Monday, December 10, 2018
Home > Slider > विश्वसनीय छत्तीसगढ़ के अविश्वसनीय चिकित्सा हालात, आकाश के नीचे प्रसव और पोस्टमॉर्टेम की बिना सड़ती लाशें……

विश्वसनीय छत्तीसगढ़ के अविश्वसनीय चिकित्सा हालात, आकाश के नीचे प्रसव और पोस्टमॉर्टेम की बिना सड़ती लाशें……

जनता की मुनादी ।।

छत्तीसगढ़ , हमारा विश्वशनीय छत्तीसगढ़ ….अच्छे दिन….सरकार की करोड़ों अरबो की योजनाएं ,कोने कोने में आमजनों की सुबिधाओं का अम्बार….. भला अब किसी को क्या होना है ….सरकारी विज्ञापनों को देखकर ऐसा लगता है मानो देश और प्रदेश में पूरी तरह राम राज्य स्थापित हो गया …सब मजे में हैं …लेकिन इन विज्ञापनों से उपर उठकर हकीकत की जमीन झांकते हैं तो पता चलता है कि सरकार के सारे दावे झूठ की पोटली के अलावे कुछ नही …शायद आपको याद हो या ना हो ,बात 2003 की है रायगढ़ जिले के कापू में एक बृद्ध महिला की लाश का पोस्ट मार्टम कराने के लिए मृतिका के परिजनों को 3 दिनों तक इंतज़ार करना पड़ा था ।बृद्धा की लाश 3 दिनों तक डाक्टर का इंतज़ार करती रही थी …उस वक़्त प्रदेश में नयी नयी सरकार बनी थी तो लगा था कि वो जो हुआ वह पुरानी व्यवस्था का दोष था अब सब कुछ अच्छा हो जाएगा लेकिन आज नयी सरकार पुरानी हो गयी और सरकार बने 15 साल होने को हैं लेकिन अबतक यहां की व्यवस्था नही सुधरी। आपको यह सुनने या जानने में क्या फील करेंगे नही पता लेकिन हमे आपको यह बताते हुए भी तकलीफ हो रही है कि आजके इस डिजिटल इंडिया के दौर में भी हालात में सुधार नजर नही आता । कल कापू में दो ऐसी घटनाएं घटित हुई जिसमें न केवल मानवता को आघात पहुचता है बल्कि सिस्टम के गाल पर एक तगड़ा थप्पड़ भी है । यहां की पहली घटना शुक्रवार देर शाम की है जब एक महिला प्रसव के लिए कापू के उपस्वास्थ्य केंद्र जाती है लेकिन उसे वहाँ बन्द मिलता है और आखिर में महिला ने खुले आसमान के नीचे ही बच्चे को जन्म दे दिया ….दूसरी घटना शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात की है जब इसी क्षेत्र के जामपानी निवासी कैलाश और सुरेश आर्केस्ट्रा देखकर रात में वापस लौट रहे थे इसी बीच एक अज्ञात चारपहिया वाहन ने उन्हें कुचल दिया और उनकी मौत हो गयी ..सिस्टम का शर्मनाक खेल यहां से शुरू होता है । बताते है सड़क पर इनकी लाश रात में यूँ ही पड़ी रही और जब सुबह सुबह लोगों ने इनका शव देखा और पुलिस पंचनामा के बाद शव के पोस्टमार्टम की बारी आई तो पता चला की विजयनगर अस्पताल के डॉक्टर शिशिर बिंदु राठौर अस्पताल में मौजूद नही थे नतीजतन उन्हें आज देर दोपहर तक पोस्ट मार्टम का इंतजार करना पड़ा ।आखिर में धर्मजय गढ़ बीएमओ बी एल भगत मौके पर गये कई घण्टो के बाद दोनों शवों का पोस्ट मार्टम हो पाया ।

कड़ी कार्यवाही होगी
इन दोनों घटनाओं के सिलसिले में जब रायगढ़ सीएमओ एच एस उरांव से जब मुनादी डॉट कॉम ने बात की तो उन्होंने बताया कि दोनों मामलो को गंभीरता से लेते हुए उपस्वास्थ्य केंद्र में तैनात नर्स और विजय नगर के डॉक्टर शिशिर बिंदु राठौर को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है । उन्होंने कहा कि मामला गंभीर है और इसमें सभी दोषियों पर कड़ी कार्यवाही होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *