Thursday, January 18, 2018
Home > Slider > कहीं इस भर्ती में ‘गोलमाल’ तो नही है….?

कहीं इस भर्ती में ‘गोलमाल’ तो नही है….?

अतुल त्रिपाठी की मुनादी

कापू धर्मजयगढ एकीकृत महिला एवं बाल विकाश विभाग के कापू धर्मजयगढ में कई रिक्त पदों की भर्ती प्रक्रिया मे  6 माह से भी अधिक गुजर गए है  लेकिन अभी तक नियुक्ति नही हो सकी है जिसके कारण खासी दिक्कत हो रही है आखिर क्यूं

विभाग के द्वारा  बैठक कर अब तक अनुमोदन नही किया गया है आखिर क्या कारण है कि इतने माह नियुक्ति को क्यो रोककर रखा गया है , यह समझ से परे है और इस प्रकार नियुक्ति को रोकने से किसको लाभ हो रहा है यह सवाल बना हुआ है

 

क्या कह रहे अधिकारी —

इसके संबध मे जब विभाग से जानकारी ली गई तो  धर्मजयगढ़ के सीईओ श्री पटेल ने  रटा रटाया जवाब देते हुए अपने बाबू से पता करने के बाद जानकारी देने  की बात कही। गौरतलब है कि क्षेत्र में ऐसी भर्तीयो पर भर्ती के एवज में लेन देन के मामले पहले भी सुर्खियों मे रहे है ।

कापू परियोजना क्षेत्र में एक भर्ती पूरी नही हो पाई है और 16 लोगो की भर्ती के लिये चयन प्रकिया फिर से चालुकर दी गई जिसमे आवेदन करने की अंतिम तारीख 5 नवम्बर थी। क्यो पहले की नियुक्ति  को रोककर नई भर्ती के लिये आवेदन लिया गया। क्षेत्र के जनप्रतिनिधि इस मामले मे चुप क्यों है सामान्य सभा की बैठक मे इस मामले को उठा क्यों नही रहे है ,जनपद में पिछले सात माह से  पूरी फाइल  पड़ी है आखिर यह  किसकी जिम्मेवारी बनती है। शासन के नियमो को ताक में रख किस कदर मनमानी किया जाता है उसका  ये मामला उदाहरण है

 

होगा आंदोलन ….

इस संबंध में पुर्व जनपद सदस्य एवं छजका कापु ब्लाॅक अध्यक्ष विजय शर्मा का कहना है कि  नियुक्ति मे देर होने से सांठगांठ की गंध आ रही है और इसकी पुरी  जिम्मेदारी सदस्यों की बनती है अगर इस मामले मे ध्यान नही गया तो  जल्द ही परियोजना कार्यालय का घेराव किया जायेगा भाजपा नेता श्याम बिहारी शर्मा ने एक सप्ताह में बैठक कर नियुक्ति करवाने की बात कही वही जिला छात्र कांग्रेस अध्यक्ष उस्मान बेग का कहना है कि छात्र कांग्रेस बेरोजगार युवाओं के साथ है उनके साथ अन्याय  बिलकुल बर्दाश्त नही किया जायेगा

अब देखते है इस मामले मे  जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की  कुंभकरणीय नींद  कब टुटती है और कब योग्य बेरोजगारो को उनका हक मिल सकेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *