Wednesday, September 19, 2018
Home > Slider > मेरी जान को खतरा है ,मेरी मदद कीजिये ! पुलिस अधिकारी की मार से आहत ठेकेदार की मीडिया से मार्मिक अपील

मेरी जान को खतरा है ,मेरी मदद कीजिये ! पुलिस अधिकारी की मार से आहत ठेकेदार की मीडिया से मार्मिक अपील

जशपुर मुनादी ।।

 

क्राइम ब्रांच प्रभारी जितेंद्र गुप्ता के द्वारा कथित रूप से बेदम पिटाई खाने वाले ठेकेदार  ओम तिवारी ने मीडिया को दिए गए बयान में कहा है कि कल की घटना के बाद उसके और उसके परिवार के जान पर बन आयी है । उसने बताया है कि उसके ऊपर मामले को वापस लेने और बयान बदलने का दबाव बनाया जा रहा है ।कई लोग आईसीयू में मिलने के बहाने आ रहे हैं और उसे यह धमकी देकर जा रहे हैं कि केस को सामने  लाकर  तुमने आई ए एस और आईपीएस जैसे ओहदे पर बैठे अधिकारियों से पंगाt मत लो नही तो बेमौत मारे जाओगे ।

 

अब तक नही हुई कार्यवाही

 

ओम तिवारी ने आगे बताया कि कल याने गुरुवारके 2 बजे दोपहर को उसके द्वारा क्राइम ब्रांच अधिकारी के विरुद्ध कोतवाली थाने में शिकायत की गई है लेकिन अब तक उनकी सुधि लेने कोई भी पुलिसवाले नही पहुचे हैं न ही अब तक  उसका बयान लिया गया है जिसके चलते वह और उनका परिवार खुद को असुरक्षित महशूस कर रहा है ।एक तो पुलिस कार्यवाही नही कर रही ऊपर से धमकियां मिल रही है ऐसे में उसके जान को खतरा है ।

 

 

 

जारी है पुलिस की कार्यवाही -जांच अधिकारी

 

 

हम आपको बता दें कि इस मामले की जांच जशपुर एसडीओपी राजेन्द्र सिंह परिहार कर रहे  हैं ।इस मामले जब उनसे बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह आरोप गलत है कि पुलिस कार्यवाही नही कर रही है ।शिकायत मिलते ही पुलिस ने आवेदक का मुलाहिजा कराने अस्पताल भेजा गया था ।फिलहाल अस्पताल में आवेदक का इलाज  चल रहा है । कोतवाली से साक्ष्य ओर दस्तावेज मंगाए गए हैं ।

 

क्या था मामला ?

 

गौरतलब है कि गुरुवार को ट्रैक्टर के लेन देन के वसूली के मामले में आवेदक ठेकेदार ओम तिवारी के पार्टनर असलम का फाइल से नाम हटाने के नाम पर 50 हजार रुपये की रिश्वत नही देने पर जशपुर क्राइम ब्रांच प्रभारी जितेंद्र गुप्ता के द्वारा हॉकी स्टिक से मार कर पैर तोड़ने का मामला सामने आया था ।गुरुवार दोपहर से ही  ठेकेदार ओम तिवारी ओर उसका पार्टनर असलम जशपुर जिला अस्पताल के आई सी यू में भर्ती है ।डॉक्टरों का कहना है कि प्रार्थी ओम तिवारी के पैर ओर कान में गम्भीर चोटे आयी हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *