Monday, June 25, 2018
Home > Slider > “अपने बच्चों को दूसरी जगह ले जाओ नही तो फेल कर देंगे ” निजी इंग्लिश स्कूल का इंग्लिस्तानी फरमान !

“अपने बच्चों को दूसरी जगह ले जाओ नही तो फेल कर देंगे ” निजी इंग्लिश स्कूल का इंग्लिस्तानी फरमान !

 

 

जशपुर मुनादी ।।

 

 

एक तरफ जहां सरकार पूरे देश मे शिक्षा का अधिकार कानून लागू कर छोटे बड़े ,अमीर -गरीब सभी तक शिक्षा का अलख जगा रही है वही कुछ निजी स्कूल इस अधिनियम को ताख पर रखकर इंग्लिस्तानी नीति पर चल रहे हैं ।ताजा मामला लोयला इंग्लिश मीडियम स्कूल का है जहां कुछ दिनों से यहां के प्रबंधक और पालको के बीच जमकर ठन गयी है ।लोयला स्कूल प्रबंधन ने कुनकुरी के 9 छात्र जो 11वीं में अध्यनरत है उन्हें अब स्कूल से बाहर का रास्ता दिखाने पर आमादा है । पालको ने मुनादी डॉट कॉम को बताया कि नर्सरी से लेकर अब तक उनके बच्चे यहां पढ़ाई करते आ रहे हैं और जब उनकी पढ़ाई का केवल एक साल बचा है तो उनके बच्चों को स्कूल से ही बाहर किये जाने फरमान जारी कर दिया गया है। पालक राजकुमार सिंह और मुल्तान पवार ने बताया कि दो दिन पहले स्कूल में पालको की एक बैठक बुलायी गयी थी बैठक में उनके बेटे सहित 9 अन्य छात्रों के ऊपर अनुशासंभंग करने के आरोप लगाए गए और कहा गया कि आपलोग अपने बच्चों को किसी दूसरे स्कूल में दाखिला करा दें नही तो आपके बच्चों को फेल कर दिया जाएगा । स्कूल के प्रिंसिपल ने इन पालको को साफ साफ यह भी कह दिया कि अगर दूसरे स्कूल में दाखिला कराने आप पालको की सहमति बनती है तो उन्हें पास होने का सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा।
लोयला स्कूल के इस फरमान से पालको में काफी रोष है और इस मुद्दे पर आज फिर स्कूल प्रबंधन के साथ इनकी बैठक हो रही है । पालको का कहना है कि अगर उनके बच्चे स्कूल का अनुशासन भंग करते हैं तो इतने सालों में स्कूल ने उन्हें कम्प्लेन क्यों नही किया ?
हम आपको बता दें कि लोयला स्कूल इस तरह के अनोखे फरमान जारी करके काफी लंबे समय से अखबारों की सुर्खियां बनते आया है लेकिन सुर्खियों में आने के बावजूद भी इनके उल जुलूल कारनामो पर कार्यवाही करने में प्रशासन के हाथ बन्ध जाते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *