Thursday, April 25, 2019
Home > Jashpur > जशपुर की इस बिटिया का पूरी दुनियां में बज रहा डंका…..पढिये, इस बिटिया के शानदार सफरनामे की पूरी दास्ताँ…….

जशपुर की इस बिटिया का पूरी दुनियां में बज रहा डंका…..पढिये, इस बिटिया के शानदार सफरनामे की पूरी दास्ताँ…….

जशपुर मुनादी।।

जशपुर अंचल की बेटी प्रत्यक्षा सिन्हा उर्फ मनु फैशन डिजाइनिंग के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ का नाम देश की राजधानी दिल्ली में रोशन कर रही है। प्रत्यक्षा सिन्हा जशपुर जिले की पहली फैशन डिज़ाइनर है, जिसने जशपुर से दिल्ली तक का सफर बड़ी सफलता के साथ तय किया है। गत 18 मार्च को इंडिया फैशन वीक, लोटस मेकअप इंडिया फैशन वीक दिल्ली में प्रत्यक्षा के डिजाइन का प्रदर्शन हुआ। इस कार्यक्रम में सबसे बेस्ट प्रदर्शन प्रत्यक्षा के डिजाइन को माना गया। यह काउंसिल ऑफ इंडिया एफडीसीआई का सबसे बड़ा फैशन शो था। प्रत्यक्षा ने बताया कि उसने यह सफर जशपुर जैसे छोटे शहर से प्रारंभ किया था। उसने बताया कि उसके सारे डिजाइन छत्तीसगढ़ के बुनाई शिल्प से जुड़े हुए रहे हैं। इसे देवांगन जाति के लोग सालों से कर रहे हैं। कोसा सिल्क को वह बढ़ावा देना चाहती है, जिसकी प्रेरणा रायगढ़ और चंद्रपुर से मिली। चंद्रपुर के प्रकाश देवांगन के साथ मिलकर सारे कपड़ों की बुनाई की गई और देश के सबसे बड़े फैशन शो में इसका प्रदर्शन हुआ। प्रकाश देवांगन ने प्रत्याक्षा के डिजाइन को स्वरूप देने में मदद की। वह चाहती है कि छत्तीसगढ़ के साथ ही पूरे देश की विभिन्न क्षेत्रों में लुप्त हो रहे क्राप्ट को नए तरीके से डिजाइन कर वह राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रखें और नई पहचान दे। वर्तमान में प्रत्यक्षा पर्ल अकैडमी दिल्ली की फाइनल ईयर की स्टूडेंट है और लगभग एक माह में उसके कोर्स भी कम्पलीट हो जाएंगे। उल्लेखनीय है कि पर्ल एकेडमी फैशन डिजाइनिंग के क्षेत्र में देश के नम्बर वन एकेडमी की श्रेणी में मानी जाती है। यहां तक का सफर आसान नहीं था, लेकिन कुछ कर गुजरने की चाहत और क्षेत्रीय डिजाइन को विशेष पहचान दिलाने की चाह ने प्रत्यक्षा के लिये इस सफर को आसान बना दिया है। प्रत्यक्षा ने बताया कि बचपन से उसे कला के क्षेत्र में अभिरूचि थी और पिता जर्नादश्न सिंन्हा और मां अनुमाला सिन्हा ने हर उस चीज के प्रति प्रोत्साहित किया, जिसमें प्रत्यक्षा की रूचि थी। प्रत्यक्षा की छोटी बहन समीक्षा भी बडी बहन से प्रेरित होकर कुछ अलग करना चाहती है। प्रत्यक्षा सिन्हा ने बताया कि वह कामर्स विषय में केंद्रीय विद्यालय जशपुर से कक्षा 12वीं उत्तीर्ण करने के बाद रांची में अध्ययन की और कलकत्ता में इंटरेंस एग्जाम देने के बाद फैशन डिजाइनिंग के लिए चयनित हुई।

नामी मॉडल कर रहे पसंद

प्रत्यक्षा के डिजाइन केा अब देश के नामी मॉडल भी पसंद कर रहे हैं। मार्च में हुए इंडिया पैशन वीक में देश की नामी मॉडल कानन कुमार ने प्रत्यक्षा के डिजाइन को पेश किया। वहीं दूसरे क्रम में प्रसिद्ध मॉडल गरिमा चौहान ने भी प्रत्यक्षा के डिजाईन को इंडिया फैशन वीक में प्रजेंट किया, जिसकी खूब सराहना हो रही है। प्रत्यक्षा बताती है कि उसे विश्वास है कि एक दिन वह छग के कोशा शिल्प सहित यहां की संस्कृति से जुडे कपडों, क्राप्ट को लेकर अंतराष्ट्रीय स्तर की मॉडल के माध्यम से अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी रखेगी, जिसके लिए वह रात, दिन कडी मेहनत कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *