Thursday, June 21, 2018
Home > Slider > कुमार दिलीप सिंह जूदेव की तस्वीर गायब करने किसकी थी राय ?पढिये पूरी खबर

कुमार दिलीप सिंह जूदेव की तस्वीर गायब करने किसकी थी राय ?पढिये पूरी खबर

 

जशपुर मुनादी ।।

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की समस्या को सुलझाने के लिए जिले के प्रभारी मंत्री की अगुआई में गुरुवार को जशपुर में आयोजित विधानसभा जनसमस्या निवारण शिविर अचानक से प्रशासनिक कार्यक्रम कैसे हो गया इस कार्यक्रम में भाजपा के दिवगन्त सांसद स्व दिलीप सिंह जूदेव की तस्वीर नही लगाने की राय किसने दी थी इस बात को लेकर गुरुवार से ही पार्टी में भारी मंथन चल रहा है ।  पार्टी के आला नेताओं को भले ही सब पता हो लेकिन सामान्य मंझोले कद के कार्यकर्ताओ में इन दो मुद्दों को लेकर काफी तर्क वितर्क शुरू हो गया है । अंदर की बात यह है कि कफ़ीकर्ताओं को समझाने मनाने ओर उनकी समस्याओं को निपटाने को लेकर आयोजित कार्यकर्ता ससम्मेलन में कुछ बनने के बजाय बिगड़ सा गया। बताया जा रहा है कि पार्टी के आला नेताओं और खाशकर प्रभारी मंत्री की मौजुदगी वाले कार्यक्रम के बैनर में स्व जूदेव की तस्वीर नही लगने से जुदेव परिवार के भीतर नाराजगी हो या न हो लेकिन जूदेव समर्थक नेता और कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर अंदर ही अंदर काफी रोष है और इस रोष को कुछ तो सोशल मीडिया के जरिये व्यक्त कर रहे हैं तो कुछ आपस मे ही चर्चा करके फिलहाल शांत बैठे हैं ।

कार्यक्रम के बैनर से  स्व जुदेव की तस्वीर गायब हो गई थी

हम आपको बता दें कि गुरुवार को प्रभारी मंत्री  रामसेवक पैंकरा की मौजूदगी में विधानसभा जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन था . इस आयोजन में पार्टी द्वारा लगाए गए बैनर में देश के प्रधानमंत्री ,प्रदेश के मुख्यमंत्री सहित तमाम दिग्गज नेताओं के बीच से स्व दिलीप सिंह जूदेव की तस्वीर गायब थी । जब जुदेव समर्थको की नजर इस बैनर पर पड़ी तो कार्यकर्ताओं में हलचल मच गयी और थोड़े ही देर में यह मामला सोशल मीडिया की सुर्खियों में आ गया। सबसे खाश बात यह कि इस मामले में जब पार्टी के जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश सिन्हा से चर्चा करने की कोशिश की गयी तो उन्होंने इस मामले में ऑन कैमरा कुछ कहना उचित नही समझा लेकिन ऑफ कैमरा उन्होंने यह कहा कि यह प्रशासनिक कार्यक्रम था और इसके लिए उन्होंने पूरा ठीकरा प्रशासन पर फोड़ दिया ।

किसकी राय थी ?

कार्यकर्ता अब यह नही समझ पा रहे कि  कुनकुरी ओर पत्थलगांव में कार्यकर्ताओ से चर्चा करने वाला कार्यक्रम जशपुर जिला मुख्यालय पहुचकर सरकारी कैसे हो गया और जिस सख्शियत के साये के दम पर पार्टी इस बार भी जिले के सभी तीनो विधानसभा में  जीत का परचम लहराने का सपना देख रही है उस सख्शियत का फोटो तक गायब कैसे हो गया और इसके पीछे आखिर किसकी राय थी ?

One thought on “कुमार दिलीप सिंह जूदेव की तस्वीर गायब करने किसकी थी राय ?पढिये पूरी खबर

  1. जूदेव जी जैसे नेता विरले ही मिलेंगे
    शत शत नमन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *