Tuesday, December 11, 2018
Home > Slider > प्राथमिक स्कूल के शिक्षक गर्मी की छुट्टी में गढ़ कर नॉनिहालो को बना रहे हुनरमंद, अंचल में शिक्षक अंकेश्वर बना मिशाल

प्राथमिक स्कूल के शिक्षक गर्मी की छुट्टी में गढ़ कर नॉनिहालो को बना रहे हुनरमंद, अंचल में शिक्षक अंकेश्वर बना मिशाल

 

दुर्ग मुनादी।

 

 

 

 

 

 

 

 

जिला दुर्ग विकास खंड पाटन के शासकीय नवीन प्राथमिक शाला केसरा दानीपारा में दस दिनों से समर कैंप का आयोजन किया जा रहा है जिसमें बच्चों को विभिन्न प्रकार के आर्ट एवं क्राफ्ट तथा डिजिटल लर्निंग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
यह समर कैंप नवाचारी शिक्षक अनकेश्वर महिपाल द्वारा आयोजित किया गया है। इससे बच्चों में सृजनशीलता का विकास हो रहा है ।
इस समर कैंप में बच्चे क्राफ्ट पेपर से कमल, गुलाब, बंदूक, तितली, पेड़, खरगोश, आदि बनाना सीख रहे हैं। पेंसिल के छिलके से कलाकृति बनाना, अंगूठे के प्रिंट से चित्र बनाना, कबाड़ से जुगाड़ द्वारा कार्डबोर्ड से डायनासोर, फाइटर प्लेन, हवाई जहाज, चिड़िया आदि बनाना सिखाया गया।

 

*मिट्टी से बनाई कलाकृति*

इस समर कैंप में बच्चों ने मिट्टी से विभिन्न प्रकार के फल, फूल, मिठाई, सब्जियां, डायनासोर, एलियन, आइसक्रीम, मोबाइल, लड्डू आदि बनाकर उसमें रंग भी भरे। स्थानीय पकवान जैसे ठेठरी, खुरमी, मुठिया भजिया,फरा इडली आदि भी बनाया।

*सीखा डिजिटल लर्निंग*

बच्चों ने लैपटॉप द्वारा युट्यूब से वीडियो देखना, स्कूल के फेसबुक पेज से अपनी गतिविधियां देखना सीखा। कंप्यूटर में डिजिटल पेंटिंग करना भी बच्चों को बताया गया। साथ ही इंटरनेट की जानकारी व गूगल पर सर्च करना भी सिखाया गया। बच्चों ने प्रोजेक्टर से शिक्षाप्रद वीडियो भी देखा।

*किया टी एल एम का निर्माण*

कबाड़ से जुगाड़ द्वारा शिक्षक अनकेश्वर महिपाल के द्वारा शिक्षण अधिगम सामग्री का निर्माण भी किया गया जिसका नए सत्र में कक्षा में शिक्षण हेतु प्रयोग किया जाएगा ।
बच्चों ने मेहंदी बनाना व शतरंज, लूडो, पासा, सापसीढ़ी आदि खेलों का भी लुत्फ उठा रहे है।
इस प्रकार यह समर कैंप बच्चों के लिए बहुत ही लाभदायक साबित हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *