Sunday, July 5, 2020
Home > Top News > घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए सरकार लायेगी एनआरसी पर विधेयक-गृह मंत्री शाह

घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए सरकार लायेगी एनआरसी पर विधेयक-गृह मंत्री शाह

घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए सरकार लायेगी एनआरसी पर विधेयक-गृह मंत्री शाह

कोलकाता : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के के राष्ट्रीय अध्यक्ष और देश के गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि घुसपैठियों को देश से खदेड़ने के लिए केंद्र सरकार राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) विधेयक लायेगी. उन्होंने कहा कि देश से घुसपैठियों को खदेड़ा जायेगा और किसी भी नागरिक को किसी तरह की परेशानी नहीं होगी.

कोलकाता में एनआरसी पर आयोजित एक संगोष्ठी में श्री शाह ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के बाद उनकी पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आयेगी. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के लिए हर जगह लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा कर रहे हैं.

Munaadi Ad

उन्होंने कहा कि राज्यों में एनआरसी लागू करने से पहले केंद्र सरकार नागरिक (संशोधन) विधेयक लायेगी. श्री शाह ने कहा कि बंगाल में एनआरसी के नाम पर लोगों को गुमराह किया जा रहा है. कहा कि सभी घुसपैठियों को देश से बाहर किया जायेगा, लेकिन देश के नागरिकों को डरने की जरूरत नहीं है.

श्री शाह ने कहा, ‘किसी को डरने की जरूरत नहीं है. सभी लोगों को देश की नागरिकता मिलेगी. उन्हें देश नहीं छोड़ना नहीं पड़ेगा. मैं सभी हिंदू, बौद्ध, सिख, जैन शरणार्थियों को आश्वस्त करता हूं कि उन्हें देश छोड़ना नहीं पड़ेगा, उन्हें नागरिकता मिलेगी.’

गृह मंत्री ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान के कारण पश्चिम बंगाल भारत का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि सभी घुसपैठियों को देश से बाहर निकाल दिया जायेगा. अमित शाह की कोलकाता यात्रा के दौरान तृणमूल कांग्रेस को बड़ा झटका लगा. तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, विधायक और विधाननगर नगर निगम के पूर्व महापौर सव्यसाची दत्त कोलकाता में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गये.

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने एनआरसी पर आयोजित एक संगोष्ठी में दत्त को पार्टी का झंडा सौंपा. शाह ने संगोष्ठी की अध्यक्षता की. बाद में शाह ने दत्त का पार्टी में स्वागत किया. दत्त ने कहा, ‘मेरे लिए देश और उसके हित व्यक्तिगत या किसी पार्टी के हितों से काफी बड़े हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने नयी ऊंचाई हासिल की है.’

सव्यसाची दत्त ने इस साल जुलाई में मेयर पद से इस्तीफा दे दिया था. उनका तृणमूल कांग्रेस के सर्वोच्च नेतृत्व के साथ टकराव चल रहा था. माना जा रहा है कि तृणमूल कांग्रेस के कद्दावर नेता सव्यसाची दत्त तृणमूल छोड़कर भाजपा में आये मुकुल रॉय के करीबी माने जाते हैं.

Munaadi Ad
Devendra Singh
Cluster Editor Surguja Region

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *