Home > मुद्दा

Munaadi Breaking:-सूरजपुर व बलरामपुर जिले में हाथी की मौत की जांच के लिए कल केंद्रीय दल पहुंचेगा अम्बिकापुर, हाथियों की मौत की रिपोर्ट जाएगी दिल्ली, करंजवार में हाथी की मौत, जांच में शामिल नही ?

सरगुजा संभागीय ब्यूरो।। प्रदेश में हाथियों की मौत को लेकर केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के निर्देश पर कल अम्बिकापुर में केंद्रीय दल पहुंच रहा है। केंद्रीय टीम में नेशनल एलिफेंट प्रोजेक्ट के को-ऑर्डिनेटर व साइंटिस्ट है, जो सूरजपुर सहित बलरामपुर में हाथियों की मौत पर विभिन्न पहलुओं

Read More

Munaadi Breaking:-सिमट रहा है ‘बांकी गजदल’ का ‘कुनबा’ ? इस दल के एक हाथी ने खुद को कर लिया ‘आइसोलेट’, कहीं संभावना इसकी तो नहीं…?

सूरजपुर मुनादी ब्यूरो।। प्रतापपुर-राजपुर क्षेत्र में भ्रमण करने वाला "बांकी हाथीदल" का 'कुनबा' अब सिमट रहा है ? कुछ दिन पहले ही इस दल की तीन हथिनी की मौत सूरजपुर व बलरामपुर वनमंडल में हुई थी, जबकि करंजवार में मृत मिले एक अन्य हाथी के शव को इस दल के होने

Read More

Munaadi Breaking:-एक माह पूर्व करंजवार के जंगल में मिला हाथी का सड़ा-गला शव ‘बांकी-गजदल’ का चौथा मृत सदस्य तो नहीं ? विभाग के आला अधिकारियों ने क्यों नजर अंदाज किया इस घटना को…!!!

सूरजपुर मुनादी ब्यूरो ।। मुकेश गोयल 11 मई को प्रतापपुर रेंज मुख्यालय से महज 4 किमी दूर मिले हाथी के सड़े शव को लेकर अब यह संभावना जताई जा रही है कि यह हाथी, 'बांकी-गजदल' का वहीं 'गुमशुदा' सदस्य हो सकता है ? जिसे मीडिया ने सामने लाते हुए हाथियों की

Read More

Munaadi Breaking:- “मुनादी”की खबर का असर, वन विभाग ने रोका डब्लूआईआई का 1 करोड़, विभाग ने संस्था को दिखाया बाहर का रास्ता, लेकिन 2 करोड़ के भुगतान पर भी सवाल…?

सरगुजा संभागीय ब्यूरो।। "मुनादी" की खबर का हुआ असर...!!! छत्तीसगढ़ के उत्तरी क्षेत्र में हाथियों के संरक्षण व संवर्धन पर कार्य करने वाली संस्था भारतीय वन्य जीव संस्थान देहरादून को छत्तीसगढ़ वन विभाग ने अपने कार्यक्रम से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। विभाग ने इस संस्था की 1 करोड़

Read More

Munaadi Breaking:-‘मुनादी’ की खबर पर लगी मुहर, डब्लूआईआई संस्था छका रही है विभाग को, प्रदेश के वनमंत्री के हस्तक्षेप के बाद शुरू हुआ ‘आपरेशन आत्मनिर्भर’, जानिए पूरी खबर…!!!

सरगुजा संभाग ब्यूरो।। "मुनादी" द्वारा उत्तर छतीसगढ़ में हाथियों के विचरण व इससे जुड़ी जानकारी से हाथी प्रभावित क्षेत्र में कार्य कर रही बाहरी एजेंसी डब्लूआईआई देहरादून की कार्यशैली पर उठाए गए सवाल पर मुहर लग गई है। कल विभाग द्वारा कोरबा वनमंडल में सफल 'प्रथम' आपरेशन से इस बात की

Read More

लॉक डाउन और “मैं” : लॉक डाउन में हताश निराश लोग इस लेख को जरूर पढ़ें ,यकीन मानिए नयी ऊर्जा मिलेगी ,तो क्लिक कीजिए और बढिये ……

जीवन में जब मनुष्य विपरीत परिस्थितियों से गुजरता है तो अक्सर जाने या अनजाने में वह नकारात्मक विचारों के घेरे में फँस-सा जाता है। ऐसे में अक्सर होने वाले , बनने वाले काम भी बाधित होने लगते हैं और मनुष्य अनजाने भय व निराशा के घेरे में घिरता चला जाता

Read More

Munaadi Breaking:- मंदिर में रुके प्रवासी मजदूरों के द्वारा भोजन को लेकर लगाई जा रही थी गुहार….. दो आरक्षक फ़रिश्ते बनकर आए सामने।

सूरजपुर।। मुनादी ब्यूरो देशभर में लॉकडाउन की वजह से इन दिनों प्रवासियों मजदूरों का हाल बेहाल हो चुका है लोग लगातार पैसे की कमी व बदहाली का जीवन से तंग आकर अपने गृह ग्राम हेतु साधन नहीं मिलने से इन दिनों पैदल ही सफ़र करना मुनासिब समझ रहे हैं। और लगातार

Read More

Munaadi Breaking:-सरगुजा सर्किल में अध्ययन के लिए हाथी पर लगाए गए लगभग सभी रेडियो कॉलर गिरे…..हवा में अध्ययन कर रही है संस्था ? अध्ययन की उपयोगिता पर उठे सवाल

ग्राउंड जीरो से मुकेश गोयल की खास रिपोर्ट मुनादी ने लगातार दूसरे दिन 26 अप्रैल के अंक में प्रमुखता से उठाया हाथियों के व्यवहार में परिवर्तन का दावा प्रतापपुर मुनादी।। उत्तर छत्तीसगढ़ में हाथियों पर शोध करते हुए बेहतर प्रबंधन की रिपोर्ट देने के लिए छत्तीसगढ़ वन विभाग से करार

Read More

Munaadi Breaking:-कोरोना काल ने हिन्दू मान्यता के इस संस्कार को भी बदल कर रख दिया है…..मजबूरी में करना पड़ रहा है यह विधान

मुकेश गोयल की खास रिपोर्ट प्रतापपुर मुनादी ।। हिन्दू मान्यता के अनुसार किसी इंसान के दाह संस्कार उपरांत अस्थि का विसर्जन गंगा नदी के तट पर किया जाता है। कोरोना के कहर ने इंसान से यह हक भी छीन लिया है। अब प्रतापपुर नगर सहित आसपास क्षेत्र के लोग अपने

Read More

Munaadi Breaking:-साल भर के दाना-पानी का जुगाड़ करना है, हमें घर छोड़ दिया जाए साहब….तब एसडीएम ने कही ये बात

मुकेश गोयल की रिपोर्ट प्रतापपुर मुनादी।। जजावल कैम्प में शरण दिए गए झारखंड के 97 मजदूर अब हताश होने लगे है। पहले राजनांदगांव और अब जजावल में दो बार क़्वारेंटाइन की अवधि पूर्ण कर रहे मजदूरों को अब खेती की चिंता सताने लगी है। वे लगातार अपने क्षेत्र के प्रधान,

Read More