Saturday, September 21, 2019
Home > Top News > शिक्षाकर्मियो का नया साल भी मनेगा बिना वेतन, 90 प्रतिशत शिक्षक चल रहे उधारी में

शिक्षाकर्मियो का नया साल भी मनेगा बिना वेतन, 90 प्रतिशत शिक्षक चल रहे उधारी में

Munaadi News

छत्तीसगढ़ मुनादी ।।

हड़ताल से वापसी के बाद वेतन मिलने का भरोसा पाले शिक्षाकर्मियों को अब तक वेतन नहीं मिला है। हालांकि मंगलवार को मंत्रालय से पत्र जारी कर अनुदान मद से वेतन के पैसे देने के लिए पत्र तो जारी किया गया है लेकिन उस मद में ही पैसे नहीं हैं, ऐसे में शिक्षाकर्मियों का जीवन अभी भी उधारी में ही चल रहा है।

आनेवाले दिनों में दो बड़े त्योहार हैं जिसे सभी धर्म के लोग मनाते हैं। पहला क्रिसमस और दूसरा नया साल। शिक्षाकर्मियो को वेतन नहीं मिलने से उनके सामने अजीब स्थिति निर्मित हो गयी है। हालांकि शिक्षाकर्मियो का कहना है कि उन्हें तो किसी भी त्योहार में वेतन मिलता ही नहीं। अब तो जैसे इसकी आदत पड़ गयी है। कुछ शिक्षाकर्मीयों को वेतन मिला भी है तो उनको हड़ताल अवधि का पैसा काटकर वेतन दिया गया है। अधिकारियों ने आश्वस्त किया है कि हड़ताल अवधि का पैसा बनाकर शासन के पास भेज जाएगा और पैसा आते ही उनके खाते में वेतन पहुंचा दिया जाएगा।

शिक्षकर्मी चूंकि शासकीय कर्मचारी नहीं हैं इसलिए इनका वेतन का अलग मद नही है। इन्हें पंचायत में आये अनुदान राशि से वेतन दिया जाता है। इसके अलावा इन्हें चार विभागों से पैसा आबंटित किया जाता है, ये हैं  शिक्षा विभाग, आदिम जाति विभाग, रमसा और सर्व शिक्षा अभियान। रमसा और सर्व शिक्षा अभियान का पैसा रायपुर से रिलीज ही नहीं हो पाया है वहीं अनुदान मद में पैसे नहीं होने से दूसरे विभागों के भी पैसे अटके हुए हैं। शिक्षा विभाग के कुछ शिक्षाकर्मियो को वेतन जरूर मिले हैं। ऐसे में उनके लिए नया साल भी बदहाल ही रहेगा।

munaadi ad munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *