Thursday, July 16, 2020
Home > Top News > झीरम घाटी के शहीदों से संबंधित पुस्तक को लखमा ने रखा जूतों पर, आखिर इसके पीछे की वजह क्या है ?

झीरम घाटी के शहीदों से संबंधित पुस्तक को लखमा ने रखा जूतों पर, आखिर इसके पीछे की वजह क्या है ?

Munaadi News

 

 

Munaadi Ad

रायपुर मुनादी ।।

 

उपस्थित अन्य नेता

शुक्रवार को रायपुर के वीडब्ल्यू कैनियन होटल में आरटीआई कार्यकर्ता कुणाल शुक्ला व प्रीति उपाध्याय द्वारा लिखित पुस्तक “झीरम घाटी का अधूरा सच” के लोकार्पण के अवसर पर कांग्रेस के नेता व उपनेता प्रतिपक्ष कवासी लखमा ने इस पुस्तक को अपने जूते के ऊपर रख दिया। इस कार्यक्रम में कई गणमान्य लोग मौजूद थे, यही नहीं शुक्रवार को झीरम घाटी कांड की पांचवीं बरसी भी थी। ऐसे मौके पर कवासी लखमा का यह कृत्य लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है।
झीरम घाटी कांड के दौरान भी कवासी लखमा की भूमिका पर उंगलियां उठी थी। कहा जाता है कि वे घटनास्थल से मोटर साईकल में सवार होकर अकेले जगदलपुर आ गए थे। उस समय अस्पताल में चरणदास महंत और कवासी लखमा से बात चीत भी काफी सुर्खियों में थी जिसमें कहा गया था कि महंत ने कवासी लखमा को डांट पिलाई थी। हालांकि घटना के पांच साल बाद कवासी लखमा द्वारा झीरम घाटी संबंधित पुस्तक को जिस तरह जूट पर सबके सामने रख दिया उसने भी कई चर्चा को जन्म दे दिया है।

Munaadi Ad Munaadi Ad Munaadi Ad Munaadi Ad
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *