Wednesday, December 19, 2018
Home > Slider > प्रशासन का दावा : यह तस्वीर झूठी है ! सच क्या है ?पढिये पूरी खबर

प्रशासन का दावा : यह तस्वीर झूठी है ! सच क्या है ?पढिये पूरी खबर

जशपुर मुनादी।।

अभी दो दिन पहले ही जशपुर जिले के एक नशे में धुत्त प्रधानपाठक का सोशल मीडिया में जैसे ही वीडियो वायरल हुआ जिला प्रशासन ने शराबी प्रधानपाठक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया लेकिन ठीक दो दिन बाद जब रसोईया और भृत्य के नही होने के कारण स्कूली बच्चों द्वारा मध्याह्न भोजन बनाये जानी की तस्वीर वायरल हुई तो प्रशासन ने इस वीडियो को गलत बता दिया और कह दिया “हर तस्वीरें सच नही बोलतीं”

 

अब तक हम कहते और सुनते आए थे कि तस्वीरे झूठ नही बोलती ,कैमरे में कैद हर तस्वीर सच्ची होती है लेकिन ऐसा नही है तस्वीरे झूठ भी बोलती है और हर तस्वीर सच्ची नही होती । आपको यह बात सुनकर अटपटा जरूर लगेगा लेकिन जशपुर जिला प्रशासन का यही मानना है और यही मानकर एक निलम्बित किये शिक्षक का निलंबन आदेश वापस  ले लिया गया ।

आखिर तस्वीरों में था क्या ?

मामला जशपुर जिले के पंडरापाठ के मुडाकोना प्राथमिक शाला का है ।कल याने शुक्रवार को सुबह से ही सोशल मीडिया में  यहां की ऐसी तस्वीर दिन भर घूमती रही जिसे देखकर सरकार के दावे ओर स्कूली शिक्षा का सबसे बड़ा सच उजागर हो रहा था। इस वीडियो में इस शाला की बालिकाओं के द्वारा रसोइया ,गुरुजी,ओर भृत्य के नही आने के चलते खुद से ही मध्याह्न भोजन तैयार किये जा रहे थे । सोशल मीडिया में इस वीडियो के जारी होते ही जशपुर जिला प्रशासन के कान खड़े हो गए और आननं फानन में यहां के शिक्षक को निलंबित कर दिया गया । लेकिन इससे पहले की सोशल मीडिया में  शिक्षक के निलंबन की खबर आ पाती कहानी का पूरा सीन ही बदल गया । देर शाम को यह खबर आती है कि सोशल मीडिया में जारी फोटो और वीडियो कैमरे का क्रिएशन था ओर हकीकत कुछ और …..

तस्वीर पर प्रशासन का तर्क

सोशल मीडिया के वीडियो में स्कूली बालिकाओं से स्थानीय पत्रकार द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में यह बोल रही हैं कि उनके शिक्षक मतिराम पहाड़िया शराब पीने के आदि है और ओर इस चक्कर मे खाना उन्हें बनाना पड़ रहा है लेकिन जब प्रशासन की ओर से पहुची टीम ने मौके पर जाकर जायजा लिया तो ज्ञात हुआ कि शिक्षक मतिराम पहाड़िया सरकारी काम से बाहर गए थे जबकि भृत्य स्कूल से थोड़ा बाहर लकड़ी लाने गया था इसी बीच किचन में बैठी बालिकाएं कटे हुए आलू को कड़ाही में डालना शुरू कर दिया और इनकी तस्वीर स्थानीय पत्रकार के कैमरे में कैद हो गयी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *