Thursday, September 20, 2018
Home > Slider > यहां न तो अधिकारी न कर्मचारी न जनता जनार्दन फिर काहे का सूराज

यहां न तो अधिकारी न कर्मचारी न जनता जनार्दन फिर काहे का सूराज

पत्थलगांव मुनादी

लोक सुराज के समाधान शिविर के अंतिम चरण के अंतिम शिविर सुरेशपुर में भी कुछ वैसा ही रहा जैसा कि पहले के लोक सुराज अभियान के दौरान सामने आया ऐसा ही कुछ नाजारा देखने को मिला वह हैरान करने वाला था यहां महज चंद लहमों के बाद ही सारे अधिकारी कर्मचारी नादारत हो गए खास बात यह है रहा कि यहां जनता जनार्दन की उपस्थिति ही नहीं रही यही वजह है कि मामले की गंभीरता को देखते अधिकारी कर्मचारी भी समाधान शिविर से नौ दो ग्यारह हो गए।
दरअसल आज लोक सुराज के अंतिम दिवस पर शिविर के खत्म होने के आधे घंटे पहले ही यहां से कई विभाग के अधिकारी गोल हो गए यही नही आवेदन पंजीयन के डेस्क में भी जनपद कर्मचारियों ने अपनी गठरी बांध दी थी जैसे ही मुनादी यहां पहुंचा तो पूरा नजारा सामने आ गया ।
गौरतलब है कि सुराज छग सरकार का एक विशेष अभियान है जिसमे सरकार सीधे जनता तक पहुंचती है जिसमे अधिकारी कर्मचारी का रहना बेहद जरूरी होता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *