Friday, December 14, 2018
Home > Slider > पढिये,जशपुर में “भाजपा राज”का सच !

पढिये,जशपुर में “भाजपा राज”का सच !

राकेश गुप्ता की मुनादी ।।

कई तरह के विवादित मामले को लेकर आये दिन सुर्खियों में रहने वाला जशपुर जिले का बगीचा जनपद इस बार एक महिला डाटा एंट्री ऑपरेटर को लेकर विवादों में आ गया है । कहा जा रहा है कि उक्त महिला डाटा एंट्री ऑपरेटर की नियुक्ति में भारी धांधली हुई है और इस धांधली में इस जनपद के अध्यक्ष,उपाध्यक्ष और मुख्यकार्यपालन अधिकारी (जनपद बग़ीचा) तीनो ने बराबर की भागीदार हैं । इसका खुलाशा तब हुआ जब वर्षो से इस जनपद में बतौर डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम कर रहे लोगो को पता चला कि वर्षों से काम करने के बाद भी अब तक उनका नियमितीकरण नही हुआ जबकि महज 5 महिनी पहले काम पर लगी उक्त डाटा एंट्री ऑपरेटर को जनपद में फर्जी तरीके से प्रस्ताव पारित करके उसे नियमित कर दिया ।

 

“हमारा हक़ छीना जा रहा है “

 

इधर जब इस जनपद के अन्य कई सदस्यों को इस बात की जानकारी हुई तो उन्होंने भी जनपद के अध्यक्ष उपाध्यक्ष और तात्कालीन सीईओ के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए यह साफ कर दिया है कि विवादित नियुक्ति में हुई धांधली सरासर गलत है और इसमें उनकी कोई भूमिका नही है । जनपद के सीनियर डाटा ऑपरेटर द्वारा इस धांधली के खिलाफ चलाये जा रहे हस्ताक्षर अभियान में कई जनपद सदस्यों ने हस्ताक्षर किए हैं जिससे यह साफ जाहिर होता है कि विवादित नियुक्ति के लिए बनाए गए प्रस्ताव की इन्हें कोई जानकारी नही दी गयी गयी थी ।इन जनपद सदस्यों का कहना  है कि हमे बिना सुचना के ही फर्जी प्रस्ताव बना कर डाटा एंट्रीआपरेटर शीला गुप्ता निवासी ग्राम बतौली जो की करीब एक वर्ष से कलेक्टर दर पर मूल जनपद में डाटा एंट्रीआपरेटर के पद पर कार्य कर रही थी जिसका बिना सुचना के ही स्थाईकरण सहायक ग्रेट-3 लिपिक के पद पर नियुक्ति कर दिया है जो की बिलकुल गलत है और भी कई सीनियर आपरेटर हैं जिन्हें दरकिनार करते हुए मनमानी तरीका से भर्ती कर दिया गया है और जनपद के सदस्यों से उनका हक़ छिना जा रहा है।

 

“हमें नही पता ,ऐसा हुआ है तो कार्यवाही होनी चाहिए “

 

इधर इस पूरे मामले में अध्यक्ष प्रदीप नारायण दीवान ,उपाध्यक्ष मुकेश शर्मा ओर तात्कालीन सीईओ एसमार्को पर लगे आरोपों पर मुनादी डॉट कॉम ने जब उनका पक्ष जानना चाहा तो तात्कालीन जनपद सीईओ से तो सम्पर्क नही हो पाया लेकिन उपाध्यक्ष मुकेश शर्मा से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि किसी भी डाटा एंट्री ऑपरेटर को नियमित नही किया गया है ।अगली बैठक में सभी डाटा एंट्री ऑपरेटर को हटाकर दुबारा नियुक्ति की जाएगी जबकि अध्यक्ष प्रदीप नारायण ने इस नियुक्ति पर अनभिज्ञता जारी करते हुए कहा है कि उन्हें मामले की जानकारी नही है और अगर ऐसा हुआ है तो इसकी जांच होनी चाहिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *