Saturday, July 20, 2019
Home > Top News > Munaadi breaking- मासूम की हत्या का सच सुनकर कलेजा काँप जाएगा, फिल्मी स्टाईल में किया कत्ल और लाश को कर दिया…..पढ़िये पूरी खबर

Munaadi breaking- मासूम की हत्या का सच सुनकर कलेजा काँप जाएगा, फिल्मी स्टाईल में किया कत्ल और लाश को कर दिया…..पढ़िये पूरी खबर

संतोष साहू की मुनादी।।

बलौदाबाजार जिले के कसडोल थाने अंतर्गत ग्राम मोहतरा में हुई 16 अप्रैल 2018 को मासूम भूपेंद्र सेन के हत्यारों को आखिरकार पुलिस को पकड़ने में कामयाबी मिल ही गई , भूपेंद्र के पिता अशोक सेन ने अपने बेटे के हत्यारों को सजा दिलाने डीजीपी डी. एम. अवस्थी से गुहार लगाया था ।जिस पर डीजीपी अवस्थी ने स्पेशल जांच दल बनाकर जांच के आदेश दिए थे ।

मामले में अपराधी कोई और नही बल्कि मासूम भूपेंद्र का दोस्त ही निकला । पूरा मामला कुछ इस तरह है कि मृतक भूपेंद्र अपने दोस्तों के साथ घर से थोड़ी दूर पर क्रिकेट खेल रहा था इसी बीच सतीश उर्फ मोनू शुक्ला का बल्ला भूपेंद्र सिर में लग गया । जिसके बाद घटना की जानकारी मोनू ने अपने पिता रमेश को दी घटना स्थल से मृतक भूपेंद्र को उठाकर बिहोशी की हालात पर रमेश अपने घर ले आया और पानी पिलाया भूपेंद्र उस वक्त जिंदा था पानी तो पिया लेकिन आंख नही खोला । पूर्व में सेन परिवार और शुक्ला परिवार दोनो पक्षो में विवाद भी हुआ था और जेल भी जा चुके हैं जिससे डर कर रमेश शुक्ला ने अपने पत्नी सुभाषणी और भतीजा निकेश शुक्ला के साथ मिलकर भूपेंद्र का नाक मुँह दबाकर हत्या कर दी और घर पर ही बाथरूम में ड्रम में डाल दिए घटना दिनांक पुलिस को गाँव मे आवाजाही देखकर देर रात टोकरी में भर कर गांव से 2 किलोमीटर दूर खेत मे फेक कर वापस आ गए । जो घटना के तीन दिन बाद 19 अप्रैल को मृतक की लाश मिली ।

हत्या के आरोपी को पुलिस लगातार ढूंढती रही लेकिन कोई सुराग नही मिला मौके में क्राइम ब्रांच और डॉग स्काट की टीम भी पहुँची लेकिन हत्यारा पुलिस गिरफ्त से बाहर रहा भूपेंद्र के पिता और मां की ममता अपने बच्चे के आरोपी को सजा दिलाने लगातार शासन प्रशासन से गुहार लगाते रहे और मुख्यमंत्री के नाम न्याय के लिए पत्र लिखे जिस पर डीजीपी डी.एम.अवस्थी द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु बलौदाबाजार एसपी नीतू कमल के अगुवाई में स्पेशल टीम गठित की गई और गांव में तीन माह तक छावनी बना कर रहने के बाद आखिरकार तीन महीने के जांचपड़ताल सघन पूछताछ के बाद आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ ही गए और अपना जुर्म कबूल कर लिए ।।

कानून के हाथ लंबे होते हैं आखिरकार एसपी नीतू कमल और उनकी टीम ने साबित कर ही दिया मासूम भूपेंद्र और परिवार को आखिरकार पुलिस न्याय दिलाने में सफलता हासिल कर ही लिए । अपराधियों ने तो सोचा भी नही होंगा की वो पकड़े जाएंगे । कुछ समय के लिए तो सब ये मामला भूल भी चुके थे लेकिन पीडित मासूम की माँ को पूरा यकीन था कि उसके बच्चे के हत्यारा चाहे कोई भी हो पकड़ा ही जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *