Press "Enter" to skip to content

जशपुर में रावण वध से पहले रावण को लेकर शुरू हुआ अजीबो गरीब विवाद, यहाँ चल रहा है रावण v/s काँग्रेस विधायक ……पढ़िये पूरी खबर जानिए क्या है पूरा माजरा

जशपुर मुनादी ।। जशपुर में “रावण वध”,से पहले रावण वध को लेकर बवाल खड़ा हो गया है । बताया जा रहा है कि कुनकुरी के सनातन धर्म समिति के द्वारा इस बार रावण वध के लिए कुनकुरी विधायक यू डी मिंज को मुख्य अतिथि बनाकर नया और बड़ा बखेड़ा कर दिया है ।

समिति के इस फैसले से कुनकुरी नगर दो खेमे में बंट गया है ।एक खेमा जो यूडी मिंज द्वारा रावण वध किये जाने के विरोध में सोशल मीडिया में खुलकर विरोध जता रहा है तो दूसरा खेमा विधायक के समर्थन में खड़ा हो गया है।

दूसरे खेमे की बात न करके हम केवल सनातन धर्म समिति की ही बात करे तो समिति और समिति के अध्यक्ष विधायक युडी मिंज को मुख्य अतिथि बनाने के लिए अपने फैसले पर अड़े हैं वहीं कुछ लोगो का कहना है कि समिति ने भारी भरकम चंदा के चलते समिति की मर्यादा को भूलकर गैर हिन्दू जनप्रतिनिधि को रावण वध करने का हक़ सौंप दिया है जो पूरी तरह गलत है ।

सोशल मीडिया के जरिये बताया जा रहा है कि विधायक ने सनातन धर्म समिति को सबसे ज्यादा चंदा दिया है इसलिए समिति द्वारा रावण वध कार्यक्रम का मुख्य अतिथि विधायक यूडी मिंज को बनाया गया है ।इनका कहना है कि सनातन धर्म से जुड़े किसी सनातनी व्यक्ति को ही रावण वद्ध करने का हक देना चाहिए ।

लेकिंन सनातन धर्म समिति के अध्यक्ष की राय में यह कत्तई गलत नहीं है ।समिति के अध्यक्ष ओम शर्मा का कहना है कि रावण किसी जाति नहीं बल्कि बुराई का प्रतीक है । दूसरी बात यह कि यह कोई पहली दफा ऐसा नहीं हो रहा है ।शुरू से ही कुनकुरी खेल मैदान में रावण वध स्थानीय विधायक से ही करवाया जाता रहा है इसी क्रम में 2019 और 2020 में भी विधायक यूडी मिंज ही मुख्य अतिथि रहे लेकिन तब किसी ने विरोध नहीं किया ।तब भी समिति के माननीय सदस्यों की सहमति थी और इस बार भी समिति के सारे सदस्यों की राय से उन्हें मुख्य अतिथि बनाया गया है ।समिति के सदस्यों की सहमति के बगैर किसी भी निर्णय पर नहीं पहुंचा जा सकता ।समिति के सदस्यों की इसमें पूरी सहमति है ।जो विरोध कर रहे हैं उन्होंने पहले विरोध क्यों नहीं किया था और इस वर्ष क्यों विरोध कर रहे हैं यह बात समझ से परे है । अध्यक्ष ओम शर्मा ने कहा कि अगर भारी भरकम चंदे के चलते किसी को मुख्य अतिथि बनाया जाता तो फिर मुख्य अतिथि बनने की बोली लगनी शुरू हो जाएगी ।

सनातन धर्म समिति और स्थानीय लोगो के बीच विधायक को लेकर शुरू हुए विवादों को भाजपा के लोग हवा देने में लग गए हैं । भाजपा इस पूरे मुद्दे को हिन्दू बनाम गैर हिन्दू बनाने में लगी हुई है ।भाजपा को पता है कि यह मामला जितना गर्म होगा उतना ही उन्हें इसका राजनीतिक लाभ मिलेगा । इसलिए भाजपा प्रत्यक्ष और परोक्ष दोनो तरफ से इस मुद्दे को हवा देने में जुट गई है।

Munaadi Ad Munaadi Ad

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *