Thursday, January 18, 2018
Home > Slider > एएसआई के हत्यारे 24 घण्टे में पुलिस की गिरफ्त में 3 पंडो व 1 महिला हिरासत में

एएसआई के हत्यारे 24 घण्टे में पुलिस की गिरफ्त में 3 पंडो व 1 महिला हिरासत में

बैकुंठपुर मुनादी 

शुक्रवार की सुबह कोरिया जिले के पटना थाना अंतर्गत जिस एएसआई राजेश प्रताप सिंह की अज्ञात लोगो ने बुरी तरह पिटाई कर अधमरे हालत में एक गड्ढे में फेंक दिया था। उस एएसआई की बीती रात लगभग 1 बजे उपचार के दौरान बिलासपुर अपोलो हॉस्पिटल मे निधन हो गया। वही कोरिया पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए 24 घण्टे के भीतर ही 1 महिला सहित 4 पंडो को हिरासत में ले लिया है। इस प्रकरण को सुलझाने में पुलिस टीम बिना खाये, पिए, बिना सोए और बिना ब्रश किए ही लगी रही। इस सम्बन्ध में एडिशनल एस पी निवेदिता पॉल ने बताया कि दिनांक 16.12.2017 को ग्राम रनई के बांसपारा मोड़ के पास एक व्यक्ति के घायल अवस्था में होने की सूचना प्राप्त हुई थी, जिस पर पुलिस थाना पटना द्वारा मौके से घायल व्यक्ति को जिला अस्पताल तत्काल पहुँचाया गया तथा उक्त घायल की पहचान जिला सूरजपुर के भैयाथान थाना में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक राजेश प्रताप सिंह के रूप में होने पर तथा जिला सूरजपुर से पुष्टि होने पर तत्काल जिला अस्पताल बैकुण्ठपुर में स्वयं पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती निवेदिता पाल शर्मा द्वारा पहुँचकर घायल सहायक उप निरीक्षक राजेश प्रताप सिंह के सम्बंध में चिकित्साधिकारियों से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये गये। घटना के सम्बंध में त्वरित कार्यवाही एवं आरोपियों की पतासाजी हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को टीम गठन कर कार्यवाही का निर्देश दिया गया।

उक्त घटना के सम्बंध में दिनांक 16.12.2017 को तुलेश्वर कुमार (वाहन चालक) के द्वारा थाना पटना में रिपोर्ट दर्ज कराया गया कि दिनांक 16.12.2017 को निजी क्रेटा वाहन क्र. सी.जी. 15 सी.वाय. 4423 जो सहायक उप निरीक्षक राजेश प्रताप सिंह का वाहन था। उक्त वाहन में ग्राम जमड़ी में भैयाथान से आये थे और ग्राम जमड़ी में मदन सिंह व रामसिंह से मुलाकात करने उपरांत वापस जाते समय बांसपारा मोड़ के पास रात्रि 2.30 बजे मधु पण्डो, विनोद पण्डो व अन्य तीन अज्ञात पुरुषो व एक महिला जो आरोपियों में से एक महिला व एक पुरुष द्वारा नशे में मुख्य मार्ग पर गाड़ी रोककर हटाने पर हुये विवाद के बाद सभी आरोपियों द्वारा मिलकर डण्डे से जानलेवा हमला किया। सहायक उप निरीक्षक राजेश प्रताप सिंह को सिर और शरीर में मारपीट कर गंभीर चोट पहुँचाकर मरा समझकर मोबाईल लूटकर गढ्ढे में डाला गया व प्रार्थी तुलेश्वर कुमार को भी सिर व चेहरे में डण्डे से चोट पहुँचाया गया तथा मोबाइल लूट लिया गया, जिसके सम्बंध में थाना पटना में अपराध क्र. 310/17 धारा 341, 147, 307, 397 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।प्रकरण की गंभीरता को ध्यान में रखते हुये तत्काल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निवेदिता पाल शर्मा के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा दबिश देने पर आरोपीगण के फरार होने से तत्काल एस.डी.ओ.पी. मनेन्द्रगढ़ अनुज कुमार, थाना प्रभारी मनेन्द्रगढ़ विमले दूबे, थाना प्रभारी चिरमिरी विनीत दूबे, थाना प्रभारी झगराखण्ड राकेश यादव, क्राइम ब्रांच प्रभारी शिवेन्द्र राजपूत, नवीन दत्त तिवारी, तालीब शेख, नवीन साहू, सजल जायसवाल, रामायण सिंह, विमल जायसवाल, थाना प्रभारी पटना ए.आर. मानिकपुरी की टीम को अलग अलग स्टॉफ के साथ आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु लगाया गया, जिसमें घटना में शामिल संदेही देवींकर सिंह के ग्राम रनई के आगे मिलने पर उसे अभिरक्षा में लेकर पूछताछ किया गया। जिसने अन्य आरोपियों मधु पण्डो, विनोद पण्डो, रमांकर पण्डो एवं मानकुंवर के साथ घटना दिनांक को सहायक उप निरीक्षक राजेश प्रताप सिंह के वाहन चालक के साथ क्रेटा वाहन में बांसपारा मोड़ में आने पर मुख्य मार्ग पर आने से गाड़ी रोककर हटाने बाद हुये विवाद से आक्रोशित होकर डण्डा से जानलेवा हमला करना तथा मोबाइल लूटने की बात स्वीकार किया, जिसके निशानदेही पर तुलेश्वर कुमार का लूटा हुआ मोबाईल फोन जप्त कर कब्जा पुलिस द्वारा किया गया। उक्त आरोपी देवीसिंह से प्राप्त सूत्र के आधार पर पुनः अन्य आरोपियों की पतासाजी किया गया और पतासाजी के दौरान घटना में शामिल अभियुक्त मधु पण्डो, विनोद पण्डो, रमांकर पण्डो एवं मानकुंवर को पकड़ा गया तथा अभिरक्षा में लेकर पूछताछ के बाद अभियुक्त मधु पण्डो से घटना करित करते समय पहने खून लगा शर्ट एवं एक खून लगा डण्डा, अभियुक्त देवींकर से तुलेश्वर कुमार के लूटे मोबाईल फोन रामांकर पण्डो के खून लगा डण्डा व एटीएम मेमोरेण्डम के आधार पर जप्त किया गया है। है। प्रकरण के आरोपीगण द्वारा घटना दिनांक को शराब के नशे में ग्राम रनई बांसपारा मोड के पास मार्ग पर आने से वाहन क्रेटा क्र. सी.जी. 15 सी.वाई. 4423 सहायक उप निरीक्षक राजेश प्रताप सिंह व तुलेश्वर द्वारा पूछताछ पर आरोपीगणों के द्वारा आक्रोशित होकर एक राय पर जानलेवा हमला कर गंभीर चोंट पहुंचाना तथा मोबाईल फोन लूटना स्वीकार किया एवं दिनांक 17.12.17 को प्रकरण में गिरफ्तार किया गया है। आरोपीगण की पहचान कार्यवाही के लिए सभी को बापर्दा रखा गया है। प्रकरण में फरार 02 अन्य आरोपीगण की पतासाजी हेतु टीम लगाई गयी है। पुलिस अधीक्षक कोरिया विवेक शुक्ला द्वारा टीम के द्वारा मेहनत व लगन से कार्य करने से ईनाम की घोषणा की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *