Thursday, July 19, 2018
Home > Slider > जब दरोगा जी फंस गए “भंवरजाल” में …कम्बल ओढ़ने पर बची जान

जब दरोगा जी फंस गए “भंवरजाल” में …कम्बल ओढ़ने पर बची जान

 

साहीडाँड़ से परेश दास की मुनादी ।।

 

थाना क्षेत्र नारायणपुर के साप्ताहिक बाजार साहीडाँड़ में उस समय अफरा तफरी मच गयी जब वन विभाग के दरोगा को अचानक भंवर मधुमखी ने हमला बोल दिया।

 

 पढिये पूरा मामला …

 

हर सप्ताह शनिवार को लगने वाली साप्ताहिक बाजार में सभी क्षेत्र का ब्यवसायिक एवम ग्रामीणों ने बाजार में अपने दैनिक सामान खरीदने एवम बेचने के लिए आना शुरू किए थे कि अचानक वन के दरोगा छोटेलाल भगत के ऊपर भंवर मधुमकी का झुंड आ गया और हमला करना शुरू कर दिया,बाजार के लोगों ने दरोगा को कम्बल ढककर किसी तरह मधुमखियों से बचा लिए।ये करीब दिन के दो बजे की घटना है, बाजार में ब्रायलर मुर्गी काटने वालों की चूल्हा जलने की धुँआ पेड़ में  मधुमखियों के झुंड में पड़ गया और भंवर मधुमखी गुस्से में आ गया,और बाजार में लोगों पर टूट पड़े,बाजार आये कई लोगों को मधुमखियों ने काट दिए।

दहसत में है लोग क्योंकि वन कालोनी के अंदर के पेड़ों में भंवर मधुमखियों की कई छत है,और यह पेड़ बाजारडाँड़ से सटा हुआ है समय समय पर कोई न कार्यक्रम होते रहता है,लोगों का कहना है कि यह मधुमखी ध्वनि आदि को सहन नही करता है साथ ही हर सप्ताह बाजार लगता है, समय रहते अगर इस भंवर मधुमखी को नही भगाया गया तो कभी भी बड़ा घटना घट सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *