Wednesday, February 26, 2020
Home > Raigarh > अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन की प्रादेशिक सम्मेलन …..20 से अधिक …..धर्म से बड़ा कर्म ……इनकी रही सारगर्भित उद्बोधन …..खास ये था कि महिलाओं के इस अधिवेशन में …..पढें पूरी खबर

अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन की प्रादेशिक सम्मेलन …..20 से अधिक …..धर्म से बड़ा कर्म ……इनकी रही सारगर्भित उद्बोधन …..खास ये था कि महिलाओं के इस अधिवेशन में …..पढें पूरी खबर

रायगढ़ मुनादी।

अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती रेखा महमिया के द्वारा होटल अंश में प्रादेशिक अधिवेशन प्रियांश आमंत्रित की थी । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती उषाकिरण टीबरेवाल और मुख्य अतिथि की आसंदी पर द्रोपति फाउंडेन्स के चेयर पर्सन रामदास अग्रवाल, वही कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती रेखा महमिया के द्वारा किया गया । कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ प्रदेश के 29 शाखाओं में से 20 शाखाएं अधिवेशन में उपस्थित रही । अग्रवाल महिलाओं के इस महाकुंभ में विविध कार्यक्रम आयोजित था ।

कार्यक्रम का श्रीगणेश पदयात्रा से

अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन रायगढ़ जोन जूटमिल , सारंगढ़ शाखा और कोरबा शाखा के आतिथ्य पर महमिया LG शो रूम कार्मेल स्कूल से जन जागरूकता ,सद्भावना पदयात्रा मुख्य अतिथि राष्ट्रीय अध्यक्ष उषा किरण टीबरेवाल और रामदास जी अग्रवाल , श्रीमती रेखा महमिया के साथ ही साथ प्रदेश के 20 शाखाओं की 200 महिलाओं के द्वारा जन जागरूकता पदयात्रा निकाली गई । पदयात्रा का विशेष आकर्षण करमा नृत्य था , जो धीरे-धीरे होटल अंश पहुंची । जहां अतिथियों का आतिथ्य शाखा द्वारा रोली लगा , पुष्पगुच्छ देकर आत्मीय सम्मान किया गया । सम्मान उपरांत अतिथियों को कार्यक्रम स्थल ले जाया गया ।

अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित दुपट्टा से सम्मान

होटल अंश के सभागार में मुख्य अतिथि उषा किरण टीबरेवाल , रामदास अग्रवाल , युवा विधायक प्रकाश नायक , इस्पात टाइम्स के संपादक प्रमोद अग्रवाल , बाबूलाल अग्रवाल , मुकेश अग्रवाल कालोनिरीया , दीपक डोरा आयरन लेडी रितू रूगटा ,रोटेरियन प्रितपाल जी,लॉयनेस सरोज जी ,आशा रानी सती दादी ,इंडियन स्कूल डिरेकटर रीटा जी ,सीमा लेन्ध्रा के साथ ही साथ अन्य अतिथियों ने मंच पर दीप प्रज्वलित किए । तदुपरांत गणेश वंदना का शुभारंभ हुआ । मंचस्थ अतिथियों को प्रदेश पदाधिकारियों के द्वारा दुपट्टा ओढ़ा , मैंमोंटू प्रदान कर स्वागत किया गया । साथ ही साथ प्रार्थना , उपरांत स्वागत गीत की प्रस्तुति स्वागतेय अतिथियों के लिए किया गया ।

अभामा महिला सम्मेलन के प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती रेखा महमिया ने अपने उद्बोधन में अपने अध्यक्षीय कार्यकाल के दो नहीं अपितु 4 वर्ष के अनुभव और किए हुए कार्यों की जानकारी मंच में दी । उन्होंने बताया कि दिव्यांग बच्चों की शादी , अनाथ बच्चियों की शादी , महिला स्व सहायता समूह को लघु उद्योग के लिए प्रेरित करना , स्कूलों को वाटर कूलर , नैपकिन पैड मशीन लगवाना , कपड़ा वितरण और कंबल बटवाना , प्रौढ़ शिक्षा , गरीब बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाना , गोबर से कंडा बनाने की मशीन लगवाना । अंगदान जन जागरूकता रैली छत्तीसगढ़ ने एक ऐसा रिकॉर्ड कायम किया जिसकी तारीफ पूरे राष्ट्र में है । कोरबा शाखा ने राष्ट्रीय स्थान पर प्रथम स्थान प्राप्त किया , जिनकी रैली 7 सौ 50 लोगों की थी , वहीं ग्रामीण क्षेत्र में सारंगढ़ शाखा की रैली विशेष सराहनीय रही । जिसके लिए मोहन फाउंडेशन के द्वारा संस्था को सम्मानित किया गया । नेत्रदान में छत्तीसगढ़ ने अच्छा कार्य किया और भविष्य में अंगदान के प्रति भी अच्छे कार्य करेंगे मुझे यह उम्मीद है ।

कार्यकलापों से बनती पहचान- नायक

रायगढ़ के युवा और जनप्रिय विधायक प्रकाश नायक ने कहा कि 21 तारीख चुनाव की व्यस्तता और रात 3 बजे सोने के कारण कार्यक्रम में लेट पहुंचा । मुझे ध्यान था , मैं जानता हूं कि यह सत्य है कि – किसी भी समाज सेवी संस्था की पहचान एवं छवि उसके कार्यकलापों से प्रत्यक्ष रूप से संबंधित है । जो संस्था जितना एक्टिव होगी उसकी पहचान क्षेत्र में , जिले में और राज्य में उतनी ही होगी । नायक ने कहा कि हर माता-पिता की इच्छा होती है कि- वह अपनी संतानों को अच्छा पढ़ा लिखा कर अपने जीवन काल में समय पर उनकी शादी कर देवें । जैसे-जैसे बेटी बढ़ती जाती है , वैसे-वैसे उनकी माता पिता की चिंताएं भी बढ़ने लगती है । बेटी की शादी करने के बाद उनके माता-पिता कुछ हद तक अपने आप को पितृ ऋण से उऋण महसूस करते है । लड़कियों के विवाह में जो रेखा जी ने अनाथालय में सकारात्मक कार्य कियें उसे कतई नहीं भूल पाएंगे । मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप की शाखा,संस्था ऐसे ही सहभागिता के अनुकरणीय कार्यों में आगे रहेगी ।

प्रादेशिक मारवाड़ी महिला सम्मेलन के द्वारा आयोजित अधिवेशन में एक्ट राग एवं जैन ग्रुप के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति की गई । बांकीमोगरा शाखा का मोबाइल एक अभिशाप पर दी गई , एकांकी की प्रस्तुति सराहनीय रहा । वही पूजा एंड ग्रुप एक्ट मोबाइल हुआ हैवान की प्रस्तुति ने कार्यक्रम की गरिमा को चार चांद लगा दिया । छत्तीसगढ़ी डांस पर स्कूली छात्राओं की जो प्रस्तुति रही वह छत्तीसगढ़ के संस्कृति और संस्कार को जीवंत बना दिया । इसी तारतम्य में प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती रेखा महमिया के द्वारा अधिवेशन प्रियांश में मितानिन पत्रिका का विमोचन उपस्थित अतिथियों से करवाया गया ।

मुख्य अतिथि की आसंदी से रामदास अग्रवाल ने कहा कि धर्म के द्वारा हम विश्वास आस्था तो प्राप्त करते हैं मगर मांगने की प्रवृत्ति पैदा कर बैठते हैं । मंदिर , गुरुद्वारा कहीं भी चले जाएं हम उस ब्रह्म से मांगते हैं कि – हमारे लिए यह कर दो । हम यह दे दो । धर्म वालों को भीरू बनाता है , लेकिन कर्म आपको , आपके कर्मों के माध्यम से ऊंचाई की शिखर पर विराजित करता है । आप अपने हाथों से ऐसे कर्म करो कि- एक हाथ से आप कर्म कर रहे हैं उसकी जानकारी दूसरे हाथ को ना होने देवें । मानव सेवा, पशु सेवा , प्रकृति सेवा ही जीवन का सबसे महत्वपूर्ण सेवा है । और यह सिर्फ और सिर्फ कर्म पर आधारित है । आपके कर्म आपको प्रकृति से जोड़ेगा और आप अपने कर्म के बलबूते ही प्रकृति को पर्यावरण प्रदूषण से मुक्त कर सकते हैं। वृक्ष लगाकर वृक्षों को जीवंतता प्रदान कर व मानव सेवा कर आप बेहद आगे बढ़ सकते हैं ।

अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष उषा किरण ने छत्तीसगढ़ की प्रांतीय अध्यक्ष और छत्तीसगढ़ की शाखाओं का तहे दिल से शुक्रगुजार की , और छत्तीसगढ़ की सोंधी सोंधी माटी का उन्होंने मनुहार किया । अपने उद्बोधन में उन्होंने चट्टानों से टकराते हो बार-बार टकराना होगा । पीड़ाओं की कमी नहीं है , मरहम हाथ बढ़ाना होगा । अपनी लिखी कविता के माध्यम से उन्होंने आज के समाज , राजनेता, ठेकेदार , भ्रष्टाचार , पापाचार और दुराचार में लिफ्ट उन मानव रूपी भेड़ियों ,सामाजिक दानव उन सब पर चोट करते हुए यह बात कही कि – आज चंदन के पेड़ों से कैसे सर्प विषैले रहते लिपटे , फूलों के संग संग बागों में , कैक्टस के भी पौधे होते । अंत में उन्होंने कहा कि जहरीले धुँयें को मिटाने ,अमृत को बरसाना होगा । चट्टानों से टकराते हो बार-बार टकराना होगा ।

द्वितीय सत्र पुरस्कारों की झड़ी

भोजन उपरांत द्वितीय सत्र की शुरुआत पुरस्कारों के साथ हुई । शहरी शाखा के लिए कोरबा सरोज अग्रवाल , रायगढ़ वंदना अग्रवाल , सक्ती उषा अग्रवाल , रायपुर मधु गोयल , को पुरस्कृत किया गया । ग्रामीण शाखा से सारंगढ़ अध्यक्ष मधु केजरीवाल , चंद्रपुर अंजू अग्रवाल , बाकीमोंगरा मंजू बंसल , बालको मंजू अग्रवाल, खरसिया रेखा अग्रवाल , बाराद्वार आशा अग्रवाल , बसना डाँ, रीटा अग्रवाल , पिथौरा क्षमा गोयल, कुनकुरी नंदनी अग्रवाल ,कांसाबेल सरला शर्मा , सराईपाली मीना अग्रवाल , धरमजयगढ़ रेखा अग्रवाल , जमनीपाली सत्यभामा अग्रवाल , लैलूंगा मंजू अग्रवाल , जैजेपुर रितु अग्रवाल , चांपा संगीता अग्रवाल नवगठित शाखा बिलासपुर से उमा छपारिया, रायगढ़ जूट मिल जोन मीना अग्रवाल , कटघोरा रेखा अग्रवाल , नैला असीमा अग्रवाल , को पुरस्कृत किया गया ।


प्रांतीय प्रमुख विशेष पुरस्कार

प्रदेश अध्यक्ष रेखा महमिया अपने कार्यों को पारदर्शी बनाने के लिए 6 प्रांतीय प्रमुख बनाए थे । उन्हें भी उनके कार्यों के लिए पुरस्कृत किया गया। नेत्रदान प्रमुख शीला गर्ग सारंगढ़ , स्वास्थ्य सेवा शोभा अग्रवाल रायगढ़ , बाल विकास शशी अग्रवाल कोरबा , प्रौढ़ शिक्षा संतोष अग्रवाल बाकीमोंगरा ,महिला स्वावलंबन उषा अग्रवाल सक्ती, पर्यावरण प्रमुख लता केडिया चंद्रपुर ,स्वास्थ्य सेवा प्रमुख वर्षा अग्रवाल रायगढ़, वही प्रांतीय सचिव किरण अग्रवाल रायगढ़, कोषाध्यक्ष सीमा अग्रवाल रायगढ़ , बेस्ट शाखा सचिव पुष्पा भूसानिया बालकों ,बेस्ट शाखा सचिव मधु बगड़िया , प्रथम प्रांतीय कार्यकारिणी बैठक सारंगढ़ शाखा , द्वितीय प्रांतीय कार्यकारिणी बैठक कोरबा , बाकीमोंगरा,जमुनीपाली, नेपकिंग मशीन बिलासपुर शाखा ,नेत्रदान पखवाड़े रैली सारंगढ़ , रैली नेत्रदान पखवाड़े बाकी मोंगरा , अंगदान रैली सारंगढ़ , पुस्तकालय खोलने हेतु कोरबा ,मारवाड़ महोत्सव बिलासपुर , गोबर से लकड़ी बनाने की मशीन खरसिया, महिला सशक्तिकरण हेतु रायगढ़ ,राष्ट्रीय वाक् कला प्रतियोगिता सक्ती, सेवा कार्य हेतु चंद्रपुर को पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।

munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]