Wednesday, December 19, 2018
Home > Slider > किसका काया कल्प हुआ?अस्पताल तो जस का तस है, पूछी महिला आयोग अध्यक्ष तो अधिकारिओं के उड़ गए होश

किसका काया कल्प हुआ?अस्पताल तो जस का तस है, पूछी महिला आयोग अध्यक्ष तो अधिकारिओं के उड़ गए होश

जशपुर मुनादी

Harshita pandey During inspection of district hospital jashpur
Harshita pandey During inspection of district hospital jashpur
Harshita pandey During inspection of district hospital jashpur
Harshita pandey During inspection of district hospital jashpur

राज्य महिला आयोग जिला अस्पताल जशपुर की व्यवस्था से संतुष्ट नही है ।आयोग का मानना है कि इस अस्पताल की व्यवस्था में भारी सुधार की जरूरत है । राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय पूरी टीम के साथ शनिवार को सुबह करीब 10 बजे जिला अस्पताल पहुच गयीं। वहां पहुचने के बाद वह सबसे पहले प्रसूति कक्ष में पहुची जहाँ उन्होंने देखा कि इस वार्ड में भर्ती महिलाओं के बिस्तर से कम्म्बल गायब थे । इज़के बाद जब उनकी नजर इस वार्ड की महिला मरीजो के लिए किए गए पानी की व्यवस्था पर पड़ी तो देखा कि यहां के वाटर फिल्टर में ऊपर जाले लगे हैं और पानी निकल ही नही रहा ।इसके अलावा यहाँ भर्ती नवजात ओर प्रसूताओं को देखकर पाया कि बच्चों का वजन बहुत कम है जबकि प्रसूताओं का हदमोग्लोबिन 6 ग्राम या इसके आस पास है । इस पर चिंता जताते हुए आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि बच्ची में कम वजन का होना और प्रसूताओं का हीमोग्लोबिन 6 ग्राम के आस पास होना यह चिंता का विषय है ।
ये तो दान का कम्बल है ?
आयोग की अध्यक्ष जब प्रसूता वार्ड में पहुची तो उन्होंने देखा कि प्रसूताओं के बेड पर गैरसरकारी कम्बल रखे थे । इसे देखकर उन्होंने कहा कि यह तो दान वाला कम्बल है ,अस्पताल का कम्बल कहाँ गया? इसपर अस्पताल के लोग तत्काल मरीजो के बिस्तर से उनके द्वारा घर से लाये गए कम्बल को हटा दिया और उन्हें अस्पताल का कम्बल दिया गया।

सिक्का डालने से भी पानी नही निकला
इससे पहले आपको बताया कि प्रसूति वार्ड के अंदर वाटर फिल्टर में मकड़ी के जाले लगे थे और खूब कोशिश करने पर भी एक बूंद भी पानी नही निकला इसके बाद जब वह अस्पताल से आयी और वाटर एटीएम में सिक्का डालकर पानी निकालना चाहा तो यहां भी पानी नहीं निकला । उन्होंने कई सिक्के डाले लेकिन उनकी हर कोशिश नाकाम रही ।

गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले ही यहां के जिला अस्पताल को कायाकल्प योजना के तहत पूरे प्रदेश में प्रथम पुरस्कार मिला है । लेकिन महिला आयोग के औचक निरीक्षण में पायी गयी खामियां पुरस्कार पर सवाल उठा रही हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *