Monday, March 25, 2019
Home > Top News > एसपी ने लगाया ऐसा दरबार…..और दरबार मे पहुंचे सब के सब और फिर …..

एसपी ने लगाया ऐसा दरबार…..और दरबार मे पहुंचे सब के सब और फिर …..

 

जशपुरनगर मुनादी–//दिनांक 12 जनवरी 2019 को पुलिस अधिकारी कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण हेतु रक्षित केंद्र में पुलिस अधीक्षक श्एस एल बघेल के नेतृत्व में पुलिस दरबार का आयोजन किया गया । जिसमें एसडीओपी जशपुर  राजेंद्र सिंह परिहार एवं एसडीओपी नक्सल ऑपरेशन  विकास पाटले, रक्षित निरीक्षक विमलेश कुमार देवांगन तथा पुलिस अधीक्षक कार्यालय के समस्त बाबू स्टॉप एवं रक्षित केंद्र व थाना चौकी के बल उपस्थित रहे।

 

 

 

उपस्थित अधिकारी कर्मचारियों द्वारा अपनी अपनी समस्याओ के निराकरण की मांग के लिए पुलिस अधीक्षक महोदय के समक्ष लिखित आवेदन पेश किया गया । जिसमें अधिकतर थाना स्थानांतरण चाहने बाबत आवेदन प्राप्त हुआ एवं कुछ अधिकारी कर्मचारियों का समयवेतनमान जोड़ने संबंधी आवेदन प्राप्त हुआ। आरक्षक निर्मल बड़ा के माध्यम से पुलिस कर्मचारियों एवं अधिकारियों के विभिन्न मांगों के संबंध में पुलिस अधीक्षक महोदय के समक्ष बिंदु वार रखा गया जिसमें वेतन विसंगतियों से लेकर सप्ताहिक अवकाश तथा विभिन्न भत्ता से लेकर मोटर वारंट से बस में सीट नही मिलने तथा साईकिल भत्ता को बढ़ाकर मोटरसाइकिल भत्ता प्रदाय करने तक की बात कही गई एवं आरक्षक को कम से कम चार स्तरीय पदोन्नति दिए जाने संबंधी प्रस्ताव रखा गया। इस शिविर में कर्मचारियेां नें वेतन विसंगति, छुट्टी ना मिलने सहित अन्य समस्यायें रखी।इस पर पुलिस अधीक्षक महोदय ने सबसे पहले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को नए साल की बधाई दी, उन्होंने इस पुलिस दरबार में सभी पुलिस कर्मियों की समस्याओं को भी सुना और उनको तत्काल निराकरण करने का भी आश्वासन दियाऔर कहा कि पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी सच्चे लग्न से करे की जिससे विभाग का व खुद का नाम रोशन हो। आवेदनों को पढ़कर संबंधित शाखा के बाबुओं को नोट करने एवं तत्काल निराकरण करने हेतु निर्देशित किया गया तथा कई ऐसे आवेदनों को तत्काल निराकरण भी किया गया एवं कुछ आवेदनों को पुलिस कार्यालय भेजने को कहा गया । एवं मोटर वारंट से सफर करने में आने वाली दिक्कत को दूर करने के लिए बस मालिकों को बुलाकर समन्वय स्थापित करने को निर्देशित किया गया। तत्पश्चात आवेदनों को रक्षित निरीक्षक के माध्यम से प्रतिवेदन तैयार कर पुलिस अधीक्षक कार्यालय निराकरण हेतु भेजा गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *