Friday, November 16, 2018
Home > छत्तीसगढ़ > आदिवासी अंचल जशपुर में मंडरा रहा लव जेहाद का खतरा

आदिवासी अंचल जशपुर में मंडरा रहा लव जेहाद का खतरा

जशपुर

जशपुर मुनादी।  करीब चार साल पहले लव जेहाद जैसा शब्द पहली बार सुनने को मिला था। सुनियोजित तरीके से हिंदू लड़कियों को प्यार के जाल में फंसाने के बाद उनका शोषण, ऐसी घटनाएं सबसे अधिक पश्चिम उत्तर प्रदेश और पूर्वांचल में दर्ज हुई हैं। लेकिन लव जेहाद का दायरा अब आदिवासी अंचल जशपुर तक पहुंच गया। क्षेत्र के हिंदू संगठनों में इसे लेकर आक्रोश है और वे इसके विरोध में मुहिम छेड़ने की तैयारी में हैं।

जशपुर के दिवाकर ने सोशल मीडिया पर बांग्लादेशियों के खिलाफ मुहिम छेड़ा हुआ है। वो नोएडा से जशपुर आकर अपनी पत्नी को प. बंगाल के मुर्शिदाबाद के रहने वाले मकसूद नामक शख्स से मुक्ति दिलाने के लिए लोगों और पुलिस से मदद की गुहार लगा रहा है।

बकौल दिवाकर आरोपी मकसूद एक बांग्लादेशी है। उसने उसकी पत्नी और 6 साल के बच्चे को जादू-टोने से अपने कब्जे में रखा हुआ। दिवाकर ने अपने पोस्ट में बताया है कि वह नोएडा के एक निजी कंपनी में ड्राइवर की नौकरी करता है। कुछ माह पहले उसकी पत्नी को टीबी की बीमारी हुई थी। डाक्टरों ने सलाह दी कि स्वच्छ-शुद्ध माहौल में वह जल्दी ठीक हो जाएगी। इस पर वह अपनी पत्नी-बच्चे को जशपुर के चराई डाँड़ स्थित अपने गृह ग्राम अपनी साली की निगरानी में छोड़ नोएडा वापस लौट गया।

इस बीच उसकी पत्नी स्वस्थ हो गई और दिवाकर अपने परिवार से मिलने बीच-बीच में आता रहा। इसी महीने की 4 तारीख को दिवाकर के फोन पर एटीएम के जरिये रुपये निकाले जाने के मैसेज आने लगे। उसने अपनी पत्नी को फोन लगाया पर वह नहीं उठा। इधर फोन नहीं उठ रहा था और उधर लगातार रुपये निकाले जा रहे थे। आनन-फानन में दिवाकर फ्लाइट पकड़कर सीधे चराई डाँड़ पहुंचा तो उसकी पत्नी और बच्चे घर पर नहीं थे। घर में एक भी सामान नहीं था। तब उसके और होश उड़ गए जब उसे पता लगा कि उसकी पत्नी ने जाते-जाते 8 डिसमिल जमीन भी औने-पौने दाम में बेच दिया है।

कुछ दिनों बाद परेशान दिवाकर को पता चला कि पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद के रहने वाले मकसूद के साथ उसकी पत्नी लापता हुई है। पुलिस की मौजूदगी में मकसूद के कुनकुरी स्थित किराए के मकान की तलाशी ली गई। तलाशी के दौरान उसके घर से दिवाकर की बीवी का सलवार सूट मिला। दिवाकर ने बताया कि उसने कुनकुरी थाने में लिखित में कार्रवाई करने की गुहार लगाई है और पुलिस मदद भी कर रही है लेकिन अब तक मकसूद को पकड़ा नही जा सका है।

अंचल में इस पूरे घटनाक्रम को लव जेहाद से जोड़कर देखा जा रहा है। जिले के हिन्दू संगठनों ने इस मुद्दे को लेकर बैठकें शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि मकसूद कुनकुरी में ठेके पर घर बनाने का काम करता था। लव जेहाद का की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी प. बंगाल का एक शख्स पाठ इलाके की एक लड़की को लेकर भाग गया था। बाद में बगीचा पुलिस ने पश्चिम बंगाल जाकर आरोपी को गिरफ्तार कर लड़की को वापस लाई। जिले  में कई जगह इससे मिलते जुलते वारदात घटित हुई हैं जिसको लेकर जिले के संगठन मुहिम छेड़ने की तैयारी कर रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *