Sunday, January 26, 2020
Home > Top News > छ.ग.टीचर्स एसोसिएशन ने की जिला निर्वाचन से व्यवस्था में सुधार की मांग …..पढ़िए पूरी खबर इन सारी व्यवस्था में चाहते हैं बदलाव …….

छ.ग.टीचर्स एसोसिएशन ने की जिला निर्वाचन से व्यवस्था में सुधार की मांग …..पढ़िए पूरी खबर इन सारी व्यवस्था में चाहते हैं बदलाव …….

डोंगरगढ़ मुनादी।

त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन को शांतिपूर्ण व निष्पक्ष रूप से कराने के लिए निर्वाचन में मतदान में लगें पीठासीन अधिकारियों व मतदान अधिकारीयो की भूमिका महत्वपुर्ण होती है, परन्तु उन कर्मचारियो को कोई सुविधा नही दिया.जाता बल्कि निर्वाचन में लगने के बाद प्रशिक्षण ,सामान वितरण,सामान करते समय व लाने ले जाने वाले वाहनो में जानवरो की तरह ठूस- ठूसकर भर दिया जाता है,साथ ही बूथ में पर्याप्त सुविधा नही रहने के कारण दल को मुसिबत का सामना करना पड़ता है, इन विपरित पलिस्थितियो में जुझते हुए अधिकारी व कर्मचारी निष्पक्ष निर्वाचन करने में शासन प्रशासन द्वारा दी गई चुनौती भरे कार्य को सफलता पूर्वक सम्पन्न कराते हैं,परन्तु फिर भी इन असुविधा का प्रतिकार नही करते, प्रशिक्षण के दौरान इन शिक्षको क पानी तक नसीब नही होता,
संघ के जिलाध्यक्ष गोपी वर्मा व सचिव जीवन वर्मा ने कहां की राज्य निर्वाचन व जिला निर्वाचन को विर्वाचन कार्य में लगे कर्मचारियो की सुविधाओ व सामान लेने व जमा करते तक कोई अप्रिय घटना ना हो इस बात का विशेष ध्यान देने की जरूत है ,

Munaadi AdMunaadi Ad

संघ ने पारिश्रमिक बढ़ाने की मांग कि -जिलाध्यक्ष गोपी वर्मा नें बताया कि निर्वाचन कार्य बेहद कठिन व संवेदनशील कार्य है,उक्त कार्य के लिए प्रशिक्षण से लेकर संपूर्ण प्रक्रिया को पूरा करने मे लगभग पांच दिन लग जाते है,वर्तमान में जो पारिश्रमिक दिया जाता है वह बहुत ही कम है, राशी(मानदेय) बढ़ाये जाने की आवश्यकता है,संघ मांग किया है,

संघ के जिलाध्यक्ष गोपी वर्मा व मीडिया प्रभारी देवेंद्र साहू ,मनोज वर्मा बिरेन्द्र रंगारी ने बताया कि जिले के पूरे 09 विकासखंड में पंचायत चुनाव तीन चरणों में होगा। इसके लिए भारी मात्रा में शिक्षकों सहित अन्य कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। जिसमें पीठासीन अधिकारी से लेकर मतदान अधिकारी के रूप में लगाई गई है,जिसमे प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों को दूसरे विकासखंड भी भेजा जा रहा है। प्रशिक्षण के लिए कर्मचारियों को परेशान होना पड़ेगा। क्योंकि वहां पर जाकर वापस आने के लिए कोई साधन समय पर नहीं मिलेगा। इस कड़ाके की ठंड में दूरस्थ स्थान पर प्रशिक्षण में भेजने से भारी परेशानी होगी। पूर्व में स्थानीय विकास खंड में ही प्रशिक्षण आयोजित किया जाता था और कर्मचारी केवल सामग्री उठाने के लिए उस विकासखंड में जाते थे। जहां उनकी ड्यूटी लगी होती है। लेकिन इस बार निर्वाचन कार्यालय की ओर से कर्मचारियों को परेशान करने के लिए अन्य विकासखंड में प्रशिक्षण लेने के लिए आदेशित किया गया है।

संघ पदाधिकारी ज्ञानेन्द्र रामटेके ,रूपेन्द्र नंदे,कमलेश्वर देंवागन,महेश ऊइके,बृजेश वर्मा हंस मेश्राम,चुनलेश साहू,सुकालू वर्मा, जयनरायण तिवारी,चेतन भूवार्य ,रविन्द्र रामटेके,सुरेन्द्र सान्डे ,सुनील शर्मा ,पंचशीला सहारे ,ललीता कनौजे ,श्रीहरी,जितेन्द्र पटेल, निर्मला कसारे ,संजय राजपूत,अनुराग सिंह ,गिरीश हिरवानी,अनिल शर्मा ,दिनेश कुरैटी,मनीष पसीने नें जिला निर्वाचन से मांग किया है निर्वाचन कार्य में संलग्न अधिकारियो व कर्मचारियो को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराया जाय,ताकि निश्चिंत रहकर अपने कर्तब्यो का निर्वाहन कर सके,और जिले मे निष्पक्ष निर्वाचन को सम्पादित करा जिले को प्रदेश में अग्रणीय बनाया जा सकें,

munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]