Sunday, April 21, 2019
Home > Top News > 15 फरवरी को तय होगा भाजपा का नया प्रदेशाध्यक्ष, पार्टी की शर्त, संगठन की जेम्मेदारी या …….. विष्णुदेव साय पीछे खिसके

15 फरवरी को तय होगा भाजपा का नया प्रदेशाध्यक्ष, पार्टी की शर्त, संगठन की जेम्मेदारी या …….. विष्णुदेव साय पीछे खिसके


रायपुर मुनादी ।।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष का निर्णय अंततः 15 फरवरी को होने की संभावना बलवती है। यह माना जा रहा था कि रायगढ़ सांसद व छत्तीसगढ़ के एक मात्र केंदीय मंत्री विष्णुदेव साय को यह पद दिया जाएगा लेकिन कहा जा रहा है कि पार्टी आलाकमान ने इस पद के साथ यह शर्त रखी है कि इस जिम्मेदारी के बाद कोई टिकट नहीं मिलेगी, ऐसे में विष्णुदेव साय असमंजस में हैं और संभवतः रेस होने से पहले ही खुद को किनारे करने की कोशिश में जुट गए हैं।

छत्तीसगढ़ के कार्यकर्ताओं ने पिछले दिनों दिल्ली में हुई बैठक में 8 सांसदों के बारे में कथित रूप से नाराजगी जाहिर की थी और कहा था कि इनके खिलाफ एंटी इनकंबेंसी है। यदि इन्हें टिकट दी गई तो जीतना मुश्किल है। ऐसे में पार्टी आलाकमान सजग है। पिछले चुनाव में सर्वे को दरकिनार कर टिकट वितरण करना पार्टी को काफी महंगा पड़ा था ऐसे में लोकसभा के लिए वह फूंक फूंक कर कदम उठा रही है। विष्णुदेव साय यहां से 4 बार से सांसद हैं और इस बार भी पूरे जोर शोर से मैदान में उतारना चाहते है लेकिन खबर है कि यदि इन्हें प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया तो पार्टी टिकट नहीं देगी, ऐसे में साय कोई रिस्क लेना नहीं चाहते। साय का यह मानना है कि माहौल चाहे जैसा है टिकट मिली तो वे जीत जाएंगे।

यदि विधानसभा चुनाव के आंकड़े देखें तो इस बार कांग्रेस का पलड़ा भारी दिखता है। जशपुर जैसे भाजपा के गढ़ से पार्टी का तंबू उखड़ चुका है। पूरे लोकसभा सीट से लगभग 2 लाख वोटों का गड्ढा है जिसे भरना बड़ा मुश्किल होगा। हालांकि भाजपा समर्थकों का कहना है कि विधानसभा और लोकसभा चुनाव में वोटर्स का मूड अलग अलग होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *