेश जारी हो गए है। प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह के निर्देश पर लोक शिक्षण संचालनालय रायपुर ने यह आदेश सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को जारी कर दिया है। मंत्री जिला प्रतिनिधि कुमार सिंहदेव ने बताया पिछली मर्तबा कुछ जगहों पर राशन वितरण के दौरान गड़बड़ी की शिकायत मिली थी, इसलिए इस आदेश में इस बात का ख्याल रखा गया है कि बच्चों को उच्च गुणवत्ता व निर्धारित मापदंडों के अनुरूप खाद्यान्न मिल सके। उन्होंने बताया की इस प्रकार की शिकायत पर अब कड़ी कार्रवाई भी किये जाने के निर्देश जारी कर दिए गए है।

कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए प्रदेश सरकार ने प्रदेश की सभी शालाओं को आगामी आदेश तक बंद रखने का निर्देश दिया है, ऐसे हालात में उन्हें गरम पका हुआ भोजन दिया जाना संभव नहीं है। इसलिए प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह के निर्देश पर लोक शिक्षण संचालनालय ने मई माह के साथ आगामी 15 जून तक ग्रीष्म अवकाश के दौरान के मध्याह्न भोजन को सुखा राशन के तौर पर वितरण करने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश जारी कर दिया है। इसके पूर्व जिले के सभी बच्चों को अप्रैल माह के मध्याह्न भोजन को सुखा राशन के तौर पर वितरण किया गया था। जिला शिक्षा अधिकारी सूरजपुर को जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि बच्चो को चावल के साथ दाल, तेल व सुखी सब्जी का वितरण किया जाना है। पिछली मर्तबा बच्चों को कुछ जगहों पर निम्न गुणवत्ता के साथ निर्धारित मात्रा से कम राशन दिए जाने की शिकायत मिली थी, इसलिए इस आदेश में यह स्पष्ट निर्देश है कि सूखा राशन में चावल, दाल, तेल की मात्रा निर्धारित मात्रा से कम न हो एवं राशन उच्च गुणवत्ता की हो। जिसकी अलग-अलग पैकिंग सीलबंद करते हुए प्रत्येक छात्र के अनुरूप पैकेट बनाये जाए और इसकी बकायदा पैकिंग से पूर्व व पश्चात फोटोग्राफी भी कराई जाए। इन मानकों का ध्यान देते हुए बच्चों में इस राशन का वितरण किया जाये।

45 दिनों के राशन की मात्रा निर्धारित

लोक शिक्षण संचालनालय से जारी आदेश के अनुसार प्राथमिक शाला के प्रत्येक बच्चे को 45 दिन के अनुसार एक साथ चावल 4500 ग्राम, दाल 900 ग्राम, आचार 300 ग्राम, सोयाबड़ी 450 ग्राम, तेल 225 ग्राम, नमक 250 ग्राम वितरित किया जाएगा। इसी प्रकार माध्यमिक या अपर प्राथमिक शाला में प्रत्येक छात्र को 45 दिन के अनुसार चावल 6750 ग्राम, दाल 1350 ग्राम, आचार 450 ग्राम, सोयाबड़ी 675 ग्राम, तेल 350 ग्राम व नमक 375 ग्राम वितरित किया जाना है।

गड़बड़ी पर होगी कड़ी कार्रवाई

” पिछली मर्तबा बच्चों को अप्रैल माह का सूखा राशन वितरित किया गया था। जिसमें कुछ जगहों से बच्चों को निम्न गुणवत्ता के साथ निर्धारित मात्रा से कम मात्रा में राशन वितरण की शिकायत आई थी। जिसे प्रदेश के शिक्षामंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह ने काफी गंभीरता से लिया है। इन्हीं शिकायतों को देखते हुए इस बार अलग-अलग सामग्री को अलग-अलग पैकेट में सीलबंद करते हुए वितरण करने का निर्देश दिया गया है। जिसकी बकायदा फोटोग्राफी भी कराई जा रही है। यह सब सिर्फ इसलिए किया जा रहा है कि बच्चों के राशन में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी न मिले। यह वितरण माह मई व 15 जून तक का है। इसमें किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। “
कुमार सिंहदेव
मंत्री जिला प्रतिनिधि
सूरजपुर

Munaadi Ad
Devendra Singh
Cluster Editor Surguja Region

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *