Thursday, April 19, 2018
Home > Slider > गोरपार से कुनकुनी तक अब कौन करने जा रहा पदयात्रा, कौन बनने जा रहा प्रशासन के लिए नया सरदर्द

गोरपार से कुनकुनी तक अब कौन करने जा रहा पदयात्रा, कौन बनने जा रहा प्रशासन के लिए नया सरदर्द

राबर्टसन मुनादी।

रायगढ़ जिले के खरसिया विधानसभा  में व्याप्त विभिन्न जनहित के समस्याओं को लेकर 10 सूत्रीय मांग पत्र कलेक्टर रायगढ़ को प्रस्तुत किया गया था , उक्त मांग पत्र की कॉपी रायगढ़ पुलिस अधिक्षक, एसडीएम खरसिया,एसडीओपी खरसिया को भी दिया गया साथ ही उक्त मांग पत्र की छायाप्रति महामहिम राज्यपाल छग शासन, मुख्य मंत्री डॉ रमन सिंह,अजजा आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदकुमार साय, केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गड़करी, पूर्व मुख्यमन्त्री छत्तीसगढ़ अजीत जोगी,रायगढ़ सांसद एवं केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री विष्णुदेव साय, खरसिया विधायक उमेश पटेल सहित विधि विधायी विभाग छत्तीसगढ़ शासन को भी प्रेषित किया गया है ।

 

उक्त ज्ञापन छत्तीसगढ़ मूलनिवासी संघर्ष समिति एवं सर्व आदिवासी समाज के नेतृत्व में सौंपा गया है । जिसमें मांगे पूरी नही होने पर 10 अप्रैल से क्रमिक भूख हड़ताल करने की चेतावनी दी गई है । जिसमें संघर्ष समिति के द्वारा 8 अप्रैल से खरसिया ब्लाक के ग्राम पंचायत गोरपार से लेकर ग्राम पंचायत कुनकुनी तक पदयात्रा का कार्यक्रम रखा गया है । संघर्ष समिति के द्वारा अपील पत्र के माध्यम से खरसिया विधानसभा के सभी जनता को इस पदयात्रा व भूख हड़ताल में शामिल होने का निवेदन भी किया गया है । इसमें 8 अप्रैल रविवार को सुबह 9 बजे से आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र ग्राम गोरपार से पदयात्रा का प्रारंभ कर ग्राम खम्हार, जोबी , बर्रा, फरकानारा पहुंचेगी । जहां भोजन कर पंडरमुडा, डोमनारा, देहजरी , भालूनारा होते हुए ग्राम चोंढ़ा में रात्रि विश्राम किया जाएगा । पुनः 9 अप्रैल सोमवार को सुबह से ग्राम बांसमुडा, मदनपुर, खरसिया, मौहापाली, पंचमुखी हनुमान मंदिर होते हुए रानीसागर, कुनकुनी पहुंच कर रात्रि विश्राम किया जाएगा । 10 अप्रैल मंगलवार को सुबह 11 बजे से धरना प्रारंभ कर भूख हड़ताल किया जाएगा ।उक्त जनआंदोलन में दिग्गज आदिवासी नेताओं एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं के शामिल होने की संभावना है ।

 

 

छत्तीसगढ़ मूल निवासी संघर्ष समिति एवं आदिवासी समाज छ ग ने बताया कि स्थानीय निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को भी अनेको बार विभिन्न समस्याओं के निराकरण हेतु निवेदन करने पर भी  मात्र कोरा आश्वासन ही मिला है । इसलिए छत्तीसगढ़ मूलनिवासी संघर्ष समिति एवं सर्व आदिवासी समाज के कार्यकर्ताओं के द्वारा हजारो क्षेत्र वासियों से सलाह मशविरा के बाद क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण हेतु स्वयं आंदोलन करने का निर्णय लिया है ।

 

 

 

 

 

 

*प्रमुख मांगे इस प्रकार है*

*1 आदिमजाति विकासखंड खरसिया के अंतर्गत ग्राम कुनकुनी के बहुचर्चित 300 एकड़ आदिवासी जमीन घोटाला मे प्रधानमंत्री कार्यालय से कार्यवाही हेतु आदेश एवं  जिला प्रसाशन द्वारा राज्य सरकार को कार्यवाही हेतु प्रतिवेदन प्रस्तुत होने एवं तात्कालिक एसडीएम द्वारा स्थगन आदेश के वर्षों बाद भी आजतक न तो आदिवासी किसानों को 170 ख अथवा बेनामी अंतरण अंतर्गत उनकी भूमि वापस की गई है बल्कि उल्टे उद्योगों द्वारा धड़ल्ले से कार्य जारी है जिस पर कार्यवाही किया जावे।*

*2 खरसिया से धर्मजयगढ़ तक प्रस्तावित विशेष रेलकारीडोर परियोजना में भुर्जन,मुआवजा,बोनस  वितरण में किये गए गड़बड़ी एवं नवीन भुर्जन अधिनियम 2013 का पालन नही किया गया है । जिससे वास्तविक भूमिस्वामियो को मुआवजा एवं बोनस के लिए दर दर की ठोकर खाना पड़  रहा है जिससे किसानों के सामने आत्महत्या जैसी स्थिति उतपन्न हो गया है जिसकी सीबीआई जांच जांच किया जाए दोषी अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए पीड़ित किसानों को मुआवजा एवं बोनस का भुगतान करते हुए आदर्श पुनर्वास नियम शीघ्र लागू किया जाए।*

*3 पलगड़ा खरसिया से ओड़िसा बार्डर तक निर्माणाधिन नेशनल हाइवे में स्वीकृत प्राक्कलन के विपरीत पेटी कंट्रेक्टरों द्वारा कार्य किया जा रहा है जिससे केंद्र सरकार को करोड़ो का चूना लगाया जा रहा है। उक्त नेशनल हाइवे में भुर्जन के दौरान भी व्यापक गड़बड़ी किया गया है। नेशनल हाइवे क्रमांक 49 में डीबी पॉवर से सांठगांठ करते हुए ग्राम कुनकुनी के ढोलपहरी पीएफ क्रमांक 1189 को काटकर सुरंगनुमा सड़क का निर्माण किया जा रहा है जहाँ एप्रोच रोड भी नही बनाया गया है जिससे आये दिन दुर्घटना घटित हो रही है। जिससे सरकार को करोड़ो की आर्थिक क्षति हो रहा है मामले की सीबीआई जांच कराया जावे एवं दोषी अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्यवाही किया जावे।*

*4 डीबी पॉवर कम्पनी द्वारा रजघट्टा, कुनकुनी, से बाड़ादरहा डभरा तक हजारों पेड़ो की बलि दी गई है पर्यावरणीय जन सुनवाई भी नही कराया गया है जिसकी जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही किया जावे।*

*5 खरसिया विधानसभा क्षेत्र में हजारों एकड़ आबंटन एवं कोटवारी भूमि का खरीदी बिक्री माफियाओ द्वारा किया गया है जिसको शून्य घोषित कर उक्त भूमि को शासकीय घांस भूमि मद में शामिल किया जावे।*

*6 खरसिया विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आदिमजाति सेवा सहकारी समितियों में प्रबन्धको एवं राजस्व अधिकारियों के मिलीभगत से हजारों एकड़ कृषि भूमि का रकबा बोगस तरीके से बढ़ाकर उक्त भूमि के कोचियों एवं राइसमिलरो का धान ख़िरीदी बिक्री कर करोड़ो की राशि प्राप्त करने के साथ  करोड़ो रु की राशि बोनस के रूप में आहरण कर राज्य सरकार को राजस्व क्षति पहुंचाते हुए धोखाधड़ी किया गया है जिसके दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही  करते हुए आपराधिक मामला दर्ज किया जाए एवं आहरित राशि को वसूल किया जावे।*

*7 खरसिया विधानसभा अंतर्गत खरसिया रेलवे कोल साइडिंग,एसईसीएल कोल साइडिंग राबर्टसन,वेदांता कोल साइडिंग कुनकुनी,राजन कोलवाशरी छोटे डूमरपाली,स्काई एलयांज टेमटेमा ,रूखमणी पॉवर रानीसागर,केएल एनर्जी देहजरी,एसकेएस दर्रामुड़ा,विमला साइडिंग भूपदेवपुर सहित अन्य कोल साइडिंग एवं कोल डिपो के द्वारा अवैधानिक रूप से जल दोहन,पर्यावरण प्रदूषण,ओवरलोड परिवहन किया जा रहा है जिससे आम नागरिक परेशान है आये दिन होने वाले दुर्घटना एवं उक्त उद्योगो द्वारा स्थानीय बेरोजगारों के साथ छलावा से स्थायी रोजगार नही देने से युवाओं में आक्रोश है इनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही किया जावे।*

*8 खरसिया विधानसभा अंतर्गत संचालित विभिन्न क्रेशरों एवं गिट्टी खदानों द्वारा आदिवासियों की भूमि पर अवैध खनन एवं विस्फोटकों का भारी मात्रा में उपयोग किया जा रहा है। साथ ही पर्यवरण प्रदूषित करते हुए जानलेवा गड्डा खदान को छोड़ दिया गया है। जिनके विरुद्ध ठोस कार्यवाही किया जावे*

*9 माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विपरीत खरसिया में विभिन्न स्थानों ओर तम्बाखु मिश्रित पदार्थ गुड़ाखु का निर्माण एवम विक्रय किया जा रहा है जिससे लोगों में कैंसर की बीमारी हो रही है साथ ही उक्त फैक्ट्रियों के गंदे पानी से मृदा एवं जल प्रदूषण हो रहा है। जिसपर तत्काल रोक लगाते हुए कठोर कानूनी कार्यवाही करें।*

  1. *10 खरसिया शहर दैनिक सब्जी मार्केट के पास रेलवे फाटक में ओवर ब्रिज या अंडर ब्रिज बनाया जावे। जिससे प्रति दिन पार होने वाले हजारों लोगों को परेशानी का सामना करना न पड़े साथ ही दुर्घटना पर रोक लगे।*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *