Sunday, April 5, 2020
Home > Top News > डैम बनकर तैयार लेकिन बिना उपयोग हुआ बेकार, पढिये सरकारी योजना का हश्र

डैम बनकर तैयार लेकिन बिना उपयोग हुआ बेकार, पढिये सरकारी योजना का हश्र

Munaadi News

 

 

जशपुर मुनादी ।।

सूखे खेत

जशपुर में सरकारी योजनाओं के नाम पर आम जनता को लाभ मिले या न मिले योजनाकार और योजना को जमीनी शक्ल देने वाले अधिकारियों की चांदी हो गई है । लाखो रूपये की कार्ययोजना में लाखों रुपये फूंककर बेपरवाह होने के चलते आम जनता को न तो इसका लाभ मिल पा रहा है और न ही लोग सरकार की योजना से खुश हैं ।
मामला जशपुर जिले के फरसाबहार का है जहां किसानो को समुचित रूप से सिंचाई का लाभ देने के लिए 25 लाख की लागत से स्टॉप डैम बनबाया गया था लेकिन सरकारी उदासीनता कस चलते स्टॉप डैम महज एक शो पीस होकर रह गया है ….

 

पढिये पूरी खबर

 

सिंचाई विभाग की लाखों की योजना तपकरा के उतियाल नदी में रेत फांक रही है । कहते हैं एक साल पहले सिंचाई विभाग द्वारा जशपुर जिले के तपकरा उतियाल नदी में स्टॉप डैम बनवाया गया था लेकिन करीब 25 लाख की लागत लगने के बाद भी यहां के किसान डैम के एक बूंद पानी से भी वंचित हैं । सिंचाई विभाग के अधिकारी कहते हैं कि इसमें विभाग की नही किसानों की गलती है ।किसान अपनी गलती के चलते लाभ से वंचित हैं । सिंचाई विभाग के फरसाबहार एसडीओ पन्ना ने बताया कि उतियाल व्यपवर्तन योजना के तहत बनाये गए डैम को किसानों को बाँधकर पानी एकत्र करना था लेकिन किसानों ने ध्यान ही नही दिया नतीजतन किसी को लाभ नही मिला ।सिंचाई विभाग के मुताबिक योजना का लक्ष्य इलाके के 607 हेक्टेयर भूमि को सिंचित करना था 486 हेक्टेयर खरीफ और 121 हेक्टेयर रवि की फसल के लिए लाखों रुपये खर्च की गई राशि धूल और रेत के ढेर पर जमे जमे कौड़ी का होकर रह गया है ।

munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]