Saturday, September 21, 2019
Home > Jashpur > यहाँ चोर पूलिस का चल रहा है ऐसा खेल…. खेल में चोर आगे और पूलिस पीछे पीछे…..जशपुर के इस कस्बे में

यहाँ चोर पूलिस का चल रहा है ऐसा खेल…. खेल में चोर आगे और पूलिस पीछे पीछे…..जशपुर के इस कस्बे में

Munaadi News

  • बबलू तिवारी /अतुल त्रिपाठी की मुनादी पुलिस तेरी अजब कहानी अपने थाना क्षेत्र में घटित आपराधिक घटनाओ को सुलझाने मे नाकाम पत्थलगांव पुलिस को ही इन दिनों अपनी सुरक्षा ही कर ले तो बहुत है है दरअसल पिछले एक या दो बरसो के आपराधिक घटनाओं में नजर डाले तो इनको सुलझाने पत्थलगांव पुलिस बेबस ओर लाचार सी प्रतीत होती नजर आती है। अगर बात करे पाकरगांव क्षेत्र में आतंक का पर्याय बन चुके नीले पल्सर वाले लुटेरो की जिसने दर्जन भ र से ज्यादा राहगीरो से लूटपाट कर पुलिस को खुलेआम चुनोती दे डाली या फिर शहर के बीचोबीच स्कूटी सवार को धक्का मार लूटपाट करने वाले गिरोह की या फिर ठीक थाना के सामने अस्तपाल से हुवे दर्जनों बाइक चोरी या फिर नगर के अन्य घरो से हुवे चोरी के मामले को सुलझाने में पत्थलगांव पुलिस बेबस और लाचार नजर आती है इन मामलों में से एक भी मामला यहां की पुलिस तो सुलझा नही स्की अब पुलिस नागरिको द्वारा किये गए कार्यो की शाबासी स्वयं लेती नजर आ रही है। दरअसल 21 अगस्त की रात्री को स्कूटी चोरी के मामले में नागरिको द्वारा दौड़ भाग कर जब चोर को पकड़कर पुलिस के हवाले किया गया तो पुलिस इस मामले में अपनी वाहवाही करने में जुट गई ।

जबकि पुलिस का इस वाकये में कोई भूमिका ही नही था अब जब चोर को नागरिको ने पकड़ कर पुलिस के सुपुर्द कर दिया तो पुलिस ने इस पर अपनी पुलिसियागिरी राजनीति चमकाना शुरू करते हुए बकायदा प्रेस को बुलाकर अपनी वाहवाही दर्शा दिया।


जाने क्या था मामला


21 अगस्त को लगभग 9. 30बजे के करीब मनीष रोहिला उर्फ गोलु अम्बिकापुर रोड़ पत्थलगांव स्थित दुर्गा मन्दिर के बाहर अपना स्कुटी खड़ा कर मन्दिर गया था वापस आया तो देखाकी स्कुटी वहा नही था, पहले तो सोचा की कोई दोस्त मजाक किया होगा फिर भी मन्दिर के बगल में कुछ युवाओं के साथ खड़े होकर अंदाजा लगाते रहे परन्तु कुछ भी पता नही चला और लोग जाने लगे इसी दौरान कई लोग भी भीड़ देख कर वहा पहुच गये।लगभग 10 . 30 बजे तक वहा से अनेक लोग चले गये किन्तु कुछ लोग आपसी चर्चा करते रहे इसी दरम्यान लगभग 11 बजे बस स्टेण्ड की तरफ से एक स्कुटी सवार तेज रफ्तार से वाहन दौड़ाते हुवे उन्हें क्रास किया, चालक का स्पीड देख तथा वाहन के पीछे वीर लिखा देख वहा खड़े लोगो मे किसी ने स्कुटी को पहचान गया जो गोलु रोहिला का था इतना देखते ही वहा शेष खड़े कुछलोगो ने उसका पीछा किये लेकिन उक्त वाहन चोर का स्पीड इतना अधिक था कि वह इतनी गड्ढे भरी रास्ते मे भी ओझल हो गया फिर भी इन्होंने बी टी आई चौक तक देखने का निर्णय लेते हुवे आगे बढ़ते रहे तभी बी टी आई चौक के पास एक ढाबा के पास वह रुका शायद ढाबा जाने की तैयारी मे हो या उसका कोई और साथी वहा हो फिर भी इन्होंने चोर को पकड़ लिया किन्तु चोर इतना चालाक था कि उसका जिस टी शर्ट को पकड़ा गया था उसे झटका से निकालते हुये धक्का देकर भागने लगा किन्तु वहा टायर दुकान के पास उपस्थित लोगो की मदद से दौड़ा कर पुनः उसे पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया गया।

munaadi ad munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *